Home   »   IBPS PO Cut Off Trend for...

IBPS PO Cut Off Trend for Last 6 Years (2016-2021): IBPS PO प्रीलिम्स के पिछले 6 सालों का कट-ऑफ ट्रेंड, जानें कैसे Decide होती है कट-ऑफ

 

IBPS PO Prelims Cut Off Trend for Last 6 Years: आईबीपीएस पीओ प्रीलिम्स परीक्षा 15, 16 और 22 अक्टूबर 2022 को आयोजित करेगा. वे उम्मीदवार आईबीपीएस PO सिलेक्शन के लिए IBPS PO परीक्षा में शामिल होने वाले है, उन्हें पिछले 6 वर्षों यानी 2016, 2017, 2018, 2019, 2020 और 2021 के कट-ऑफ ट्रेंड के बारे में जानकारी होनी चाहिए, इससे आगामी उन्हें IBPS PO प्रीलिम्स परीक्षा के कठिनाई स्तर को समझने में मदद मिलेगी. IBPS PO कट-ऑफ ट्रेंड उम्मीदवारों को आईबीपीएस द्वारा विभिन्न राज्यों के लिए जारी की जाने वाली कट-ऑफ का आईडिया देगा, जिससे छात्रों को प्रतिस्पर्धा के स्तर के बारे में पता चलेगा और इसके अनुसार अपनी प्रिपरेशन स्ट्रेटेजी बना सकते है.

IBPS PO Prelims Cut Off Trend for Last 6 Years

जैसा कि हमने ऊपर बताया आईबीपीएस पीओ भर्ती 2022 (IBPS PO Recruitment 2022) आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान 6432 परिवीक्षाधीन अधिकारियों (PO) की भर्ती करेगा. कट-ऑफ ट्रेंड चेक करना उन सभी उम्मीदवारों के लिए भी फायदेमंद है, जो इस वर्ष आईबीपीएस पीओ 2022 को टारगेट कर रहे है और बैंक PO की कुल 6432 वेकेंसी के लिए आवेदन किया है. सभी उम्मीदवार इस लेख में IBPS PO परीक्षा के प्रतिस्पर्धा और कठिनाई स्तर के बारे में अच्छी तरह जानने के लिए पिछले 6 वर्षों के आईबीपीएस पीओ के कट-ऑफ ट्रेंड को देख सकते हैं, इसलिए पढ़ते रहें.

IBPS PO Prelims Cut Off Trend for Last 6 Years (2016-2021)

उम्मीदवारों को IBPS PO प्रीलिम्स परीक्षा को पास करने के लिए सैक्शनल कट ऑफ के साथ-साथ ओवरऑल कट ऑफ को भी क्लियर करना होगा, इसलिए उम्मीदवारों को दोनों कट-ऑफ को क्लियर करने के लिए पूरी तरह से तैयार रहना चाहिए.

Factors That Decide the IBPS PO Prelims Cut Off

IBPS PO प्रीलिम्स कट ऑफ निर्धारित करने के कई फैक्टर हैं, उम्मीदवारों को इस बात को ध्यान में रखना चाहिए कि परीक्षा से पहले कट ऑफ तय नहीं की जाती है, नीचे IBPS PO प्रीलिम्स कट ऑफ निर्धारित करने के कुछ महत्वपूर्ण फैक्टर दिए गए है, जिसे उम्मीदवारों को देख लेना चाहिए.

  • Number of Vacancies:   कटऑफ IBPS द्वारा IBPS PO भर्ती के लिए जारी की गई रिक्तियों की संख्या को प्रभावित करती है।  रिक्तियों में वृद्धि या कमी कट-ऑफ में उतार-चढ़ाव पर प्रभाव डाल सकती है।
  • Level Of Difficulty: दूसरा फैक्टर परीक्षाओं का कठिनाई स्तर देखकर तय होती है।  जब परीक्षा आसान लगने लगे, तो कट-ऑफ बढ़ जाती है, और साथ ही परीक्षा जितनी कठिन होगी तो भर्ती बोर्ड द्वारा  कट-ऑफ उतनी ही कम जारी की जाएगी।
  • A number of candidates परीक्षा में उपस्थित अभ्यर्थियों की संख्या के आधार पर.

IBPS PO Prelims Cut Off Trend for Last 6 Years

उम्मीदवार नीचे दी गई टेबल में IBPS द्वारा वर्ष 2016, 2017, 2018, 2019, 2020 & 2021 के लिए जारी कट-ऑफ को  चेक कर सकते है. IBPS PO प्रीलिम्स परीक्षा में 100 अंकों का एग्जाम होता है, इसलिए दी गई कट-ऑफ 100 में से  है.

Category 2021 2020 2019 2018 2017 2016
General 50.5 58.75 59.75 56.75 42.75 47.5
OBC 50.5 58.5 59.75 55.5 42.25 46.5
SC 44.5 51 53.5 49.25 36 40
ST 38 43.5 46.25 41.75 28.5 31.25

Related Post

IBPS PO Notification 2022
IBPS PO Syllabus 2022 IBPS PO Previous Year Papers
 IBPS PO Vacancy 2022  IBPS PO Cut Off 2022
IBPS PO Salary 2022 IBPS PO Eligibility Criteria 2022
  1. Do IBPS releases sectional cut off for IBPS PO?

Ans. Yes, there is a sectional-cut off released for IBPS PO.

  1. Do I need to secure IBPS PO cut off in each stage?

Ans. Yes, you need to secure IBPS PO cutoff marks to qualify for each stage of the exam.

  1. What is the cut off for IBPS PO prelims 2019?

Ans. IBPS PO 2019 Prelims Cut-Off- General-59.75, SC-53.50, ST-46.25 &, EWS-59.75.

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *