भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की सूची (List of Public Sector Banks)

भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की सूची (List of Public Sector Banks)



बैंक अर्थव्यवस्था का केंद्र बिंदु हैं. जो हमें हमारे धन को जमा करने और जरुरत पड़ने पर उधार लेने की सुविधा उपलब्ध कराता है. अब अगर सरकारी बैंक की बात की जाए तो यह  विभिन्न लाभ और योजनाओं को देशवासियों तक पहुंचाने का प्रयास करते हैं. बैंक  करेंसी एक्सचेंज, वेल्थ मैनेजमेंट, फाइनेंशियल सर्विसेज और सेफ डिपॉजिट बॉक्स जैसी अन्य सेवाएँ भी प्रदान करते हैं. भारतीय रिजर्व बैंक भारत का सबसे अच्छा केंद्रीय बैंक है जो भारत में अन्य सभी बैंकों के विभिन्न कार्यों को करने में मदद करता है. पेमेंट का भुगतान करना, पैसे सुरक्षित रखना और सिक्योरिटी फंडस में पैसा निवेश करना आदि सुविधाएं भी बैंक हमें देता है.


अब अगर भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों( Public Sector Banks) की बात की जाए तो इस सम्बन्ध में वित्त मंत्री निर्मला सीतारम ने 30 अगस्त 2019 को भारत के सरकारी बैंकों की कई श्रृंखलाओं को विलय करने की घोषणा की थी. इस प्रकार, इस घोषणा के बाद, कई बैंकों का आपस में विलय हो गया और अब वर्त्तमान समय में भारत में 12 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक मौजूद हैं. जिनकी पूरी लिस्ट हम यहाँ दे रहे हैं -


Practice With,


भारत में 12 सरकारी बैंकों की सूची

सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के अनुसार इनमें सरकार की हिस्सेदारी पचास प्रतिशत से अधिक है. सार्वजनिक क्षेत्र (public sector) और सरकारी बैंकों(government banks) को राष्ट्रीयकृत बैंक(nationalized banks) के रूप में भी जाना जाता है. बारह सरकारी बैंकों की सूची इस प्रकार है::

बैंक का नाम  बैंक राजस्व
(Revenues of bank)
बैंक की स्थापना
(Establishment of bank)
बैंक का मुख्यालय
(Headquarter of bank)
जानकारी
(Information)
भारतीय स्टेट बैंक
(State bank of India)
Rs. 2110 billion 1955 मुंबई और महाराष्ट्र
(Mumbai and Maharashtra)
यह भारत का पहला सबसे बड़ा केंद्रीय सरकारी बैंक(central government bank) है. इसे इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया(Imperial Bank of India) के नाम से भी जाना जाता है..
पंजाब नेशनल बैंक
(Punjab National Bank)
Rs. 774.22 billion 1894 नई दिल्ली
(New Delhi)
पंजाब नेशनल बैंक दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक है. मर्ज किए गए पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक, और यूनाइटेड बैंक का नया नाम Amalgamated 3 है.
बैंक ऑफ बड़ौदा
(Bank of Baroda)
Rs. 422 billion 1908 वडोदरा और गुजरात
(Vadodara and Gujarat)
बैंक ऑफ बड़ौदा भारत का तीसरा सबसे बड़ा बैंक है. देना बैंक और विजया बैंक का विलय बैंक ऑफ बड़ौदा में किया गया है.
बैंक ऑफ इंडिया
(Bank of India)
Rs. 418 billion 1906 मुंबई और महाराष्ट्र
(Mumbai and Maharashtra )
बैंक ऑफ इंडिया एक अग्रणी राष्ट्रीयकृत बैंक है. यह महाराष्ट्र और मुंबई के एक प्रतिष्ठित समूह द्वारा स्थापित किया गया था.
बैंक ऑफ महाराष्ट्र
(Bank of Maharashtra )
Rs. 130.53 billion 1935 पुणे और महाराष्ट्र
(Pune and Maharashtra)
बैंक ऑफ महाराष्ट्र की स्थापना 1969 में हुई थी. इसकी स्थापना और निर्माण डी.के. साठे के साथ V.G. Kale ने की थी
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
(Union Bank of India)
Rs. 696.39 billion 1919 मुंबई और महाराष्ट्र
(Mumbai and Maharashtra)
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया एक बहुत प्रसिद्ध सरकारी बैंक है. इसके 3040 एटीएम हैं. इसमें पूर्ण स्वचालित 2600 CBS शाखाएं हैं.
केनरा बैंक
(Canara Bank)
Rs. 558.30 billion 1906 बेंगलुरु और कर्नाटक
(Bengaluru and Karnataka)
भारत में इसकी स्थापना 1906 में, श्री अम्मेम्बल सुब्बा राव पई, एक महान दूरदर्शी और परोपकारी द्वारा की गयी थी.
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
(The Central Bank of India)
Rs. 259 billion 1911 मुंबई और महाराष्ट्र
(Mumbai and Maharashtra)
इसकी स्थापना Ammembal Subba Rao Paiand ने की थी. इसकी शुरुआत 1969 में मैंगलोर में हुई थी.
इंडियन बैंक
(Indian Bank)
Rs. 405.74 billion 1907 चेन्नई और तमिलनाडु
(Chennai and Tamilnadu)
इंडियन बैंक भारत का सबसे पुराना बैंक है, जिसमें 20924 rates of employees शामिल हैं. इसकी 2900 बैंक शाखाएँ और 2861 ATM’s उनके अधीन हैं.
इंडियन ओवरसीज बैंक
(Indian Overseas Bank)
Rs. 235.2 billion 1937 चेन्नई और तमिलनाडु
(Chennai and Tamilnadu)
इंडियन ओवरसीज बैंक के संस्थापक Thiru.M.Ct.M. Chidambaram Chettiar थे  इसने उच्च क्षमता के साथ विदेशी मुद्रा संचालन को औपचारिक रूप दिया है. यह सरकारी बैंकों के बीच सबसे तेज और सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला बैंक है.
पंजाब एंड सिंध बैंक
(Punjab and Sind bank)
Rs. 87.44 billion 1908 नई दिल्ली
(New Delhi)
पंजाब एंड सिंध बैंक की पंजाब राज्य में 623 शाखाएँ हैं, और पूरे देश में, इसकी 1559 बैंक शाखाएँ हैं
यूको बैंक
(UCO bank)
Rs. 185.61 billion 1943 कोलकाता और पश्चिम बंगाल
(Kolkata and West Bengal )
इसकी स्थापना 1943 में कोलकाता, भारत में हुई थी. यूको बैंक के संस्थापक प्रख्यात भारतीय उद्योगपतियों( industrialists) का एक समूह है. यह एक वाणिज्यिक बैंक है जिसने लोगों को एक बेहतर आर्थिक सुविधा प्रदान की है 

सरकारी बैंकिंग प्रणाली ने भारत की अर्थव्यवस्था(economy) के सुधारने में महत्वपूर्ण योगदान दिया. आप सरकारी बैंकों में अपना पैसा सुरक्षित रख सकते हैं साथ ही इसकी मदद से आसानी से पैसा निवेश कर सकते हैं. उनके पास एक निश्चित ब्याज दर भी है, जो लोगों को सुरक्षित पैसा कमाने में मदद करती है. विभिन्न बैंकों के विलय से समय के साथ आर्थिक मजबूती हासिल करने में मदद मिली है.


Also Read,
राष्ट्रपतियों की सूची प्रधानमंत्रियों की सूची सबसे बड़ा राज्य - राजस्थान Governers of RBI
PMJDY क्या है? List of Cabinet Ministers राष्ट्रीय सुरक्षा कानून मुख्य चुनाव आयुक्त की पूरी लिस्ट

Frequently Asked Questions

Q. भारत में कितने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक हैं?
विलय के बाद भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के 12 बैंक हैं?

Q. भारत में किन बैंकों का विलय किया गया है?
1 अप्रैल से निम्नलिखित का विलय हो गया है:
  • पंजाब नेशनल बैंक में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का विलय हुआ है.
  • केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक का विलय हुआ है.
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक का विलय हुआ है.
  • इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक का विलय हुआ है.

Q. भारत में वाणिज्यिक बैंक(commercial banks) कितने प्रकार के हैं?
सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक(Public Sector Banks), निजी क्षेत्र के बैंक(Private Sector Banks) और विदेशी बैंक(Foreign Banks)



Q. भारत में कितने निजी क्षेत्रीय बैंक(Private Sector Banks) हैं?
भारत में कुल 22 निजी क्षेत्र के बैंक हैं- IDBI Bank, Yes Bank, Tamilnad Mercantile Bank, South Indian Bank, RBL Bank, Nainital bank, Lakshmi Vilas Bank, Kotak Mahindra Bank, Karur Vysya Bank, Karnataka Bank, Jammu & Kashmir Bank, IDFC FIRST Bank, IndusInd Bank, ICICI Bank, HDFC Bank, Federal Bank, Dhanlaxmi Bank, DCB Bank, City Union Bank, CSB Bank, Bandhan Bank, and Axis Bank.