Reasoning Section Strategy For IBPS SO Exam 2018 | In Hindi

Reasoning Section Strategy For IBPS SO Exam 2018 | In Hindi


IBPS SO Prelims परीक्षा अगले महीने 29 और 30 को आयोजित की जायेगी. इसका अर्थ यह है कि आपके पास अभी भी एक माह का समय शेष है. IBPS PO मुख्य परीक्षा हाल ही में आयोजित की गई थी और हमने इसमें कई सारे बदलाव देखे. पैटर्न दिन प्रतिदिन और अधिक जटिल होता जा रहा है, तो आप किसी भी विषय को नज़रअंदाज नहीं कर सकते हैं. IBPS SO Prelims Examination 2018 में रीजनिंग में प्रश्नों की कुल संख्या 50 होगी.

इस खंड में पजल और बैठक व्यवस्था के प्रश्न महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं इनसे 23-25 प्रश्न पूछे जाते हैं.अब परीक्षा में मिश्रित प्रश्न अर्थात रक्त संबंध और दिशा निर्देश भी पजल के रूप में पूछे जाते हैं. तथा, IBPS PO Mains परीक्षा में, यह देखा गया था कि पजल में गणितीय गणना भी शामिल थीं. तो, एक उम्मीदवार को बैंकिंग परीक्षा की तैयारी करते हुए इस भाग पर अधिकतम ध्यान देने की आवश्यकता है. केवल ध्यान ही नहीं आपको Adda247 की दैनिक प्रश्नोत्तरी से अभ्यास करना होगा यह IBPS SO Prelims परीक्षा के दौरान आपके लिए सहायक साबित हो सकता है.

अब पूची जाने वाली पजल लंबी, जटिल और गणनात्मक हैं. वे आमतौर पर (linear, circular, triangular, rectangular and sometimes hexagonal even), तल, टैबुलर रूप, रक्त संबंध आदि पर और 2-3 चर पर पूची जा सकती है यह प्रश्न की कठिनाई पर निर्भर करता है. आजकल बैठक व्यवस्था और रक्त संबंध के प्रश्नों को मिला कर पुछा जाता है. 

कठिन पजल को 100% सटीकता के साथ हल करने के लिए एक महत्वपूर्ण बिंदु यह है कि आपको उस पजल के लिए दो तीन संभावनाएं बनाने चाहिए और उन्हें आगे बढ़ते हुए काटते जाइए. पजल को हल करते समय आपको प्रश्न के मुख्य बिन्दुओं को नज़रंदाज़ नहीं करना है. वे पजल जो आसान हैं उन्हें आपको हल करने के लिए 2-3 मिनट से अधिक का समय नहीं लेना है, मध्यम स्तर की पजल को हल करने के लिए आपको 5 मिनट से अधिक समय नहीं लेना है और कठिन पजल को आपको 8-10 मिनट में हल करने की कोशिश करनी है. यदि आप पजल को हल करते समय दिए गये समय से अधिक समय लेते हैं तो आपको अभ्यास की आवश्यकता है.

IBPS SO Prelims परीक्षा के लिए अन्य महत्वपूर्ण टॉपिक Syllogism, Coding-Decoding, Inequality, Data Sufficiency, Input-Output हैं. यदि Syllogism, Coding-Decoding, Inequality, पर आधारित प्रश्न IBPS SO Prelims परीक्षा में पूछे जाते हैं तो यह 5-8 होंगे, और Data Sufficiency, Input-Output के 3-5 प्रश्न पूछे जा सकते हैं. Syllogism में प्रश्न पुराने पैटर्न या नवीनतम पैटर्न पर भी आधारित हो सकते हैं जिसमें आपको निष्कर्ष दिए गये होते हैं और आपको उनके सही कथनों के सेट का चयन करना होता है. यह सबसे आसान और अधिकतम अंक प्राप्त करने वाला खंड है तो इस खंड के लिए अच्छे से अभ्यास कीजिये.  data sufficiency पर आधारित प्रश्नों में 2-3 कथन हो सकते हैं यह प्रश्न के कठिनाई स्तर पर निर्भर करता है. Input-Output रीजनिंग में पूछे जाने वाले खातीं खण्डों में से एक है और इसे आपको अंत में हल करना चाहिए.

Logical Reasoning से पूछे गए प्रश्न प्रभाव, कार्यवाही, पूर्वधारणायें, और निष्कर्ष, तर्क की प्रबलता, अनुमान, आदि पर आधारित हैं. logical reasoning पर आधारित प्रश्नों की संख्या 5-6 होगी और यह उन उम्मीदवारों के लिए अधिक समय लेने वाले प्रश्न नहीं होंगे जिन्होंने इनका अभ्यास किया है. रक्त संबंध, दिशा और दूरी मिश्रित टॉपिक जो हल करने में आसान हैं. इन टॉपिक से 5-6 प्रश्न पूछे जा सकते हैं. इन प्रश्नों को आरम्भ में हल करने का प्रयास कीजिये क्योंकि यह अधिक समय नही लेते हैं.

जितना अधिक आप अभ्यास करेंगे उतनी अच्छी आप इस विषय में अपनी पकड़ बना सकते हैं. अभ्यास के बिना ज्ञान का कोई महत्व नहीं है. तो, कठिन परिश्रम कीजिये, अभ्यास करते रहिये.

All the best!!