मनरेगा के तहत अप्रैल महीने में काम की माँग में 89 प्रतिशत की बढ़त (Work demand up 89% under MGNAREGA in April month)

मनरेगा के तहत अप्रैल महीने में काम की माँग में 89 प्रतिशत की बढ़त (Work demand up 89% under MGNAREGA in April month)

Work demand up 89% under MGNAREGA in April month

Adda247 अपने सभी उम्मीदवारों के एक नई करेंट अफेयर्स स्पेशल सीरीज़ की शुरुआत की है, इस सीरीज़ में, रोज़ाना (daily basis) पर Candidates को महत्वपूर्ण कर्रेंट अफेयर्स के टॉपिक्स में किसी एक टॉपिक के बारे में Detailed information दी जाएगी, जिससे न केवल उनकी जनरल अवेयरनेस में सुधार होगा, बल्कि परीक्षा में उम्मीदवार कर्रेंट अफेयर्स विषय से पूछे जाने वाले सवाल का जवाब Confident के साथ दे सकेगे.

 इसी कड़ी में आज का हमारा करेंट अफेयर्स टॉपिक है-  मनरेगा के तहत अप्रैल महीने में काम की माँग में 89 प्रतिशत की बढ़त (Work demand up 89% under MGNAREGA in April month) करेंट अफेयर्स स्पेशल सीरीज. 


Work demand up 89% under MGNAREGA in April month : ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना MGNAREGA के तहत अप्रैल महीने में भारत के लगभग 2.54 करोड़ घरों में काम की माँग 89% तक बढ़ी है। पिछले साल अप्रैल महीने में काम की माँग का आंकड़ा 1.34 करोड़ का जो कि इस वर्ष 89% बढ़कर 2.54 करोड़ हो गया है। ये इस शाम में अब तक की सबसे ज्यादा माँग है।



एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने इन आंकड़ों के बारे में बयान दिया कि ग्रामीण विकास मंत्रालय देश में वर्तमान स्थिति की निगरानी कर रहा है तथा मनरेगा एक माँग संचालित योजना है और इसमें आवश्यकतानुसार धनराशि सरकार की ओर से प्रदान की जाएगी। भारत सरकार ने वर्ष 2021-22 के बजट में इस योजना के लिए 73,000 करोड़ रूपए आवंटित किये हैं जो कि पिछले साल से के बजट से 1.11 लाख करोड़ रूपए कम है। 2013 के बाद अप्रैल महीने की औसतन काम की माँग को 2.39 करोड़ आँका गया था। विशेषज्ञों के अनुसार काम की ये माँग शहरी तथा ग्रामीण, दोनों प्रकार के श्रमिकों के द्वारा की गई है। पिछले एक साल की घटनाओं पर नज़र डालें तो हम देखेंगे कि पिछले एक वर्ष में कृषि क्षेत्र में व्यवधान के कारण ग्रामीण आय में कमी आई है तथा वहीं दूसरी ओर शहरी श्रमिक भी देश में कोविड-19 की वजह से आई आर्थिक मंदी के कारण वापस गाँव की ओर पलायन कर रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि देश में अगर यही हालात बनी रही तो बेरोजगारी और श्रम शक्ति कम होने की वजह से अगली तिमाही और अधिक चुनौतिपूर्ण होगी।



MGNAREGA: