UPSC Full Form in Hindi: यूपीएससी का मतलब क्या होता है? इसके कार्य और सम्बंधित जानकारी

UPSC Full Form in Hindi: यूपीएससी का मतलब क्या होता है? इसके कार्य और सम्बंधित जानकारी

UPSC Full Form
The full form of UPSC is Union Public Service Commission. UPSC Full Form

 What Is UPSC ?- UPSC Full Form |  What is UPSC Full Form? History, Functions And UPSC Jobs UPSC Full Form - Union Public Service Commission -यूपीएससी का फुल फॉर्म : जानें UPSC Full Form हिंदी में

UPSC Full Form in Hindi :-  UPSC का  full form  संघ लोक सेवा आयोग या Union Public Service Commission है. UPSC अखिल भारतीय सेवाओं, केंद्रीय सेवाओं और संवर्गों के साथ-साथ भारतीय संघ के सशस्त्र बलों के लिए भर्ती प्रक्रिया को आयोजित करता है. UPSC एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो भारत की केंद्र और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओं में भर्ती के लिए जिम्मेदार है. UPSC Exam भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है. 


क्या है UPSC?

यूपीएससी Level A  और Level B  कर्मचारियों की भर्ती के लिए एक स्वतंत्र संगठन(independent organization) है. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की स्थापना 1 अक्टूबर, 1926 को हुई थी. UPSC की ऑफिसियल वेबसाइट https://www.upsc.gov.in/ है. UPSC का मुख्यालय नई दिल्ली में है. UPSC देश में हर साल सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है. इस लेख में यूपीएससी के तहत आने वाले पदों के full form और उससे सम्बंधित जानकारी हम देंगे. 


UPSC Revised Calendar 2021:-Download PDF Here


UPSC Ka Full Form-

यूपीएससी परीक्षा का अर्थ: UPSC का पूर्ण रूप संघ लोक सेवा आयोग है।
(UPSC Exam Meaning:  The full form of the UPSC is Union Public Service Commission.)


UPSC के तहत आने वाले पद -Posts under UPSC

UPSC अर्थात Union Public Service Commission के चयनित उम्मीदवार भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS) और भारतीय राजस्व सेवा (IRS),  भारतीय विदेश सेवा (IFS) आदि पदों पर भर्ती किये जाते हैं.  UPSC   level A और Level B officers की विभिन्न क्षेत्रों में भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन करता है. UPSC हर साल सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है. 

यूपीएससी केंद्र और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओं के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा आयोजित करता है। (UPSC conducts a National Level Exam for 24 services under the Central & State Government of India.)


BANKING AWARENESS TOPICS IN HINDI

UPSC के कार्य - Functions of UPSC

संविधान के अनुच्छेद 320 के तहत अन्‍य बातों के साथ-साथ सिविल सेवाओं तथा पदों के लिए भर्ती संबंधी सभी जिम्मेदारियां आयोग के पास है, ऐसे किसी भी मामले में योग का परामर्श लिया जाना अनिवार्य होता है. संविधान के अनुच्छेद 320 के अंतर्गत UPSC के प्रकार्य इस प्रकार हैं:

  • संघ के लिए सेवाओं में नियुक्‍ति हेतु परीक्षा आयोजित करना
  • साक्षात्‍कार द्वारा चयन से सीधी भर्ती
  • प्रोन्‍नति/ प्रतिनियुक्‍ति/ आमेलन द्वारा अधिकारियों की नियुक्‍ति
  • सरकार के अधीन विभिन्‍न सेवाओं तथा पदों के लिए भर्ती नियम तैयार करना तथा उनमें संशोधन
  • विभिन्‍न सिविल सेवाओं से संबंधित अनुशासनिक मामले
  • भारत के राष्‍ट्रपति द्वारा आयोग को प्रेषित किसी भी मामले में सरकार को परामर्श देना


LBSNAA Full Form : लबसना (LBSNAA) क्या है, क्या है इसका उद्देश्य

UPSC Exam Posts Full Form : UPSC परीक्षा पदों के फुल फॉर्म

Post Full Form
IAS Indian Administrative Service
भारतीय प्रशासनिक सेवा
IPS  Indian Police Service
भारतीय पुलिस सेवा
IFS  Indian Foreign Service 
भारतीय विदेश सेवा
IRS Indian Revenue Service
भारतीय राजस्व सेवा





UPSC द्वारा आयोजित कुछ परीक्षाएँ इस प्रकार हैं: -
  • Indian Forest Service examination
  • Combined Defence Services Examination
  • Engineering Services Examination
  • National Defence Academy Examination
  • Naval Academy Examination
  • Combined Medical Services Examination
  • Special Class Railway Apprentice
  • Indian Economic Service/Indian Statistical Service Examination
  • Combined Geoscientist and Geologist Examination
  • Central Armed Police Forces (Assistant Commandant)

 

हर साल लाखों उम्मीदवार UPSC परीक्षा के लिए उपस्थित होते हैं. स्टूडेंट्स के बीच यह काफी लोकप्रिय परीक्षा है, जिसका कारण अच्छा वेतन लाभ और सम्मानजनक पद है. 


UPSC भर्ती प्रक्रिया 

UPSC परीक्षा में तीन चरण होते हैं Prelims, Mains, और personality tests

UPSC Prelims Exam pattern:-

Paper Type No. of questions Marks Duration
General Studies I Objective 100 200 2 hours
General Studies II (CSAT) Objective 80 200 2 hours


प्रीलिम्स परीक्षा प्रकृति में एक qualifying चरण है, प्रीलिम्स में प्राप्त अंकों को अंतिम मेरिट सूची में नहीं गिना जाता है. प्रीलिम्स परीक्षा में दोनों पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार के होते हैं. सामान्य अध्ययन II (CSAT) का पेपर प्रकृति में qualifying होता है, आपको दूसरे पेपर को उत्तीर्ण करने के लिए 33% अंक प्राप्त करने होते हैं, प्रीलिम्स परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी होती है. प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 अंक प्राप्त अंको से  कम कर लिए जायेंगे. 

UPSC Exam pattern for Mains:- 
UPSC Mains परीक्षा में 9 पेपर होते हैं, जो उम्मीदवार प्रीलिम्स परीक्षा उत्तीर्ण करते हैं, वे मेंस परीक्षा के लिए उपस्थित हो सकते हैं. मेंस परीक्षा के सभी पेपर  वर्णनात्मक प्रकार(descriptive types) के होते हैं. दो भाषा के पेपर प्रकृति में qualifying होते हैं. यूपीएससी मेन्स परीक्षा 5-7 दिनों की अवधि में आयोजित की जाती है, पेपर A और B क्वालिफाइंग प्रकृति के होते हैं, उम्मीदवारों को अपने पेपर I  से पेपर VII तक प्रत्येक में कम से कम 25% स्कोर करना चाहिए.


UPSC Interview:- 
साक्षात्कार UPSC परीक्षा का अंतिम चरण है. मेरिट लिस्ट साक्षात्कार / व्यक्तित्व परीक्षण और मेन्स परीक्षा के अधर पर तैयार की जाती है. साक्षात्कार चरण के लिए आवंटित अधिकतम अंक 275 हैं, इस प्रकार मेरिट सूची के लिए कुल अंक 2025 हैं. साक्षात्कारकर्ता(Interviewer) general interest के प्रश्न पूछकर छात्र के मानसिक और social traits का न्याय करेगा. कुछ गुण जो वे खोजते हैं वे mental alertness, critical powers of assimilation, clear and logical exposition, a balance of judgment, variety, and depth of interest, leadership, intellectual और moral integrity है. 


इन्हें भी पढ़ें :