Hindi Quiz for IBPS RRB Mains:12th july 2018



Directions (1-10): नीचे दिए गए प्रत्येक परिच्छेद में कुछ रिक्त स्थान छोड़ दिए गए हैं तथा उन्हें प्रश्न संख्या से दर्शाया गया है। ये संख्याएँ परिच्छेद के नीचे मुद्रित हैं, और प्रत्येक के सामने (a), (b), (c), (d) और (e) विकल्प दिए गए हैं। इन पाँचों में से कोई एक इस रिक्त स्थान को पूरे परिच्छेद के संदर्भ में उपयुक्त ढंग से पूरा कर देता है। आपको वह विकल्प ज्ञात करना है और उसका क्रमांक ही उत्तर के रूप में दर्शाना है। आपको दिए गए विकल्पों में से सबसे उपयुक्त का चयन करना है।  
गोस्वामी तुलसीदास न केवल हिन्दी के वरन् ….(41)… भारत के सर्वश्रेष्ठ कवि एवं विचारक माने जा सकते हैं। महाकवि अपने युग का ज्ञापक एवं निर्माता होता है। इस कथन की …..(42)….. गोस्वामी जी की रचनाओं से सवा सोलह आने होती है। जहां संसार के अन्य कवियों ने साधु-महात्माओं के सिद्धांतों पर आसीन होकर अपनी कठोर साधना या तीक्ष्ण …..(43)….. तथा घोर धार्मिक कट्टरता या सांप्रदायिक असहिष्णुता से भरे बिखरे छंद कहे हैं और अखंड ज्योति की कौंध में कुछ रहस्यमय, धुंधली और अस्फुट रेखाएं अंकित की हैं अथवा लोक-मर्मज्ञ की हैसियत से सांसारिक …..(44)…… के तप्त या शीतल एकांत चित्र खींचे हैं, जो धर्म एवं अध्यात्म से सर्वथा उदासीन दिखाई देते हैं, वहीं गोस्वामीजी ही ऐसे कवि हैं, जिन्होंने इन सभी के नानाविध ….(45)….को एक सूत्र में गुफित करके अपना अनुपमेय …..(46)…. उपहार प्रदान किया है। उसकी दीनावस्था से द्रवीभूत होकर एक संत-महात्मा ने उसे राम की भक्ति का उपदेश दिया। उस बालक ने बाल्यकाल में ही उस महात्मा की कृपा और गुरु-शिक्षा से विद्या तथा रामभक्ति का अक्षय भंडार प्राप्त कर लिया। इसके पश्चात् साधुओं की मंडली के साथ, उसने ……(47)….करके प्रत्यक्ष ज्ञान प्राप्त किया। गोस्वामी जी की साहित्यिक …..(48)….. के आधार पर कहा जा सकता है कि वे आजन्म वही रामगुण -गायक बने रहे जो वे बाल्यकाल में थे। इस रामगुण गान का सर्वोत्कृष्ट रुप में अभिव्यक्त करने के लिए उन्हें संस्कृत-साहित्य का अगाध …….(49)….. प्राप्त करना पड़ा। रामललानहछू, वैराग्य-संदीपनी और रामाज्ञा-प्रश्न इत्यादि रचनाएं उनकी प्रतिभा के प्रभातकाल की सूचना देती हैं। इसके अनंतर उनकी प्रतिभा रामचरितमानस के रचनाकाल तक पूर्ण उत्कर्ष को प्राप्त कर ज्योतिर्मान हो उठी। उनके जीवन का वह व्यावहारिक ज्ञान, उनका वह कला-प्रदर्शन का पांडित्य जो मानस, गीतावली, कवितावली, दोहावली और विनयपत्रिका आदि में ……..(50)……. होता है, वह अविकसित काल की रचनाओं में नहीं है। 
Q1.
(a) उत्तर                        
(b) दक्षिण                  
(c) प्राचीन 
(d) असभ्य                   
(e) इनमें से कोई नहीं

Q2. 
(a) युक्ति                      
(b) पुष्टि            
(c) नियुक्ति   
(d) सृष्टि                       
(e) इनमें से कोई नहीं

Q3.
(a) निंदा                         
(b) प्रशंसा                     
(c) अनुभूति 
(d) ग्लानि                                
(e) इनमें से कोई नहीं

Q4. 
(a) अभिव्यक्ति              
(b) जीवन               
(c) तृष्णा   
(d) लोभ                      
(e) इनमें से कोई नहीं

Q5. 
(a) भावों                   
(b) अभावों                 
(c) अनुभवों 
(d) अभिमानों             
(e) इनमें से कोई नहीं

Q6. 
(a) प्राकृतिक                        
(b) सांसारिक                        
(c) साहित्यिक 
(d)  आध्यात्मिक   
(e) इनमें से कोई नहीं

Q7. 
(a) सेवा                   
(b) पुरुषार्थ                    
(c)  कर्म                 
(d) देशाटन                     
(e) इनमें से कोई 

Q8. 
(a) जीवनी                    
(b) रचनाएँ               
(c) कृतियों 
(d)  उत्कृष्टता                
(e) इनमें से कोई नहीं

Q9.    
(a) परिश्रम                  
(b) पांडित्य          
(c) अनुभव
(d) लालित्य                  
(e) इनमें से कोई नहीं

Q10.   
(a) उपेक्षित                    
(b)  परिलक्षित          
(c) सुशोभित 
(d)  चरणबद्ध                       
(e) इनमें से कोई नहीं

Directions (11-15): नीचे दिया गया प्रत्येक वाक्य चार भागों में बांटा गया है। जिन्हें (a),(b), (c)और (d) विकल्प  दिए गए हैं। आपको यह देखना है कि वाक्य के किसी भाग में व्याकरण, भाषा, वर्तनी, शब्दों के गलत प्रयोग या इसी तरह की कोई त्रुटी तो नहीं है। त्रुटी अगर होगी तो वाक्य के किसी एक भाग में ही होगी। उस भाग का विकल्प ही उत्तर है। अगर वाक्य त्रुटीरहित है तो उत्तर (e) अर्थात् ‘दोष रहित’ दीजिए।
Q11. इक्कीसवीं सदी के शुरुआती वर्ष (a)/ तक ग्रामीण भारत को शहरों की तुलना में (b)/ काफी पिछड़ा माना जाता था, (c)/ जहाँ सीमित अवसर एवं संसाधन उपलब्ध् थे। (d)/दोष रहित (e)

Q12. इस बात से कोई इन्कार (a)/ नहीं करता कि भारत अपनी (b)/ भौगोलिक एकता के चलते प्राकृतिक संसाधनों की दृष्टि से (c)/ हमेशा से ही धनी देश रहा है। (d)/दोष रहित (e)
Q13. शेयर बाजार संगठित बाजार होते हैं (a)/जिनके अपने नीति-नियंता होते हैं (b)/जो निवेशकों तथा शेयर धारकों के हितों को (c)/ सुरक्षा प्रदान करने में सहायता करते हैं। (d)/ दोष रहित (e)
Q14. भारत में संविधान ने सभी (a)/ वयस्क नागरिकों को (b)/ बिना किसी भेदभाव का (c)/ मताधिकार दिया है। (d)/ दोष रहित (e)
Q15. नारी देश की आधी (a)/ आबादी है इसलिए (b)/समाज की प्रगति नारी की (c)/ अपेक्षा करके नहीं हो सकती है। (d)/ दोष रहित (e)


उत्तर

S1. Ans. (a): गोस्वामी तुलसी दास के काव्य का प्रभाव ‘उत्तर’ भारत में अधिक रहा है। 
S2. Ans. (b): किसी भी कथन की ‘पुष्टि’ की जाती है न कि युक्ति, नियुक्ति या सृष्टि। 
S3. Ans. (c): यहाँ निंदा, प्रशंसा और ग्लानि की अपेक्षा संदर्भ के अनुरूप ‘अनुभूति’ शब्द आएगा क्योंकि यहाँ कठोर साधना का पर्याय तीक्ष्ण अनुभूति है। 
S4 Ans. (b): यहाँ सांसारिक के साथ ‘जीवन’ शब्द आएगा क्योंकि जीवन में ही तप्त और शीतल अर्थात सुख और दुःख आते हैं।  
S5. Ans. (a): यहाँ ‘भावों ‘ शब्द आएगा क्योंकि नानाविध अर्थात विभिन्न भावों को एक सूत्र में गुंफित किया जा रहा है।   
S6. Ans. (c): गोस्वामी तुलसीदास साहित्य से जुड़े हुए व्यक्ति थे इस लिए  वह ‘साहित्यिक’  उपहार ही दे सकते हैं।
S7. Ans. (d): ‘देशाटन’ का अर्थ है भ्रमण करना या घूमना है, अर्थात साधुओं की मंडली के साथ देशाटन पर निकले।  
S8. Ans. (a): यहाँ ‘जीवनी’ शब्द उपयुक्त है क्योंकि तुलसीदास बाल्यकाल से आजन्म रामभक्त रहे।  
S9. Ans. (b):इस वाक्य में अगाध का अर्थ होता है असीमित और पांडित्य का अर्थ होता है किसी विषय का ज्ञान, अर्थात तुलसीदास ने संस्कृत का असीमित ज्ञान या अगाध पांडित्य प्राप्त करना पड़ा। 
S10. Ans. (b): ‘परिलक्षित’ का अर्थ है उद्घाटित होना, वर्णित होना या निर्मित होना, अर्थात तुलसीदास की रचनाओं में उनका पांडित्य परिलक्षित होता है।   

S11. Ans. (a) वाक्य खंड (a) में प्रयुक्त ‘वर्ष’ के स्थान पर ‘वर्षो’ का प्रयोग उपयुक्त होगा।
S12. Ans. (c) वाक्य खंड (c)में प्रयुक्त ‘एकता’ के स्थान पर ‘विविधता’  का प्रयोग उपयुक्त होगा।
S13. Ans. (b)वाक्य खंड (b)में प्रयुक्त ‘नियंता’ के स्थान पर ‘नियामक’ का प्रयोग उपयुक्त होगा।  
S14. Ans. (c) वाक्य खंड (c) में प्रयुक्त ‘का’ के स्थान पर ‘के’ का प्रयोग होगा।
S15. Ans. (d)वाक्य खंड (d)में प्रयुक्त ‘अपेक्षा’ के स्थान पर ‘उपेक्षा’ का प्रयोग होगा।