Friday, 11 August 2017

IBPS RRB 2017 के लिए हिंदी की प्रश्नोतरी

प्रिय पाठकों !!

IBPS RRB की अधिसूचना जारी की जा चुकी है. ऐसे में आपकी सफलता सुनिश्चित करने के लिए हम आपके लिए हिंदी की प्रश्नोतरी लाये है. आपनी तैयारी को तेज करते हुए अपनी सफलता सुनिश्चित कीजिये... 


वैज्ञानिक प्रयोग की सफलता ने मनुष्य की बुद्धि का अपूर्व विकास कर दिया है। द्वितीय महायुद्ध में एटम बम की शक्ति ने कुछ क्षणों में ही जापान की अजेय शक्ति को पराजित कर दिया था। इस शक्ति की युद्धकालीन सफलता ने अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस आदि सभी देशों  को ऐसे शस्त्रास्त्रों के निर्माण की प्रेरणा दी जिससे सभी भंयकर और सर्वविनाशकारी शस्त्र बनाने लगे। अब सेना को पराजित करने तथा शत्रु-देश पर पैदल सेना द्वारा आक्रमण करने के लिए शस्त्र-निर्माण के स्थान पर, देश का विनाश करने की दिशा में शस्त्रास्त्र बनने लगे हैं।

इन हथियारों का प्रयोग होने पर शत्रु-देशों की अधिकांश जनता और संपत्ति थोड़े समय में ही नष्ट की जा सकेगी। चुँकि ऐसे शस्त्रास्त्र प्रायः सभी स्वतन्त्र देशों के संग्रहालयो में कुछ न कुछ आ गये है, अतः युद्ध की स्थिति में उनका प्रयोग भी अनिवार्य हो जायेगा। अतः दुनिया का सर्वनाश या अधिकांश नाश तो अवश्य ही हो जायेगा। इसीलिए निःशस्त्रीकरण की योजनाएँ बन रही हैं। शस्त्रास्त्रों के निर्माण में जो दिशा अपनाई गई, उसी के अनुसार आज इतने उन्नत शस्त्रास्त्र बन गए है, जिनके प्रयोग से व्यापक विनाश आसन्न दिखाई पड़ता हैं । अब भी परीक्षणों को रोकथाम तथा बने शस्त्रों के प्रयोग के रोकने के मार्ग खोजे जा रहे हैं। इन प्रयासो के मूल में एक भंयकर आंतक और विश्व-विनाश का भय कार्य कर रहा है।

Q1. इस गद्यांश का मूल कथ्य क्या है?
(a) आतंक और सर्वनाश का भय
(b) विश्व में शस्त्रास्त्रों की होड़
(c) द्वितीय विश्वयुद्ध की विभीषिका
(d) निःशस्त्रीकरण और विश्व शान्ति
(e) इनमें से कोई नहीं

Q2. भंयकर विनाशकारी आधुनिक शस्त्रास्त्रों के बनाने की प्रेरणा किसने दी?
(a) अमेरिका ने
(b) अमेरिका की विजय ने
(c) जापान के विनाश ने
(d) बड़े देशों की पारस्परिक प्रतिस्पर्धा ने
(e) इनमें से कोई नहीं

Q3. एटम बम की अपार शक्ति का प्रथम अनुभव कैसे हुआ?
(a) जापान में हुई भयंकर विनाशलीला से
(b) जापान की अजेय शक्ति की पराजय से
(c) अमेरिका, रूस, ब्रिटेन और फ्रांस की प्रतिस्प्रधा से
(d) अमेरिका की विजय से
(e) इनमें से कोई नहीं

Q4. बड़े-बड़े देश आधुनिक विनाशकारी शस्त्रास्त्र क्यों बना रहे हैं?
(a) अपनी-अपनी सेनाओं में कमी करने के उदेश्य से
(b) अपने संसाधनों का प्रयोग करने के उदेश्य से
(b) अपना-अपना सामरिक व्यापार बढ़ाने के उदेश्य से
(c) पारस्परिक भय के कारण
(e) इनमें से कोई नहीं

Q5. आधुनिक युद्ध भयंकर व विनाशकारी होते हैं क्योंकि-
(a) दोनों देशों के शस्त्रास्त्र इन युद्धों में समाप्त हो जाते हैं।
(b) अधिकांश जनता और उसकी सम्पति नष्ट हो जाती है।
(c) दोनो देशों में महामारी और भुखमरी फैल जाती है।
(d) दोनो देशों की सेनाएं इन युद्धों में मारी जाती है।
(e) इनमें से कोई नहीं

Q6. इस गद्यांश का सर्वधिक उपयुक्त शीर्षक है-
(a) निःशस्त्रीकरण
(b) आधुनिक शस्त्रास्त्रों का विनाशकारी प्रभाव
(c) एटम बम की शक्ति
(d) आतंक और विश्व-विनाश का भय
(e) इनमें से कोई नहीं

Q7. ‘व्यापक विनाश आसन्न दिखाई पड़ता है।’ इस वाक्य में ‘आसन्न’ का अर्थ क्या है?
(a) अवश्य घटित होने वाला
(b) कुछ समय बाद घटित होने वाला
(c) किसी क्षेत्र विशेष में घटित होने वाला
(d) कभी घटित नहीं होने वाला
(e) इनमें से कोई नहीं

Q8. ‘निःशस्त्रीकरण’ से क्या तात्पर्य है?
(a) आधुनिक शस्त्रास्त्रों का मुक्त व्यापार
(b) आधुनिक शस्त्रास्त्रों के परीक्षण, प्रयोग एव भंडारण पर प्रतिबंध
(c) एटम की शक्ति का रचनात्मक कार्यो में प्रयोग
(d) एटम बम का जनता पर प्रयोग न करने का संकल्प
(e) इनमें से कोई नहीं

Q9. निःशस्त्रीकरण की योजनाएँ क्यों बनाई जा रही हैं ?
(a) क्योकि आतंक और विश्व के सर्वनाश का भय बढ़ता जा रहा है।
(b) क्यांकि बड़े देशों के संसाधन समाप्त होते जा रहे हैं।
(c) क्योंकि तृतीय विश्व युद्ध की अभी कोई सम्भावना नहीं हैं।
(d) क्याकि ये योजनाएँ संयुक्त राष्ट्र संघ ने बनाई हैं।
(e) इनमें से कोई नहीं

Q10. विश्व को सर्वनाश से बचाने के लिए कौन सी योजना सर्वधिक प्रभावी हो सकती है?
(a) एटम शक्ति का नियोजन
(b) निः शस्त्रीकरण की योजना
(c) प्रत्येक देश को आधुनिक शस्त्रास्त्रों से सुसज्जित करने की योजना
(d) रूस-अमेरिका की मित्रता की योजना
(e) इनमें से कोई नहीं




CRACK IBPS PO 2017



11000+ (RRB, Clerk, PO) Candidates were selected in IBPS PO 2016 from Career Power Classroom Programs.


9 out of every 10 candidates selected in IBPS PO last year opted for Adda247 Online Test Series.

1 comment: