उत्तर प्रदेश बिहार, हरियाणा, मध्यप्रदेश, राजस्थान आदि हिंदी भाषी राज्यों के उम्मीदवार कैसे करें बैंक परीक्षा क्रैक

उत्तर प्रदेश बिहार, हरियाणा, मध्यप्रदेश, राजस्थान आदि हिंदी भाषी राज्यों के उम्मीदवार कैसे करें बैंक परीक्षा क्रैक



इन दिनों स्टूडेंट्स की पहली पसंद बैंकिंग सेक्टर में जॉब करना है. बैंकिंग सेक्टर उम्मीदवारों को अच्छा पे स्केल देता  है साथ ही जॉब सिक्योरिटी भी देता हैं. इस समय सबसे अधिक जॉब वकेंसी भी बैंकिंग सेक्टर सरकारी और प्राइवेट में निकलती है. ऐसे में हिंदी भाषी क्षेत्र (उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, हरियाणा, मध्य प्रदेश) या Hindi Language Spoken States in India के वो छात्र जो अंग्रेजी में कमजोर है वह भी बैंकिंग सेक्टर में जॉब करने के सपने देखते है. पर कभी-कभी अंग्रेजी में कमजोर होने की वजह से आधे में ही तैयारी छोड़ देते हैं. ऐसे उम्मीदवारों की मदद के लिए  हम यह लेख लिख रहे हैं. अगर आप अंग्रेजी में कमजोर है और बैंकिंग सेक्टर में जॉब करना  चाहते हैं, तो आपको डरने की जरुरत नहीं हैं. हम यहाँ बताएँगे कि आप कैसे बैंक परीक्षा को क्रैक कर सकते हैं.


सालभर एक के बाद एक बैंकिंग परीक्षाओं का आयोजन होता रहता है. जिनमें SBI PO, SBI SO, SBI क्लर्क, IBPS RRB, IBPS PO, IBPS क्लर्क, IBPS SO, RBI, LIC और प्राइवेट बैंक की भर्ती परीक्षाएं शामिल हैं. जिनके लिए उम्मीदवार तैयारी कर सकते हैं. हिंदी भाषी उम्मीदवार इनमें से किसी का भी चुनाव करके अगर एक स्ट्रेटेजी के साथ आगे बढ़ते हैं, तो सफलता अवश्य प्राप्त करेंगे.


हिंदी भाषी क्षेत्रों के उम्मीदवारों के लिए कुछ प्लस पॉइंट भी है. आमतौर में हिंदी भाषी क्षेत्रों से आने वाले उम्मीदवारों की हिंदी भाषा में अच्छी पकड़ होती है और अनेक बैंकिंग परीक्षाओं जैसे IBPS RRB PO, IBPS RRB क्लर्क, LIC आदि परीक्षाओं में भी हिंदी भाषा का एक खंड भी जोड़ा गया है. इसके साथ ही अनेक बैंकिंग परीक्षाएं जैसे IBPS क्लर्क, LIC आदि में फाइनल मेरिट लिस्ट के बाद LPT परीक्षा भी होती है जो क्षेत्रीय भाषा की एक परीक्षा होती है. हिंदी भाषी क्षेत्रों में भर्ती के लिए LPT परीक्षा भी हिंदी में होती है जिसे उत्तीर्ण करना अनिवार्य है. इसके  साथ ही लगभग सभी बैंकिंग परीक्षाओं के इंटरव्यू में भाषा चुनने का मौका दिया जाता है. इस प्रकार हिंदी भाषी उम्मीदवार अपनी सुविधा के अनुसार एक परीक्षा का चुनाव कर सकते हैं.

यहां इस बात पर भी ध्यान देने की जरूरत है कि प्रत्येक सरकारी संगठन (Government Organization)अपने रिक्त पद और संगठन की आवश्यकता के अनुसार ही वेकेंसी (vacancy) को भरने के लिए चयन प्रक्रिया (Selection Process) अपनाता है. बहुत से संगठन केवल लिखित परीक्षा (Written Exam) के माध्यम से योग्य उम्मीदवारों का चयन करते हैं पर अन्य अनेक संगठन केवल इंटरव्यू को ही अपनी चयन प्रक्रिया का आधार बनाते हैं.

