What is aadhar : जानें UIDAI के बारे में सब कुछ, आधार कार्ड से सम्बंधित पूरी जानकारी

What is aadhar : जानें UIDAI के बारे में सब कुछ, आधार कार्ड से सम्बंधित पूरी जानकारी





Aadhar वर्तमान समय में सबसे  important document में से एक है और आज के समय में बहुत अनिवार्य है. आधार कार्ड में आधार संख्या 12 अंकों की संख्या होती है. किसी व्यक्ति से सम्बंधित सभी information Aadhar card में होती है. किसी भी सरकारी सुविधा या सरकारी योजना का लाभ उठाने के लिए आज के समय में आधार कार्ड होना जरुरी है. यह एक powerful instruments है और इसे बेहतर बनाने के लिए, reliable और relevant बनाने के लिए इसमें समय पर बदलाव किए गए हैं. आधार कार्ड पर इस समय टैग लाइन "मेरा आधार, मेरी पहचान" है, इससे पहले "मेरा आधार, मेरी पेहचान" tagline थी. इस लेख में आधार और उससे सम्बंधित तथ्यों की चर्चा करेंगे. 

यह भी देखें -




UIDAI : क्या है भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण?

Unique Identification Authority of India (UIDAI) एक वैधानिक निकाय है जिसकी स्‍थापना भारत सरकार द्वारा आधार (वित्तीय और अन्य सब्सिडी, लाभ और सेवा के Targeted Delivery) अधिनियम, 2016 के प्रावधानों के तहत इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) के तहत दिनांक 12 जुलाई, 2016 को की गई. 

एक सांविधिक प्राधिकरण के रूप में अपनी स्‍थापना से पूर्व भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण  (यूआईडीएआई) तत्‍कालीन योजना आयोग (अब नीति आयोग) राजपत्र अधिसूचना संख्‍या ए-43011/02/2009-एडमिन-1 दिनांक 28 जनवरी, 2009 के तहत् इसके एक सम्‍बद्ध कार्यालय के रूप में कार्य कर रहा था. बाद में सरकार द्वारा सरकारी कार्य आवंटन नियमों में संशोधन करके 12 सि‍तम्‍बर, 2015 को UIDAI को तत्‍कालीन सूचना और प्रौद्योगिकी विभाग (DeitY) के साथ सम्‍बद़ध कर दिया गया.


Formation Of UIDAI : यूआईडीएआई का गठन

सरकार ने यूआईडीएआई की स्थापना भारत के सभी निवासियों के लिए Unique Identification numbers या विशिष्ट पहचान संख्या (UID) जारी करने के उद्देश्य से की, जिसका नाम आधार है
(a) आधार नकली और नकली पहचान को खत्म करने के लिए पर्याप्त मजबूत होगा, और
(b) आधार को एक आसान, लागत प्रभावी तरीके से सत्यापित और प्रमाणित किया जा सकता है.
इस उद्देश्य के साथ, पहला यूआईडी नंबर 29 सितंबर 2010 को महाराष्ट्र के नंदुरबार के निवासी को जारी किया गया था.  भारत के निवासियों के लिए अब तक 121 करोड़ आधार नंबर जारी किए जा चुके हैं

यह भी पढ़ें - 



    Aadhaar Act 2016: आधार अधिनियम 2016 क्या है?

    आधार अधिनियम 2016 यह बताता है कि आधार नामांकन और प्रमाणीकरण के लिए UIDAI जिम्मेदार है, जिसमें आधार संख्या जारी करने से लेकर व्यक्तियों को आधार संख्या जारी करने और प्रमाणीकरण करने के लिए आधार जीवन चक्र( Aadhaar life cycle) के सभी चरणों के संचालन और प्रबंधन सहित, प्रमाणीकरण करना और सुरक्षा सुनिश्चित करना भी आवश्यक है. व्यक्तियों की पहचान जानकारी और प्रमाणीकरण रिकॉर्ड सभी के लिए जिम्मेदार UIDAI  है. 

    UIDAI Organizational Structure: संगठनात्मक संरचना

    यूआईडीएआई का मुख्यालय नई दिल्ली में है और देश भर में आठ क्षेत्रीय कार्यालय (ROs) हैं. दो डेटा सेंटर हैं, एक हेब्बल (बेंगलुरु), कर्नाटक और दूसरा मानेसर (गुरुग्राम), हरियाणा में है. 

    Current Affairs: For All Banking Exams

    Features of Aadhaar - आधार की विशेषताएं

    आधार की कुछ विशेषताएं नीचे दी गई हैं:
    • अद्वितीयता(Uniqueness)
    • पोर्टेबिलिटी(Portability)
    • रेण्‍डम संख्या(andom Number)
    • स्केलेबल प्रौद्योगिकी संरचना(Scalable Technology Architecture)
    • ओपन स्रोत प्रौद्योगिकियां (Open Source Technologies)

    Click Here to Register for Bank Exams 2020 Preparation Material


     Achieversadda.com पर जाएं और अन्य एस्पिरेंट्स और अचीवर्स के साथ चर्चा में भाग लें. अपने प्रश्नों के उत्तर प्राप्त करें और Achieversadda.com पर दूसरों से जुड़ें

    नोटिफिकेशन, रिक्तियों, पात्रता, परीक्षा पैटर्न, पाठ्यक्रम और आगामी बैंक और बीमा परीक्षाओं से संबंधित सभी अपडेट देखें:


    SBI PO 2020IBPS PO 2020SBI Clerk 2020IBPS Clerk 2020
    RBI Grade B 2020RBI Assistant 2020IBPS RRB 2020SEBI Grade A 2020