IBPS RRB PO/Clerk | हिंदी भाषा प्रश्नावली 28 अगस्त 2019

IBPS RRB PO/Clerk | हिंदी भाषा प्रश्नावली 28 अगस्त 2019

आप सभी जानते हैं कि आईबीपीएस आरआरबी  परीक्षा 2019 की मेंस परीक्षा की तैयारी कर रहे होंगे. परीक्षा के पाठ्यक्रम के आधार पर आपकी सफलता सुनिश्चित करने के लिए ADDA247 आपके लिए हिंदी की प्रश्नोतरी लेकर आया है. यह प्रश्नावली मुख्य परीक्षा की तयारी को और मजबूत करने के लिए अब से दैनिक स्तर पर आयोजित की जा रही है. सभी जानते हैं कि बैंकिंग परिक्षाओं में केवल आरआरबी ही एकमात्र ऐसी परीक्षा है , जो आपको अपनी भाषा का चयन का विकल्प देता है जिसमें आप अंग्रेजी के स्थान  पर हिंदी भाषा चुन सकते हैं. यह हिंदी भाषा क्षेत्र के उम्मीदवारों के लिए सफलता पाने का एक सुनहरा मौक़ा है, क्योंकि हम अपनी भाषा में अधिक से अधिक अंक स्कोर करने में सक्षम होते हैं. यदि आपका लक्ष्य इस वर्ष आईबीपीएस आरआरबी में सफलता पाना है, तो अभी से मेंस की तैयारी में जुट जाएँ. अपनी तैयारी को और बेहतर बनाते हुए अपनी सफलता सुनिश्चित कीजिये. आज की इस हिंदी भाषा प्रश्नावली 28 अगस्त 2019 में हम आपको अव्यवस्थित वाक्य खण्डों को व्यवस्थित करने से सम्बंधित प्रश्न दे रहे हैं.   



Directions (1-15): निम्नलिखित प्रश्नों में दिए गए अनुच्छेदों के पहले और अन्तिम वाक्यों को क्रमशः (1) और (6) की संज्ञा दी गई है। इनके मध्यवर्ती वाक्यों को चार भागों में बाँटकर य, र, ल, व की संज्ञा दी गई है। ये चारों वाक्य व्यवस्थित क्रम में नहीं है। इन्हें ध्यान से पढ़कर दिए गए विकल्पों में से उचित क्रम चुनिए, जिससे सही अनुच्छेद का निर्माण हो।    
  
Q1. (1) शास्त्रीय नृत्य एक ऐसा क्षेत्र रहा है   
(य) ही रही है पर संरक्षकों और गुरुओं
(र) के माध्यम से
(ल) जिसमें प्रस्तुतकर्ता के रूप में
(व) भागीदारी सर्वाधिक महिलाओं की
(6) नियंत्रण सदैव पुरुषों का ही बना रहा।  

(a) य ल व र        (b)  ल र व य                 (c)  ल व य र     
(d)  य र ल व        (e) इनमें से कोई नहीं   

S1. Ans. (c)   
Sol.  शास्त्रीय नृत्य एक ऐसा क्षेत्र रहा है जिसमें प्रस्तुतकर्ता के रूप में भागीदारी सर्वाधिक महिलाओं की ही रही है पर संरक्षकों और गुरुओं के माध्यम से नियंत्रण सदैव पुरुषों का ही बना रहा। 

Q2.  (1) हाशिए की महिलाएँ, मजदूर, आदिवासी स्त्रियों पर 
(य) बात करना आज बहुत
(र) जरूरी है क्‍योंकि मजदूर, आदिवासी स्त्रियाँ
(ल) एक ऐसा तबका हैं
(व) जो स्त्रियों में भी सबसे ज्‍यादा विषम परिस्थितियों,
(6) भेदभाव और शोषण का शिकार होती हैं।    
(a) य र ल व              (b)  य व र ल                 (c)   ल र य व   
(d)      य ल व र            (e) इनमें से कोई नहीं   

S2. Ans. (a)  
Sol.   हाशिए की महिलाएँ, मजदूर, आदिवासी स्त्रियों पर बात करना आज बहुत जरूरी है क्‍योंकि मजदूर, आदिवासी स्त्रियाँ एक ऐसा तबका हैं जो स्त्रियों में भी सबसे ज्‍यादा विषम परिस्थितियों, भेदभाव और शोषण का शिकार होती हैं।    

Q3.  (1) स्त्री-आत्मकथा स्त्री के दृष्टिकोण, स्वर, 
(य) उसका नहीं बल्कि व्यापक समाज
(र) निर्णय और उसके यथार्थ के
(ल) वास्तविक अध्ययन में सबसे ज्यादा
(व) मददगार साबित होती है जो सिर्फ
(6) का हिस्सा बन जाता है।    

(a) व ल र य              (b) र ल व य                 (c) र व ल य     
(d)  र य व ल              (e) इनमें से कोई नहीं 

S3. Ans. (b)   
Sol.   स्त्री-आत्मकथा स्त्री के दृष्टिकोण, स्वर, निर्णय और उसके यथार्थ के वास्तविक अध्ययन में सबसे ज्यादा मददगार साबित होती है जो सिर्फ उसका नहीं बल्कि व्यापक समाज का हिस्सा बन जाता है।   

  
Q4. (1) लोकगीतों, विशेषकर स्त्री लोकगीतों,
(य) का स्वभाव है कि उसमें बहुत
(र) लेकिन अनुभूति की गहनता
(ल) बड़ी बातें प्रायः
(व) साधारण घटना प्रसंगों के जरिए,
(6) के साथ, कही जाती हैं। 

 (a) व र य ल              (b)  य र ल व                 (c) र ल व य     
(d)  य ल व र                (e) इनमें से कोई नहीं

S4. Ans. (d)  
Sol.   लोकगीतों, विशेषकर स्त्री लोकगीतों, का स्वभाव है कि उसमें बहुत बड़ी बातें प्रायः साधारण घटना प्रसंगों के जरिए, लेकिन अनुभूति की गहनता के साथ, कही जाती हैं। 
  
Q5.  (1)  आदिकाल से रीतिकाल तक की
(य) लेकिन अपनी रचनाशीलता और स्फूर्ति के साथ
(र) में साहित्येतिहास की पुस्तकों में दर्ज हैं,
(ल) उल्लेखनीय स्त्री-रचनाकार के रूप
(व) साहित्य-परंपरा में मीराबाई एकमात्र
(6) वे औसत पाठक की स्मृति से नहीं टकरातीं। 

(a)  व र य ल              (b)   व ल र य                (c) व य र ल     
(d)   य र व ल             (e) इनमें से कोई नहीं 

S5. Ans. (b)  
Sol.   आदिकाल से रीतिकाल तक की साहित्य-परंपरा में मीराबाई एकमात्र उल्लेखनीय स्त्री-रचनाकार के रूप में साहित्येतिहास की पुस्तकों में दर्ज हैं, लेकिन अपनी रचनाशीलता और स्फूर्ति के साथ वे औसत पाठक की स्मृति से नहीं टकरातीं।   

Q6.  (1)  भारत के 
(य) सालों में अचानक कई गुना और कई स्तरों
(र) साथ अमरीका के
(ल) सांस्कृतिक, राजनैतिक और व्यापारिक
(व) संबंध पिछले दस
(6) पर बढ़ गए हैं।    

(a) व य र ल              (b) र व य ल                (c) र ल व य     
(d)  ल र य व             (e) इनमें से कोई नहीं

S6. Ans. (c)  
Sol.   भारत के साथ अमरीका के सांस्कृतिक, राजनैतिक और व्यापारिक संबंध पिछले दस सालों में अचानक कई गुना और कई स्तरों पर बढ़ गए हैं। 

       
Q7.  (1) हिंदी में दलित लेखन 
(य) उनमें से एक यह
(र) था कि स्त्री को दलित
(ल) ने अपने शुरुआती दौर से
(व) जिन प्रश्‍नों को हल करना चाहा
(6) माना जाए या नहीं। 
(a) ल व य र              (b)  ल य व र                 (c)   र व य ल   
(d) व ल र व              (e) इनमें से कोई नहीं 

S7. Ans. (a)  
Sol.   हिंदी में दलित लेखन ने अपने शुरुआती दौर से जिन प्रश्‍नों को हल करना चाहा-उनमें से एक यह था कि स्त्री को दलित माना जाए या नहीं।



Q8.  (1) आज के युग में मीडिया की
(य) मीडिया ने ही वैश्वीकरण को
(र) आकार दिया है और वैश्वीकरण ने
(ल) ताकत का आकलन करना
(व) आसान नहीं है,
(6) दुनिया को एक बाजार बना दिया। 

(a) र व य ल              (b) ल व य र   (c) ल य र व     
(d) य ल र व                  (e) इनमें से कोई नहीं
 
S8. Ans. (b)  
Sol.   आज के युग में मीडिया की ताकत का आकलन करना आसान नहीं है, मीडिया ने ही वैश्वीकरण को आकार दिया है और वैश्वीकरण ने दुनिया को एक बाजार बना दिया।

Q9. (1) भिन्न-भिन्न अवसरों, रोजमर्रा के क्रिया कलापों,
(य) परंपरा की जड़
(र) की विस्तृत और समृद्ध
(ल) गाए जाने वाले इन लोकगीतों
(व) भिन्न-भिन्न भावों की अभिव्यक्ति के लिए,
(6) लोकमानस में गहरे तक धँसी हुई है। 

(a) व ल र य              (b)  र य ल व                 (c)  व र ल य     
(d)  र ल व य                (e) इनमें से कोई नहीं 

S9. Ans. (a)  
Sol.   भिन्न-भिन्न अवसरों, रोजमर्रा के क्रिया कलापों, भिन्न-भिन्न भावों की अभिव्यक्ति के लिए, गाए जाने वाले इन लोकगीतों की विस्तृत और समृद्ध परंपरा की जड़ लोकमानस में गहरे तक धँसी हुई है।  
    
Q10.  (1)  लोक की परंपरा, संस्कृति, 
(य) को ही लोक
(र) विचार, रीति-रिवाज
(ल) करने वाले साहित्य
(व) आदि को संरक्षित और संवर्धित
(6) साहित्य कहा जाता है।

(a) व ल य र              (b)  र य व ल                 (c) र व ल य       
(d)  ल र य व                (e) इनमें से कोई नहीं   

S10. Ans. (c)   
Sol.  लोक की परंपरा, संस्कृति, विचार, रीति-रिवाज आदि को संरक्षित और संवर्धित करने वाले साहित्य को ही लोक साहित्य कहा जाता है।

Q11.  (1)  यह आस्था ही है
(य) को टूटने नहीं देती
(र) जो विकट परिस्थितियों में
(ल) बल्कि अटल विश्वास के स्फुरण से
(व) थके-हारे व्यक्ति के विश्वास
(6) जीवन जीने की कला सिखाती है  

(a) व ल र य              (b)  य ल व र                 (c)  ल र व य     
(d) र व य ल              (e) इनमें से कोई नहीं   

S11. Ans. (d)    
Sol.  यह आस्था ही है जो विकट परिस्थितियों में थके-हारे व्यक्ति के विश्वास को टूटने नहीं देती बल्कि अटल विश्वास के स्फुरण से जीवन जीने की कला सिखाती है।  

Q12. (1) मोबाइल और लैपटॉप को
(य) युवा वर्ग जितना कनफ्यूज्ड है
(र) घूमता रहता आज का
(ल) हर वक्त अपनी
(व) आँखों के सामने रखे
(6) उतना इतिहास में कभी नहीं था।   

(a) ल व र य                (b)  व य ल र                 (c) ल य व ल   
(d) य व र ल                (e) इनमें से कोई नहीं 

S12. Ans. (a)  
Sol.   मोबाइल और लैपटॉप को हर वक्त अपनी आँखों के सामने रखे घूमता रहता आज का युवा वर्ग जितना कनफ्यूज्ड है उतना इतिहास में कभी नहीं था। 
  
Q13.  (1) जमींदारी व्यवस्था खत्म कर
(य) किसानों में जमीन बाँटने और बिना
(र) का काम उपनिवेशवाद ने
(ल) समान नागरिकता देने
(व) किसी भेदभाव के सभी को
(6) नहीं, राष्ट्रवाद ने किया

(a) ल र व य              (b)   य व ल र                (c)     य ल व र 
(d)  व य ल र               (e) इनमें से कोई नहीं 

S13. Ans. (b)  
Sol.   जमींदारी व्यवस्था खत्म कर किसानों में जमीन बाँटने और बिना किसी भेदभाव के सभी को समान नागरिकता देने का काम उपनिवेशवाद ने नहीं, राष्ट्रवाद ने किया।     

Q14. (1) अंग्रेजी शासन कायम 
(य) तौर-तरीके से गाँव के लोग
(र) सूत्रपात हुआ उसके
(ल) बिल्कुल अपरिचित थे। इसीलिए
(व) होने के बाद जिस नई न्याय-प्रणाली का
(6) अदालतों से उन्हें न्याय नहीं मिल पाता था। 

(a) ल व य र              (b)  व ल य र                 (c) र य ल व       
(d)  व र य ल              (e) इनमें से कोई नहीं 

S14. Ans. (d)       
Sol.  अंग्रेजी शासन कायम होने के बाद जिस नई न्याय-प्रणाली का सूत्रपात हुआ उसके तौर-तरीके से गाँव के लोग बिल्कुल अपरिचित थे। इसीलिए अदालतों से उन्हें न्याय नहीं मिल पाता था।    
  
Q15.  (1) भारतीय सभ्यता की एक विशेषता   
(य) किंतु आचार-विचार, रहन-सहन
(र) में समरूपता लाने की गंभीर
(ल) की जातिगत श्रेणियाँ तो थीं
(व) यह रही है कि इसमें ऊँच-नीच
(6) कोशिश कभी नहीं की गई।   
(a)    य र ल व           (b) व य ल र                  (c)  व ल य र     
(d)      ल व र य            (e) इनमें से कोई नहीं 
 
S15. Ans. (c)   
Sol.   भारतीय सभ्यता की एक विशेषता यह रही है कि इसमें ऊँच-नीच की जातिगत श्रेणियाँ तो थीं किंतु आचार-विचार, रहन-सहन में समरूपता लाने की गंभीर कोशिश कभी नहीं की गई।