Also Read ,

बैंकिंग परीक्षाओं के लिए स्ट्रेटेजी -       

हिंदी भाषी क्षेत्रों के उम्मीदवारों की तैयारी के लिए  हम यहाँ स्ट्रेटेजी दे रहे हैं - 

स्टडी प्लान (STUDY PLAN) :
सबसे पहले एक स्टडी प्लान बनाना चाहिए और दृढ़ता से उसका पालन करना चाहिए. आप विषय के अनुसार टाइम टेबल बनाने के लिए सिलेबस और पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों पर एक नज़र डाल सकते हैं. आपको परीक्षा की तैयारी में किसी भी तरह की कमी नहीं छोड़नी चाहिए. प्रत्येक विषय के लिए कम से कम 1-2 घंटे तय करें, जो आपकी परीक्षा में सफलता दिलाने के लिए बहुत जरुरी है. आपके पास जो समय है उसके अनुसार टाइम टेबल बनाना न भूलें. पिछले वर्ष के पेपर का अधिक से अधिक अभ्यास करें और जितना हो सके उतना मॉक टेस्ट दें. hindiBankersadda में प्रत्येक बैंक परीक्षा के लिए मेमोरी बेस्ड प्रश्न और मॉक टेस्ट उपलब्ध करता है, इसलिए आप बैंकर्सअड्डा के साथ बने रहें.

टाइम मैनेजमेंट(Time management) : 
बैंकिंग क्षेत्र में नौकरी करने की इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों को समय का मैनेजमेंट अवश्य करना चाहिए, इसके बिन सफलता प्राप्त करना मुश्किल है. जैसा कि वांछित परीक्षाओं के पैटर्न को पढ़ने के बाद, आप समझ पाएंगे कि बैंकिंग परीक्षा की एक निश्चित समय सीमा है और परीक्षा ऑनलाइन मोड में आयोजित होती है. इसलिए, जैसे ही समय सीमा समाप्त होती है, परीक्षण स्वतः बंद हो जाता है. इसके अलावा, समय प्रबंधन (मैनेजमेंट) के बिना क्वांट और रीजनिंग के प्रश्नों को समय पर हल कर पाना बहुत मुश्किल है. इसलिए, संबंधित बैंकिंग परीक्षा द्वारा निर्धारित समय में मॉक और पेपर का अभ्यास करने का प्रयास करें. अधिक से अधिक अभ्यास करने का प्रयास करें और अपनी गलतियों को सुधारें. अभ्यास से आपकी स्पीड, चयन करने की क्षमता और एक्यूरेसी सुधरने में मदद मिलेगी.

नियमित रूप से अध्ययन करें (Study regularly)- 
अगर आप बैंकिंग परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको नियमित रूप से अध्ययन करना चाहिए और अपने स्टडी का फ्लो नहीं तोड़ना चाहिए. अगर आप एक दिन भी बिना पढ़े या अभ्यास किये छोड़ते है आप एक मौका खो देते हैं. इसलिए, अपने दैनिक टाइम टेबल का दृढ़ता के साथ अनुसरण करें.


खुद को प्रेरित करें (Inspire yourself):
प्रेरणा एक ऐसी चीज है जो बैंकिंग परीक्षा की तैयारी करते समय आपके अन्दर होनी चाहिए, जिससे आप विचलित न हों. कुछ महीनों के लिए, अपने कैरियर को बनाने के लिए अपनी पूरी लगन के साथ संघर्ष करें और आप सकारात्मक परिणाम देखेंगे. हमेशा याद रखें "आप इसे कर सकते हैं" ऐसी सोच के साथ अगर आप आगे बढ़ते है तो सफल अवश्य होंगे.

हिंदी बैंकर्सअड्डा करेगा आपकी मदद (Hindi BankersAdda will help you)
हम आपको बता दें कि हिंदी भाषी क्षेत्रों के उम्मीदवारों की मदद के लिए हिंदी बैंकर्स अड्डा वह सब कुछ उपलब्ध करता है जिसकी जरुरत बैंकिंग परीक्षा क्रैक करने में होती है. हम आपको बैंक स्ट्रेटेजी से लेकर स्टडी मटेरियल और अभ्यास के लिए बैंकिंग क्विज सभी कुछ हिंदी में उपलब्ध कराते हैं. जिसकी मदद से आप आसानी से बैंकिंग परीक्षा क्रैक कर सकते हैं.

अंग्रेजी अनुभाग में ध्यान देने की जरुरत - 
हिंदी भाषी क्षेत्रों से आने वाले उम्मीदवारों को सबसे ज्यादा अंग्रेजी सेक्शन से ही डर लगता है, इसलिए आपको इस क्षेत्र में बहुत अधिक ध्यान देने की जरुरत है. हाल में ही देखा गया है कि अंग्रेजी अनुभाग का स्तर बढ़ा दिया है पर आपको घबराने की जरुरत नहीं अगर आप कड़ी मेहनत के साथ डेली स्टडी करते हैं और अंग्रेजी अनुभाग की प्रैक्टिस के लिए समय समय पर मॉक टेस्ट देते हैं तो आप सफल जरुर होंगे.


उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से हिंदी भाषी क्षेत्रों के उम्मीदवारों को बैंक परीक्षा की तैयारी के लिए मार्गदर्शन मिला होगा. adda247 की तरफ से आप सभी को शुभकामनाएं.


इन्हें भी पढ़ें