Bank Exam 2020 : क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन के लिए Important Concepts और बेस्ट स्ट्रेटेजी

Bank Exam 2020 : क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन के लिए Important Concepts और बेस्ट स्ट्रेटेजी


How to prepare for Quantitative Aptitude for Bank Exams 

बैंकिंग परीक्षाओं में हर साल लाखों स्टूडेंट्स बैठते हैं जिनमें से कुछ हजार स्टूडेंट्स ही फाइनल मेरिट लिस्ट में अपनी जगह बना पाते है. ऐसे में अगर आप स्टूडेंट्स में है जो बैंकिंग सेक्टर में जॉब करना चाहते हैं, तो आपको उन लाखों स्टूडेंट्स को पीछे छोड़ना होगा जो आपके साथ बैंकिंग परीक्षाओं में बैठने वाले हैं. इसके  लिए सबसे जरुरी है बैंकिग परीक्षाओं का Structure समझना. देश में होने वाली लगभग सभी बैंकिंग परीक्षाओं का  पैटर्न लगभग एक जैसा होता है. जिसमें English, रीजनिंग और क्वांट सेक्शन मुख्य रूप से होते हैं. इसके साथ ही जनरल अवेयरनेस का सेक्शन भी होता है जो अधिकांश बैंकिंग परीक्षाओं की मेंस परीक्षा में पूछा जाता है.


क्वांट या गणित लगभग सभी बैंकिग परीक्षाओं के लिए बहुत important सेक्शन है. जो बैंकिंग परीक्षाओं के प्रीलिम्स और मेंस दोनों चरणों में पूछा जाता है. इसके साथ ही यह High Scoring है. पर बहुत से स्टूडेंट्स को यह सेक्शन बहुत परेशान करता हैं. संख्यात्मक अभियोग्यता एक ऐसा सेक्शन है, जिसमें पकड़ बनानी थोड़ा मुश्किल है, अगर आप नियमित अभ्यास करते हैं और तो यह और आसान हो जायेगा. आज हम यहाँ बताएँगे कि आप इस सेक्शन में कैसे अच्छा स्कोर कर सकते हैं. आपको यह याद रखना चाहिए कि इस सेक्शन में बिना अच्छा स्कोर किये आप बैंकिंग परीक्षाओं को क्रैक नहीं कर सकते हैं. Adda247 यहाँ क्वांट के  लिए complete strategy और Concepts लेकर आये हैं. जिसके माध्यम से हम बताएँगे कि आप मेंस और प्रीलिम्स परीक्षा में इस सेक्शन को कैसे क्रैक कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें -

क्वांट सेक्शन में कैसे करें High Score 

बैंकिंग परीक्षाओं को देखते हुए यह सेक्शन बहुत महत्वपूर्ण है. इस सेक्शन में सक्सेस होने के लिए Speed और Accuracy  सबसे जरुरी है. Banking Exam में  इस सेक्शन के प्रश्नों की संख्या के मुकाबले समय बहुत कम दिया जाता है. इसके साथ ही इस सेक्शन में जटिल Calculation देखने को मिलता है, तो ऐसे में स्पीड आपकी Success के लिए Important Factor है.


टॉपिक वाइज स्ट्रेटेजी -  

क्वांट सेक्शन में अनेक टॉपिक्स है जिनसे प्रश्न पूछे जाते हैं. हम यहाँ बैंकिंग परीक्षाओं के लिए कुछ important topics के  लिए स्ट्रेटेजी बता रहे हैं -

डेटा विश्लेषण (DI)

बैकिंग परीक्षाओं में DI से प्रश्न जरुर पूछे जाते हैं. एक DI के सेट में 3 से 5 प्रश्न तक हो सकते हैं. इन प्रश्नों में कभी कभी जटिल कैलकुलेशन होता है इस लिए कैलकुलेशन में स्पीड अच्छी होनी बहुत जरुरी है. बैंकिंग परीक्षाओं में पूछी जाने वाली DI के प्रकार हैं -

  • Pie Chart
  • Line Chart
  • Bar Graph
  • Tabular Charts
  • Mixed Graphs
  • Funnel DI
  • Caselet DI
  • Mixed graph
  • Missing DI
बैंकिंग क्षेत्र में नए पैटर्न के अनुसार, DI के प्रश्न आम तौर पर निम्नलिखित विषयों पर आधारित होती हैं.
  • Average
  • Percentage
  • Ratios


DI हल करने की ट्रिक्स


  • परीक्षा में पूछे गए DI के प्रकार को समझें (पाई चार्ट, टेबल आधारित, बार ग्राफ, लाइन ग्राफ, रडार ग्राफ या मिसकैरेज)
  • फॉर्म डेटा की तुलना में समझा जाना चाहिए (चाहे सभी दिए गए या कुछ छूटे हुए या मिश्रित रूप जैसे प्रतिशत का उपयोग, सटीक मान)
  • सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़ें 
  • कैलकुलेशन पर ध्यान केंद्रित करें (तेज़ और कुछ समय सटीक मान की गणना करने की आवश्यकता नहीं है जैसे प्रतिशत प्रश्न या अनुपात प्रश्न)
  • कभी-कभी समय की बचत के रूप में विकल्पों का उपयोग करके उत्तर निकलना ज्यादा बेहतर होता है

संख्या श्रृंखला (नंबर सीरीज) -

नंबर सीरीज भी बैंकिंग परीक्षाओं की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है, जिसे कई तरह से पूछा जा सकता है जैसे Missing Number या Wrong Number Series आदि. इन प्रश्नों में नंबर एक पैटर्न में होते हैं. अगर आप उस पैटर्न को समझ जाते हैं तो आसानी से इन प्रश्नों को हल कर सकते हैं. इसके लिए आपको अधिक से अधिक इसका अभ्यास करना चाहिए, क्योंकि प्रैक्टिस से आप अधिक से अधिक तरह के पैटर्न के प्रश्न को समझ सकते हैं. 

सरलीकरण/ अनुमान (Simplification/ Approximation)

यह टॉपिक भी विभिन्न बैंकिंग परीक्षाओं में पूछा जाता है इसलिए इनकी तैयारी भी जरुरी है. ये  प्रश्न आम तौर पर आसान होते है जिनके लिए आप प्रैक्टिस करके पकड़ मजबूत कर सकते हैं. इन प्रश्नों को हल करने का  बेस्ट तरीका है कि आप दिए गए उत्तर के विकल्प को ध्यान में रख कर इन्हें हल करें. इससे यह प्रश्न ज्यादा आसानी से हल किये जा सकते हैं. 


अर्थमैटिक प्रॉब्लम

लाभ और हानि(Profit and Loss)

लाभ और हानि के प्रश्न हल करने के लिए इसके बेसिक concepts को समझना बहुत जरुरी हैं, हम यहाँ आपके बेसिक concepts को क्लियर करने के लिए कुछ सूत्र( Formulas) दे रहे हैं. जैसे

लाभ = विक्रय मूल्य - लागत मूल्य 
हानि = लागत मूल्य - विक्रय मूल्य
हानि% = हानि/(लागत मूल्‍य)×100
लाभ% = लाभ/(लागत मूल्‍य)×100
विक्रय मूल्‍य = (100+अभिलाभ % )/100 × लागत मूल्‍य
विक्रय मूल्‍य = (100-हानि %)/100× लागत मूल्‍य
लागत मूल्‍य = 100/(100+अभिलाभ %)× विक्रय मूल्‍य
लागत मूल्‍य = 100/(100-हानि %)× विक्रय मूल्‍य
छूट = अंकित मूल्‍य – विक्रय मूल्‍य
छूट %, D% =  (छूट) / (अंकित मूल्‍य)×100 


प्रतिशत - 

अंकगणित में प्रतिशत से भी प्रश्न पूछे जाते हैं. प्रतिशतता का अर्थ है प्रति सौ में, जब हम कहतें है एक संख्या का  50% इसका अर्थ है कि संख्या का आधा. इसी प्रकार, एक संख्या के 25% का अर्थ है उसका एक-चौथाई ; संख्या का 20% मतलब संख्या का 1/5, 16.67% का मतलब है संख्या का 1/6 आदि . इसलिए प्रतिशत हिस्सा या एक नंबर के अंश को इंगित करता है. अगर आप इसके बेसिक Concepts को क्लियर करने के बाद ट्रिक्स का प्रयोग करेंगे तो आसानी से इसके उत्तर दे सकेंगे.


औसत(Average) -  

औसत के प्रश्नों में दिए गए डाटा के अनुसार प्रश्नों को हल करना होता हैं. जिसमें आपको औसत निकलना होगा. औसत का मूल सूत्र है -
संख्‍याओं का औसत = (सभी संख्याओं का योग / कुल अंकों की संख्या)


ऐसे ही हम आपकी मदद के लिए विभिन्न टॉपिक्स के लिए महत्वपूर्ण सूत्र यहाँ दे रहे हैं जिनकी मदद से आप अपने basic concepts क्लियर कर सकते हैं. 

कार्य और समय(Work and time)

यदि A किसी कार्य को x दिनों में पूरा कर सकता है,

  • तो एक दिन में  A का कार्य = 1/x

यदि A, B से x गुना तेजी से कार्य करता है

  • तो A: B द्वारा व्‍यक्‍तिगत रुप से किए गए कार्य का अनुपात = x: 1
  • कार्य समाप्‍त करने में A: B द्वारा व्‍यक्‍तिगत रुप से लिये गए समय का अनुपात = 1: x


चाल, दूरी और समय(Speed, distance and time) -

इसका मूल सूत्र है -

  • चाल = दूरी/समय 


साधारण व चक्रवृद्धि ब्याज(Simple and compound interest)

साधारण ब्याज 
मान लीजिये मूलधन= P, दर = r % प्रति वर्ष (p.a.), और समय  = t वर्ष तो

  • साधारण ब्याज (SI)= ((P×r×t))/100


चक्रवृद्धि ब्याज 
P = मूलधन (प्रारम्भ में लिया/दिया/जमा किया गया धन)
r = ब्याज की वार्षिक दर (दस प्रतिशत ब्याज दर के लिये r=०.१०)
n = एक वर्ष में कुल ब्याज-चक्रों की संख्या
t = कुल समय (वर्ष में)
A = t समय बाद मिश्रधन


  • तो चक्रवृद्धि ब्याज



इसके आलावा साझेदारी(Partnership), क्रमचय और संचय(ranking and order) और प्रायिकता(probability) आदि के भी प्रश्न पूछे जाते हैं.


Click Here to Register for Bank Exams 2020 Preparation Material


Practice With,