IBPS क्लर्क 2019: विस्तृत पाठ्यक्रम यहाँ देखें




बैंकिंग क्षेत्र में भर्ती के लिए IBPS प्रति वर्ष भर्ती कई परीक्षाओं के आयोजन करता है। जिसमें उम्मीदवारों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती है। IBPS क्लर्क परीक्षा भारत भर के उम्मीदवारों के बीच IBPS द्वारा आयोजित सबसे अधिक मांग वाली परीक्षा हैं। इस साल IBPS क्लर्क आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार IBPS द्वारा भर्ती के लिए कुल 12075 रिक्तियां जारी की गई है। प्रीलिम्स दिसंबर 2019 में आयोजित होने जा रही है, इसलिए इस समय अब पूरी तरह तैयारी पर ध्यान केन्द्रित करने की आवश्यकता है। आलस्य और अन्य कमियों को छोड़ कर आईबीपीएस क्लर्क परीक्षा के लिए अभी से अपनी पूरी ताकत झोंक दीजिये। किसी भी परीक्षा में पहला कदम है उसके विस्तृत सिलेबस को समझना। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आईबीपीएस  ने आधिकारिक तौर पर आईबीपीएस क्लर्क परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम अभी तक जारी नहीं किया है, फिर भी हम पिछले वर्षों के पाठ्यक्रम को देख कर अंदाजा लगा सकते हैं कि पाठ्यक्रम विशाल और जटिल होगा। इस परीक्षा के प्रश्नों का स्तर काफी जटिल होता है, जिसकी वजह है कि आईबीपीएस उम्मीदवार की पूरी क्षमता का को जानना चाहता है।

हम सभी जानते हैं कि आईबीपीएस, भारतीय स्टेट बैंक की परीक्षा प्रक्रिया का अनुसरण करता है जिसमें पिछले वर्षों की तुलना में इस वर्ष काफी अधिक बदलाव देखने को मिला है, इसलिए इसमें भी बदलाव देखने को मिल सकता है। आपको इस परीक्षा के लिए अपना सौ प्रतिशत प्रदर्शन करना होगा और अभी से परीक्षा को गंभीरता से लेना होगा, तभी सफलता प्राप्त होगी।  IBPS क्लर्क का सिलेबस काफी समय से एक ही रहता है परन्तु प्रश्नों के प्रकार में बदलाव किये जाते हैं। प्रत्येक वर्ष परीक्षा का स्तर बढ़ता जा रहा है, प्रश्नों को और जटिल बनाने का प्रयास किया जा रहा है। अगर आप भी इस परीक्षा के लिए तैयार करना चाहते है या कर रहे हैं तो IBPS क्लर्क संपूर्ण सिलेबस यहां देखें।


IBPS क्लर्क परीक्षा पाठ्यक्रम 2019


उम्मीदवारों के लिए आईबीपीएस क्लर्क पाठ्यक्रम के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना महत्वपूर्ण है। विस्तृत सिलेबस जानने से आपको प्रत्येक विषय को समझने और उसकी तैयारी करने में मदद मिलेगी और आप अपनी तैयारी के लिए पूरा प्लान बना सकेंगे। आईबीपीएस क्लर्क परीक्षा को कैसे क्रैक करने के लिए सबसे ज्यादा आवश्यक है की आप अपने कमजोर बिंदुओं पर काम करें। यहां IBPS CLERK EXAM 2019 Kका विस्तृत पाठ्यक्रम दिया जा रहा है।


IBPS क्लर्क 2019 प्रीलिम्स परीक्षा सिलेबस 

IBPS क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा में अंग्रेजी भाषा, तार्किक योग्यता और संख्यात्मक अभियोग्यता के तीन सेक्शन हैं। DI(आकड़ों का विश्लेषण) सांख्यकी का महत्वपूर्ण विषय है वहीं रीज़निंग में पज़ल सबसे महत्वपूर्ण विषय माना जाता है। उपरोक्त दोनों विषयों पर अभ्यर्थियों को सबसे ज्यादा ध्यान केन्द्रित करने की आवश्यकता है क्योंकि यह दोनों परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए सबसे ज्यादा अवश्यक हैं। अंग्रेजी सेक्शन में Reading comprehension से 7-8 प्रश्न होते हैं। आईबीपीएस क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा 2019 में भी एक या दो रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन का सेट हो सकता है।


S. No.SubjectSyllabus
1.English Language
Reading comprehension, Fillers (Double fillers, Multiple Sentence Fillers, Sentence Fillers), New Pattern Cloze Test, Phrase Replacement, Odd Sentence Out cum Para Jumbles, Inference, Sentence Completion,Connectors, Paragraph Conclusion, Phrasal Verb Related Questions, Error Detection Questions, Word usage/ Vocab Based Questions.

2.तार्किक क्षमता 
पज़ल्स, बैठक व्यवस्था, दिशा निर्देश, रक्त सम्बन्ध, न्याय, ऑर्डर और रैंकिंग, कोडिंग-डिकोडिंग, मशीन इनपुट-आउटपुट, असमानता, अल्फा-न्यूमेरिकल-सिंबल सीरीज़, डाटा एफिशिएंसी, अल्फबेल रिलेटेड प्रश्न ।

3.संख्यात्मक अभियोग्यता 
डाटा एफिशिएंसी, मात्रात्मक योग्यता, आकड़ों का विश्लेषण या DI ( बार ग्राफ, लाइन चार्ट, टेबुलर, केसलेट, रडार/वेब, पाई चार्ट), असमानता(द्विघातीय समीकरण), नम्बर सीरीज, अनुमान और साधारणीकरण, डाटा पर्याप्तता, विविध अंकगणितीय समस्याएं (HCF और LCM, लाभ और हानि, SI और CI, युगों की समस्या, कार्य और समय, गति-दूरी और समय, संभावना, क्षेत्रमाप, क्रमपरिवर्तन और संयोजन, औसत, अनुपात और प्रगति, भागीदारी, नाव और धारा से सम्बंधित समस्याएं, ट्रेनों की समस्या, मिश्रण और आरोप, पाइप और टंकी)।


IBPS क्लर्क मेंस परीक्षा सिलेबस 2019


IBPS क्लर्क प्रीलिम्स और IBPS क्लर्क के लिए पाठ्यक्रम अगभाग समान हैं। मुख्य परीक्षा में एक अन्य विषय सामान्य जागरूकता के रूप में जोड़ा गया है। इसके अतिरिक्त अन्य विषयों में एक-दो टॉपिक और जोड़े गएँ हैं उम्मीदवारों को GA के लिए पिछले 6 महीनों के बैंकिंग जागरूकता, सामान्य  जागरूकता और वर्तमान मामलों को जानना आवश्यक है। मुख्य परीक्षा में DI और पज़ल और सेटिंग व्यवस्था पर अपना सारा ध्यान केंद्रित करें। मुख्य परीक्षा का स्तर तुलनात्मक रूप से कठिन है। नीचे दिए गए विस्तृत IBPS क्लर्क पाठ्यक्रम को ध्यान से पढ़ें।


S. No.SubjectSyllabus
1.General English
Reading comprehension, Fillers( Double fillers, Multiple Sentence Fillers, Sentence Fillers), New Pattern Cloze Test, Phrase Replacement, Odd Sentence Out cum Para Jumbles,Inference, Sentence Completion,Connectors, Paragraph Conclusion, Phrasal Verb Related Questions, Error Detection Questions, Word usage/ Vocab Based Questions.

2.Reasoning and Computer Aptitude
पज़ल्स, बैठक व्यवस्था, दिशा निर्देश, रक्त सम्बन्ध, न्याय प्रश्न, ऑर्डर और रैंकिंग, कोडिंग-डिकोडिंग, मशीन इनपुट-आउटपुट, असमानता, अल्फा-न्यूमेरिकल-सिंबल सीरीज़, डाटा एफिशिएंसी, अल्फबेल रिलेटेड प्रश्न, लॉजिकल रीजनिंग, कंप्यूटर का इतिहास और विकास, कंप्यूटर संगठन का परिचय, कंप्यूटर मेमोरी, कंप्यूटर हार्डवेयर और I/O डिवाइस, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर भाषा, कंप्यूटर सिस्टम, कंप्यूटर नेटवर्क, इन्टरनेट, ऍम एस ऑफिस सूट एंड शोर्ट कट कीज़, बेसिक ऑफ़ DBMS, नंबर सिस्टम और कन्वर्जन, कंप्यूटर और नेटवर्क सिक्यूरिटी।

3.संख्यात्मक अभियोग्यता 
डाटा एफिशिएंसी, मात्रात्मक योग्यता, आकड़ों का विश्लेषण या DI ( बार ग्राफ, लाइन चार्ट, टेबुलर, केसलेट, रडार/वेब, पाई चार्ट), असमानता(द्विघातीय समीकरण), नम्बर सीरीज, अनुमान और साधारणीकरण, डाटा पर्याप्तता, विविध अंकगणितीय समस्याएं (HCF और LCM, लाभ और हानि, SI और CI, युगों की समस्या, कार्य और समय, गति-दूरी और समय, संभावना, क्षेत्रमाप, क्रमपरिवर्तन और संयोजन, औसत, अनुपात और प्रगति, भागीदारी, नाव और धारा से सम्बंधित समस्याएं, ट्रेनों की समस्या, मिश्रण और आरोप, पाइप और टंकी)।

4.सामान्य / वित्तीय जागरूकता 
बैंकिंग और इन्सुरेंस अवेयरनेस, फाईनेनसिअल अवेयरनेस, गवर्मेंट स्कीम और पॉलिसी, करंट अफेयर्स, स्टैटिक अवेयरनेस।


लगातार परीक्षा के प्रश्नों की बढती जटिलता की वजह से इस परीक्षा की तैयारी में पिछले वर्षों के मुकाबले अधिक मेहनत की भी आवश्यकता होती है, इसलिए जितना कम हो सके अपना समय बर्बाद करें और तैयारी में पूरा फोकस करें। सफलता तभी संभव है जब आप बिना किसी नकारात्मकता के लक्ष्य के प्रति एकनिष्ट है और कोई भी समस्या आपके मार्ग  में बाधा नहीं बनती है।


        इन्हें भी पढ़ें: