बैंकिंग परीक्षा की तैयारी में की जाने वाली सामान्य गलतियाँ

बैंकिंग परीक्षा की तैयारी में की जाने वाली सामान्य गलतियाँ



विभिन्न भर्ती निकायों द्वारा विभिन्न बैंकों के अवसर प्रदान किये गए हैं और उनकी अधिसूचना भी पहले ही जारी की जा चुकी है जैसे IBPS PO, IBPS क्लर्क, NABARD आदि. आईबीपीएस के अंतर्गत आने वाले सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से, भारतीय स्टेट बैंक, ने इस वर्ष बैंकिंग के इच्छुक लोगों को कई अवसर दिए हैं. आप सभी इस अवसर का पूर्णत: लाभ उठाना चाह रहे होंगे ताकि आप इस वर्ष आप अपने सरकारी नौकरी प्राप्त करने के सपने को पूरा कर पायें.

छात्रों, परीक्षा में उपस्थित होते हुए सबसे बेहतर रणनीति क्या होनी चाहिए इसपर ध्यान केन्द्रित करने के आलावा आपको इस बात पर भी ध्यान करना चाहिए की आप बैंकिंग परीक्षा की तैयारी के दौरान होने वाली गलतियों से किस प्रकार बच सकते हैं. आप में से इस सरकारी क्षेत्र में नौकरी प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे होंगे लेकिन कई बार इसमें सफलता प्राप्त करने से चूंक जाते हैं. आपकी असफलता के पीछे का कारण क्या है. आप बैंक PO परीक्षा में किस प्रकार बढ़त प्राप्त कर सकते हैं?

आज के इस लेख में हम उन आम गलतियों पर ध्यान केन्द्रित करेंगे जो अक्सर कई उम्मीदवार परीक्षा के दौरान न चाहते हुए भी करते हैं. आपको इन गलतियों से बचाने के लिए हम आपको एक सूची प्रदान करेंगे जिसमें यह बताया गया है कि आप किस प्रकार परीक्षा के दौरान उन गलतियों से बाख सकते हैं.

बैंकिंग के दौरान की जानी वाली आम गलतियां


1. रोजमर्रा की ख़बरों को अनदेखा करना
दैनिक रूप से अख़बार पढने की आदत आपके लिए परीक्षा के समय बहुत मददगार साबित हो सकती है. ऐसा करने से आपको अंतिम समय में अधिक अध्यन की आवश्यकता नहीं होगी और आप 4-5 महीने के करंट अफेयर्स का अध्यन करने के बोझ से बचे रहेंगे. 

2. दैनिक रूप से स्पीड टेस्ट न देना.
यह आपकी तैयारी का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है. दैनिक रूप से मॉक टेस्ट का अभ्यास करने से आप अपनी गति को बेहतर बना सकते हैं और आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं की आप किस खंड में बेहतर हैं और किस खंड में कमजोर.

3. अपने बेहतर विषयों को अनदेखा करना और उनका अध्यन न करना.
आप परीक्षा के लिए प्रत्येक विषय का अध्यन करना है भले ही आप उसमें बेहतर हों या कमजोर. और सभी प्रश्नों की मूलभूत अवधारणा का अवश्य अध्यन करें, ऐसा करने से यह आपके अंदर एक आत्मविश्वाश पैदा करेगा और आप परीक्षा में अवश्य ही बेहतर प्रदर्शन करेंगे.

4. किस से शुरुआत करें?
छात्र अक्सर इस समस्या में पढ़ते हैं कि उन्हें किस विषय के साथ अपनी तैयारी शुरू करनी चाहिए. छात्रों को हमेशा उन विषयों के साथ शुरुआत करनी चहिये जिसमें वे बेहतर हैं, ऐसा करने से उनके अंदर एक आत्मविश्वाश पैदा होगा और वे सभी अपनी आगे के यात्रा के लिए प्रेरित रहेंगे.

5. सैकड़ों रणनीतियों का पालन करना और सुनना.
कभी भी दूसरों की रणनीति पर भरोसा न करें क्योंकि यह उनके लिए काम कर सकता है लेकिन आपके मामले में विफल हो सकता है. छात्र टॉपर्स की रणनीति का पालन करते हैं और अराजक स्थिति के साथ समाप्त करते हैं. हमेशा अपनी खुद की योजना बनाएं और उन्हें सूची में सूचीबद्ध करें.

6. अपनी तैयारी में निरंतरता खोना.
जब वे अपनी तैयारी शुरू करते हैं तो छात्र उत्साही महसूस करते हैं लेकिन अपनी यात्रा में वे कई चुनौतियों का सामना कर सकते हैं जो कभी-कभी उनके इस उत्साह को समाप्त कर देती हैं. इस कारण वे दैनिक रूप से तैयारी करना छोड़ देते हैं. आपकी तैयारी में निरंतरता एक प्रमुख भूमिका निभाती है. बैंक परीक्षाओं के लिए आपकी रणनीति रणनीतिक होनी चाहिए ताकि आप कुछ भी महत्वपूर्ण न छोड़ें.

7. अनुपयोगी अध्यन सामग्री को इकठ्ठा करना.
छात्र आमतौर पर विभिन्न स्रोत की संख्या से सभी बेकार अध्ययन सामग्री एकत्र करते हैं और उसके बाद तनाव और भ्रम का सामना करते हैं. ध्यान रखें की आपको केवल वे ही अध्यन सामग्री एकत्रित करनी है जो परीक्षा के लिए उपयोगी और नवीनतम परीक्षा पैटर्न का अनुकरण करती है.

8. सोशल मीडिया के माध्यम से बहुत अधिक समय बर्बाद करना
छात्र सोशल साइट्स सर्फिंग के शौकीन हैं. वे बेकार चीजों को खोजने में बहुत समय बर्बाद करते हैं. इसके बजाय सभी छात्रों को उपयोगी चीज़ों को खोजना चाहिए जो परीक्षा और परीक्षा की तैयारी के दौरान सहायक हो सकती हैं.

9. बैंकिंग परीक्षा या SSC?
सभी उम्मीदवार इस असमंजस में जरूर फसते हैं कि की वे बैंकिंग के साथ अपना करियर शुरू करें या SSC के साथ, आप सभी को एक लक्ष्य स्थ्पापित करना चाहिए और उसके परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम का अध्यन करना चाहिए. इन दोनों परीक्षाओं के पाठ्यक्रम में बहुत अंतर है.

10. विषय की मूल बातें समझे बिना सीधे शोर्ट ट्रिक का प्रयोग
कभी भी बिना उन विषय के ज्ञान के शोर्ट ट्रिक का प्रयोग न करें. यह सुनिश्चित करें की आपको उस विषय की मूलभूत अवधारणायें आती हैं.

11.परिणाम की प्रतीक्षा न करें, मुख्य परीक्षा की तैयारी शुरू करें
जैसा की आप सभी जानते हैं की मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम बहुत बड़ा और कठिन है. इसका अध्यन करने के लिए सभी छात्रों को अधिक समय की आवश्यकता होती है, और प्राथमिक परीक्षा के परिणाम से पूर्व ही इसकी तैयारी शुरू करने का सबसे बेहतर समय है.

12. बेहतर नींद.
कुछ छात्र परीक्षा के दौरान परीक्षा के समय देर रात जागकर अध्यन करते हैं और अच्छी नींद नहीं लेते हैं, अच्छी नींद न लेना आपको मानसिक तनाव की और लेजा सकता है, तो प्रत्येक दिन एक अच्छी नींद लें, एक स्वस्थ शरीर के लिए 8 घंटे की नींद आवश्यक है और याद रखें स्वस्थ शरीर ही स्वस्थ दिमाग का घर है.

13. नियमित रूप से विषयों को रिवाइस न करना.
नियमित रूप से आपके द्वारा तैयार किए गए सभी विषयों को रिवाइस करना महत्वपूर्ण है. उन्हें समय पर रिवाइस करना उन्हें आपके दिमाग में ताज़ा रखेगा. यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो परीक्षा के दौरान आपको इसका पछतावा करना पड सकता है.

14. अपने स्पीड टेस्ट का विश्लेषण न करना.
केवल स्पीड टेस्ट का प्रयास ही नहीं बल्कि उसका विश्लेषण भी बहुत महत्वपूर्ण है. अपने परीक्षण का विश्लेष्ण करें और जाने की आप किस विषय में पीछे हैं. खुद को उन सभी चीजों के साथ तैयार रखें जो आपको परीक्षा में बेहतर बनाता है.

15. परीक्षा की तैयारी शुरू करने के लिए अधिसूचना की प्रतीक्षा करना.
परीक्षा की अधिसूचना जारी होने तक परीक्षा की तैयारी शुरू करने की प्रतीक्षा न करें. यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो परीक्षा शुरू होने से पूर्व आपके पास तैयारी के लिए बहुत कम समय होगा और आप अन्य उम्मीदवारों से पीछे रह सकते हैं.

Fill This Form To Get Free Study Material For RBI Grade-B