Home   »   Govt & LIC To Divest 60.72%...

Govt & LIC To Divest 60.72% Stake In IDBI Bank: सरकार और LIC मिलकर बेचेंगे आईडीबीआई बैंक की 60.72% हिस्सेदारी

Government and LIC Together To Divest 60.72% Stake in IDBI Bank:सरकार ने IDBI बैंक के निजीकरण के लिए बोलियों का अनुरोध किया और कहा कि, LIC के साथ, सरकार भारतीय औद्योगिक विकास बैंक में कुल 60.72% हिस्सेदारी बेचेगी. निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (Department of Investment and Public Asset Management) ने कहा कि आईडीबीआई बैंक के लिए बोली लगाने के योग्य होने के लिए निवेशक के पास कम से कम 22,500 करोड़ रुपये की नेट वर्थ वैल्यू होनी चाहिए, और पिछले पांच वर्षों में से तीन में शुद्ध लाभ की रिपोर्ट कर दिखानी होगी.

 

Key Points of News

  • एक कंसोर्टियम में निवेशकों के पास अधिकतम चार सदस्य होने चाहिए.
  • 31 मार्च 2022 तक IDBI बैंक में LIC की 49.24% जबकि भारत सरकार की 45.48% हिस्सेदारी है.
  • बिक्री के लिए वित्तीय बोलियां मार्च तक आमंत्रित की जाएंगी और इस प्रक्रिया के सितंबर 2023 तक समाप्त होने की उम्मीद है
  • राज्य के स्वामित्व वाली एलआईसी ऑफ इंडिया भी राज्य की विनिवेश प्रक्रिया के हिस्से के रूप में आईडीबीआई बैंक में अपनी हिस्सेदारी कम करेगी.
  • यह कथित तौर पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक का पहला निजीकरण होगा.
  • आईडीबीआई बैंक सभी वर्गों के ग्राहकों की सेवा करने वाले एक पूर्ण-सेवा सार्वभौमिक बैंक के रूप में कार्य करता है।
  • सफल बोलीदाता को खरीद की तारीख से पांच साल की अवधि के लिए कम से कम 40% इक्विटी पूंजी को लॉक करने के लिए बाध्य किया जाएगा।
  • निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) के अनुसार आईडीबीआई बैंक के लिए बोली लगाने के योग्य होने के लिए निवेशक के पास कम से कम 22,500 करोड़ रुपये की नेट वर्थ वैल्यू होनी चाहिए, और पिछले पांच वर्षों में से तीन में शुद्ध लाभ की रिपोर्ट कर दिखानी होगी.

Govt & LIC To Divest 60.72% Stake In IDBI Bank: सरकार और LIC मिलकर बेचेंगे आईडीबीआई बैंक की 60.72% हिस्सेदारी |_50.1

All About IDBI Bank

आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) एक भारतीय सरकार के स्वामित्व वाली वित्तीय सेवा कंपनी है, जिसका मुख्यालय मुंबई में है. IDBI का मतलब Industrial Development Bank of India (भारतीय औद्योगिक विकास बैंक) है और इसकी स्थापना 1964 में भारतीय उद्योग के विकास के लिए ऋण और अन्य वित्तीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए की गई थी. वर्तमान में, यह भारत के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंकों में से एक है जो व्यक्तिगत बैंकिंग और वित्तीय समाधान प्रदान करता है.

Govt & LIC To Divest 60.72% Stake In IDBI Bank: सरकार और LIC मिलकर बेचेंगे आईडीबीआई बैंक की 60.72% हिस्सेदारी |_60.1

Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *