IBPS RRB क्लर्क मेंस परीक्षा 2019 : परीक्षा के दौरान टाइम मैनेंजमेंट कैसे करें

IBPS RRB क्लर्क मेंस परीक्षा 2019 : परीक्षा के दौरान टाइम मैनेंजमेंट कैसे करें


IBPS RRB क्लर्क मेन्स परीक्षा 2019 के लिए कुछ दिन ही शेष हैं। सार्वजनिक क्षेत्रीय ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों के बैंक में अपना करियर बनाने की इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी होगी। IBPS RRB क्लर्क मेन्स परीक्षा 20 अक्टूबर 2019 को होने वाली है। IBPS RRB क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा 17 और 18 अगस्त 2019 को आयोजित की गई थी। IBPS RRB क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा का रिजल्ट पहले ही जारी हो चुका है। जिन उम्मीदवारों ने प्रीलिम्स चरण उत्तीर्ण कर लिया है, वे सभी मेंस चरण के लिए तैयार हो जाएँ। आपके पास मात्र 3 दिन है, जिसमें आपको टाइम मैनेजमेंट, एक्यूरेसी और स्पीड की जाँच करनी चाहिए और परीक्षा में सफल होने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए।

IBPS RRB Clerk  परीक्षा के दौरान समय प्रबंधन कैसै करें? यहाँ हम बता रहे हैं। आरआरबी परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए टाइम मैनेजमेंट, स्पीड और एक्यूरेसी इन तीनों पर काम करना बहुत आवश्यक है। इसके अलावा, प्रत्येक खंड को समान महत्व देने की आवश्यकता है क्योंकि सभी अनुभाग महत्वपूर्ण हैं और आपको अंक दिला  सकते हैं। इससे पहले कि हम गहराई से चिन्तन करें, आइए हम आपको IBPS RRB क्लर्क परीक्षा के पैटर्न के बारे में बताते हैं।

IBPS RRB क्लर्क मेन्स परीक्षा पैटर्न 2019


IBPS RRB क्लर्क मेंस परीक्षा, प्रीलिम्स चरण से बहुत अलग है। मेंस चरण के लिए नियमित अभ्यास और स्मार्ट तकनीकी के माध्यम से अध्ययन की जरुरत पड़ती है। यहाँ पैटर्न है:

S. No. Name of the Test Medium of the exam No. of Questions Maximum Marks Duration
1. Reasoning Ability Hindi/English 40 50 Composite time of 120 minutes
2. Numerical Ability Hindi/English 40 50
3. General Awareness Hindi/English 40 40
4.a English Language English 40 40
4.b Hindi Language Hindi 40 40
5. Computer Knowledge Hindi/English 40 20
Total 200 200

उम्मीदवार अपनी सुविधा के अनुसार  हिंदी या अंग्रेजी चुन सकते हैं। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक आपके प्राप्त अंको से घटा दिए जायेंगे। 


समय प्रबंधन टिप्स : IBPS RRB क्लर्क मेंस 2019

BPS RRB क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा के विपरीत, मेंस परीक्षा में 5 सेक्शन होते हैं: तार्किक क्षमता, संख्यात्मक अभियोग्यता, अंग्रेजी  / हिंदी, जनरल अवेयरनेस और कंप्यूटर ज्ञान। पूरी परीक्षा के लिए 2 घंटे का कुल समय और कुल 200 अंक हैं। समय का प्रबंधन करने की आवश्यकता क्यों है? यह एक सवाल है सभी उम्मीदवारों को परेशान करता है। किसी भी बैंकिंग परीक्षा के ऑनलाइन मोड में सुनिश्चित चयन के लिए समय प्रबंधन बहुत जरुरी होता है।

समय प्रबंधन करने के लिए कुछ अनुभाग-टिप्स 

तर्क और संख्यात्मक क्षमता: तर्क और संख्यात्मक योग्यता अधिक समय लेने वाले टॉपिक हैं, जिनमें से प्रत्येक 50 अंक के होते हैं। इसका मतलब रीज़निंग और न्यूमेरिकल सेक्शन पेपर के 50 प्रतिशत को कवर कर लेते हैं । इसलिए इस खंड का जितना संभव हो उतना अभ्यास करके समय के अनुसार प्रयास करना चाहिए। जैसा कि यह खंड आपके अच्छे स्कोर में मदद कर सकता है जिससे आप मेरिट सूचि में अपना नाम दर्ज करा सकते हैं। इसकी तैयारी में अपना सर्वश्रेष्ठ दें और परीक्षा के अनुरूप खुद को तैयार करें।

अंग्रेजी / हिंदी: यह खंड व्याकरण के ज्ञान की मांग करता है। इस सेक्शन सेक्शन को 15-20 मिनट से अधिक नहीं देना चाहिए।

सामान्य जागरूकता: इस खंड को 20-25 मिनट देने चाहिए। IBPS RRB क्लर्क मेंस परीक्षा में इस अनुभाग से 40 प्रश्न आते हैं। उम्मीदवार प्रश्न को ध्यान से पढ़ें और उनके सही उत्तर दें, अनुमान के आधार पर उत्तर न दें।

कंप्यूटर ज्ञान: कंप्यूटर ज्ञान को सबसे कम समय दिया जा सकता है क्योंकि इसमें केवल मूल विषय ही पूछे जाते हैं। तो इस खंड में ज्यादा समय बर्बाद न करें। इससे कुल 200 में से केवल 20 अंक के प्रश्न पूछे जाते हैं।

शेष समय: यदि आपके पास इन सबके बाद भी समय बचता है, तो अपने उत्तर की जाँच करें और उन प्रश्नों को पुनः जाचें जिन पर आपको 1% भी संदेह है।

परीक्षा के लिए अन्य टिप्स 

पाठ्यक्रम और पिछले वर्षों के पेपर : अगर आप IBPS RRB क्लर्क परीक्षा की तैयारी कर रहें हैं तो आपको इसके सिलेबस और लास्ट इयर पेपर अवश्य देखने चाहिए, जिससे आपको परीक्षा के विषय में कुछ ज्ञान प्राप्त हो सके। मेंस परीक्षा में समय मैनेजमेंट के लिए अधिक से अधिक अभ्यास करें और अधिक से अधिक मॉक टेस्ट दें ।

स्पीड टेस्ट : स्पीड टेस्ट वह तरीका है जिसके माध्यम से आप अपने समय प्रबंधन में सुधार कर सकते हैं और परीक्षा के लिए खुद को तैयार कर सकते हैं। यह आपको वास्तविक परीक्षा का अनुभव प्रदान करेगा।

मॉक टेस्ट: आप पहले ही मॉक टेस्ट से गुजर चुके होंगे। फिर भी कुछ मॉक टेस्ट और हल करें, अपनी कमजोरी का  पता लगायें और उनमें संशोधन करें।

गलतीयों में सुधार करें : मॉक टेस्ट को हल करने के बाद, अपनी तैयारी का विश्लेषण करिए। गलतियों पर कम करें और भविष्य में उनसे बचें। विभिन्न मॉक टेस्ट को हल करने का मुख्या कारण है कि आप गलतियाँ कम से कम करें, एक्यूरेसी परीक्षा में सफल होने के लिए बहुत जरुरी है।

एडमिट कार्ड: परीक्षा से एक दिन पहले एडमिट कार्ड डाउनलोड करें। एडमिट कार्ड पर दी गई जानकारी की जांच करें।

शांत मन: किसी भी परीक्षा में सफल होने के लिए शांत रहना बहुत आवश्यक है, क्योंकि दिमाग में तनाव होने  से आप आते हुए प्रश्न भी गलत कर देते हैं। धैर्य सफलता की कुंजी है। इसलिए धैर्य से काम लें।

यह भी पढ़ें :

Click here to get study material for IBPS RRB Mains 2019