Mukhyamantri Ghar Ghar Ration Scheme - जानें क्या है मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना

Mukhyamantri Ghar Ghar Ration Scheme - जानें क्या है मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना



Mukhyamantri Ghar Ghar Ration Scheme: दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने Mukhyamantri Ghar Ghar Ration Scheme को मंजूरी दे दी है. CM Arvind Kejriwal वाली कैबिनेट ने लाभार्थियों के घर तक राशन पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना को मंजूरी दी है. इसकी मदद दिल्ली में घर-घर तक राशन पहुँचाने का प्रयास किया जायेगा. 


राज्य सरकारों द्वारा राशन वितरण की व्यवस्था पहले ही से थी, लेकिन फिर भी गरीब लोगों को राशन लेने के लिए कठिनाई का सामना करना पड़ता था. जैसा कि कभी-कभी दुकानें बंद हो जाती थीं, कभी-कभी उन्हें बासी और मिलावटी खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए जाते थे और कई बार, दुकान के लाइसेंस रखने वाले उनसे सामान्य राशि से अधिक कीमत वसूलते हैं. हालाँकि 5 वर्षों से राशन की व्यवस्था में कई बदलाव किए गए हैं लेकिन फिर भी चीजें वैसी नहीं है, जैसे होनी चाहिए, इसलिए राशन प्रणाली- को सफल बनाते हुए, केंद्र सरकार ने राज्य सरकार के साथ मिलकर door to door ration प्रदान करने का निर्णय लिया है. अरविंद केजरीवाल सरकार ने घर पर ही  PDS  राशन वितरण को मंजूरी दी है. 



यह भी पढ़ें - 



Mukhyamantri Ghar Ghar Ration Scheme


  • किसी भी व्यक्ति को अपने राशन लेने राशन की दुकान पर नहीं जाना होगा, उचित सम्मान और देखभाल के साथ आपके दरवाजे पर पहुंचाया जाएगा
  • जो दुकान से राशन उठाना चाहते हैं, उन लोगों के लिए विकल्प मौजूद रहेगा. यह पूरी तरह से विकल्प है कि आप इसे दुकान से लेना चाहते हैं या अपने घर पर ही प्राप्त  करना चाहते हैं. 
  • गेहूं के बदले आटा उपलब्ध कराया जाएगा
  • चावल और चीनी को ताजा पैक किया जाएगा और आपके दरवाजे तक पहुंचाया जाएगा   
  • यह योजना शहर में अगले 6 से 7 महीनों के भीतर प्रक्रिया में आ जाएगी

सीएम केजरीवाल ने यह भी घोषणा की है कि जिस दिन डोर टू डोर राशन योजना शुरू की जाएगी, उसी दिन केंद्र सरकार द्वारा घोषित किया गया वन नेशन वन राशन कार्ड भी दिल्ली में शुरू किया जाएगा. यह योजना को देश में लागू करना बहुत जरुरी है, क्योंकि इससे गरीब लोगों को एक सहारा मिलेगा, इससे गरीबों आसानी से राशन मिल पायेगा. अभी तक दुकानदारों और government workers इसमें चोरी करते थे, जिससे निजात मिलेगी. 


अरविंद केजरीवाल ने इस योजना की घोषणा करते हुए, गरीबों की मदद करने, झुग्गी बस्तियों में काम करने, राजनीति में शामिल होने से पहले परिवार नामक संस्था चलाने का अपना अनुभव भी बताया. उन्होंने यह भी कहा कि गरीबों की मदद करना और गरीबों के लिए कुछ करना उन्हें और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को बहुत खुशी देता है. 



यह भी देखें - 


  
यह योजना निश्चित रूप से देश की राशन प्रणाली में एक सकारात्मक बदलाव लाएगी और एक दिन आएगा जब कोई भी खाली पेट नहीं सोएगा. दिल्ली में, बहुत सारे झुग्गी-झोपड़ियाँ, मज़दूर और अन्य निम्न-वर्ग के मज़दूर हैं, जो अपने परिवार के भूखे पेट को भरने के लिए सरकार की PDS Scheme पर निर्भर हैं. आज दिल्ली ने परिवारों को राशन की पूरी door to door delivery करने की मंजूरी दे दी है, इसके बाद गरीबों को वितरित होने वाला पूरा राशन बिना किसी चोरी या समस्या के उन तक पहुँच जायेगा.


 

Click Here to Register for Bank Exams 2020 Preparation Material

Visit Achieversadda.com and participate in discussions with other aspirants and achievers. Get answers to your queries and connect with others on Achieversadda.com