SBI और IBPS इंटरव्यू 2021: करेंट अफेयर्स स्पेशल सीरीज़ - विदेश व्यापार में वृद्धि (Robust Growth In The Foreign Trade Sector)

SBI और IBPS इंटरव्यू 2021: करेंट अफेयर्स स्पेशल सीरीज़ - विदेश व्यापार में वृद्धि (Robust Growth In The Foreign Trade Sector)


Robust Growth In The Foreign Trade Sector : Current Affairs Special Series

हम सभी जानते है कि IBPS PO और SBI PO मेंस सहित कई अन्य बैंकिंग परीक्षाओं के रिजल्ट जारी हो चुके हैं Adda247 ने SBI और IBPS इंटरव्यू 2021 देने वाले सभी उम्मीदवारों के एक नई कर्रेंट अफेयर्स स्पेशल सीरीज़ की शुरुआत की है, इस सीरीज़ में, रोज़ाना (daily basis) पर Candidates को SBI और IBPS इंटरव्यू 2021 के लिए महत्वपूर्ण कर्रेंट अफेयर्स के टॉपिक्स में किसी एक टॉपिक के बारे में Detailed information दी जाएगी, जिससे न केवल उनकी जनरल अवेयरनेस में सुधार होगा, बल्कि उम्मीदवारों इंटरव्यू में कर्रेंट अफेयर्स विषय से पूछे जाने वाले सवाल का जवाब Confident के साथ दे सकेगे.

 

इसी कड़ी में आज का हमारा कर्रेंट अफेयर्स टॉपिक है- विदेश व्यापार में वृद्धि (Robust Growth In The Foreign Trade Sector). यदि आप किसी Goverment Bank Job में जाना चाहते है तो ये बहुत ही जरुरी हो जाता है कि आपको - विदेशो से होने वाले कारोबार जैसे करेंट अफेयर्स की अच्छी Knowledge हो. 



विदेश व्यापार में वृद्धि (Robust Growth In The Foreign Trade Sector)



 किसी भी अर्थव्यवस्था में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर व्यापार होता है, जो आयात तथा निर्यात पर निर्भर करता है।भारत का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निर्यात मे लगातार बढ़ोत्तरी देखी गयी है जो एक द्रुतगामी वृद्धि की ओर इंगित करता है।


  1. भारत का निर्यात फरवरी मे 27.67 बिलियन अमेरिकी डॉलर पर पहुँच गया जो पिछले वर्ष के निर्यात से मात्र 0.25% कम है। 
  2. वाणिज्य मंत्रालय के अनुसार इस बार चावल, खाद्य तेल, लौह अयस्क आदि सामानों की निर्यात में वृद्धि हुई जबकि इसी समय पेपर, उर्वरक, चांदी आदि की आयात मे कमी देखी गयी है। 
  3. भारत का कुल आयात फरवरी 2020 में 37.90 बिलियन अमरीकी डॉलर था जबकि फरवरी 2021 में यह 40.55 बिलियन अमरीकी डॉलर रहा। फरवरी 2021 के लिए व्यापारिक घाटा 12.88 बिलियन अमेरिकी डॉलर रहा। 
  4. जब निर्यात ज्यादा तथा आयात कम होता है तो धनात्मक व्यापार होता है एवं आयात ज्यादा निर्यात कम की स्थिति में नकारात्मक अर्थात घाटा कहलाता है। इस प्रकार निर्यात को बढ़ा कर देश में व्यापार में और वृद्धि की जा सकती है। 
  5. निर्यात बढ़ाने से देश के अन्दर उत्पादन में बढ़ोत्तरी होगी जिससे रोजगार भी बढ़ेगा तथा GDP मे वृद्धि होगी। नयी विदेश व्यापार नीति भी लागू किया जायेगा। 


इससे  पहले कवर किये गये टॉपिक्स : 




 अगर आप मेन्स परीक्षा क्लियर कर चुके हैं और अब IBPS या SBI का इंटरव्यू देने वाले उम्मीदवार है, तो adda247 के इस नई पहल Current Affair Special Series के साथ जुड़े रहें और खुद को अपडेट रखें.