Home   »   Bali G20 Summit 2022 Highlights in...

Bali G20 Summit 2022 Highlights in Hindi : बाली G20 शिखर सम्मेलन 2022 से जुड़ी प्रमुख बातें

Recent in News:

2022 G20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी इंडोनेशिया ने बाली में की गई । G20 शिखर सम्मेलन की यह 17वीं बैठक है। G20 शिखर सम्मेलन 2022 का विषय ‘Recover Together, Recover Stronger’ (रिकवर टुगेदर रिकवर स्ट्रांगर) है .

What is G20 (G20 क्या है) ?

G20 दुनिया की प्रमुख विकसित और उभरती अर्थव्यवस्थाओं को जोड़ने वाला एक रणनीतिक बहुपक्षीय मंच है। G20 भविष्य के वैश्विक आर्थिक विकास और समृद्धि को सुरक्षित करने में एक रणनीतिक भूमिका रखता है। साथ में, G20 सदस्य विश्व सकल घरेलू उत्पाद के 80 प्रतिशत से अधिक, अंतरराष्ट्रीय व्यापार के 75 प्रतिशत और विश्व जनसंख्या के 60 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व करते हैं।

1999 में वित्त मंत्री और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों के लिए एक बैठक के रूप में शुरू हुआ, G20 एक वार्षिक शिखर सम्मेलन में विकसित हुआ जिसमें राज्य और सरकार के प्रमुख शामिल थे।

What are the member countries of G20 (G20 के सदस्य देश कौन से हैं?) ?

G20 के सदस्य: अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया गणराज्य, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका, और यूरोपीय संघ हैं।

What is the Focus of 2022 Summit (2022 शिखर सम्मेलन का फोकस क्या है?)?

इंडोनेशिया का फोकस अपने G20 2022 अध्यक्षता के लिए तीन मुख्य स्तंभों: ग्लोबल हेल्थ आर्किटेक्चर, सस्टेनेबल एनर्जी ट्रांजिशन और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन पर है।

भारत 2023 में इंडोनेशिया से अध्यक्ष पद ग्रहण करेगा। भारत की G-20 अध्यक्षता का विषय- “वन एर्थ वन फैमिली, वन फ्यूचर (One Earth, One Family, One Future) ” है।

Important Points from 2022 G20 Summit (2022 G20 शिखर सम्मेलन से महत्वपूर्ण बिंदु:) :

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने अन्य G20 नेताओं के साथ बाली में G20 शिखर सम्मेलन के मौके पर ‘तमन हटन राया नगुराह राय’ मैंग्रोव वनों का दौरा किया और मैंग्रोव लगाए।

मैंग्रोव वैश्विक संरक्षण प्रयासों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। भारत इंडोनेशियाई G-20 प्रेसीडेंसी के तहत इंडोनेशिया और UAE की संयुक्त पहल, मैंग्रोव एलायंस फॉर क्लाइमेट (MAC) में शामिल हो गया है।

भारत में 5000 वर्ग किमी में फैली मैंग्रोव की 50 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं। भारत मैंग्रोव के संरक्षण और बहाली पर जोर दे रहा है, जो जैव विविधता के समृद्ध स्थल हैं और प्रभावी कार्बन सिंक के रूप में काम करते हैं।

Bali G20 Summit 2022 Highlights in Hindi : बाली G20 शिखर सम्मेलन 2022 से जुड़ी प्रमुख बातें |_50.1

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *