IBPS क्लर्क परीक्षा पैटर्न 2019 - यह जानकारी आपके लिए जरुरी है





IBPS क्लर्क परीक्षा, प्रत्येक वर्ष इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनेल सेलेक्शन (IBPS) द्वारा आयोजित की जाती है। प्रत्येक वर्ष आईबीपीएस क्लर्क के पद के लिए काफी अधिक उम्मीदवारों की भर्ती की जाती है, इसलिए यह परीक्षा अन्य परीक्षाओं से कहीं ज्यादा महत्त्व रखती है। इस परीक्षा के लिए पूरे भारत से उम्मीदवारों के आवेदन लाखों की संख्या में आते हैं और जो आईबीपीएस क्लर्क परीक्षा के लिए बैठते हैं। इस साल आईबीपीएस क्लर्क आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार कुल 12075 उम्मीदवारों की भर्ती की जानी है। क्योंकि यह सबसे फायदेमंद नौकरी में से एक है जिसमें सुनहरे भविष्य के अवसर मौजूद हैं साथ ही उम्मीदवार को एक बेहतर नौकरी प्रोफाइल भी मिलता है इसलिए बहुत अधिक संख्या में लोग अपनी किस्मत यहाँ आजमाते हैं।


IBPS क्लर्क परीक्षा की तैयारी की दिशा में पहला कदम यह है कि गहराई से आप परीक्षा के पैटर्न को समझ लें। इससे पहले की हम आगे बढ़ें, उससे पहले उसकी चयन प्रक्रिया से परिचित हो जाना आवश्यक है। IBPS क्लर्क परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती है- IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा और IBPS क्लर्क मेंस परीक्षा। जो उम्मीदवार इन दोनों चरणों में उत्तीर्ण होगा, उसका चयन भर्ती के लिए किया जायेगा। इन दो चरणों के बीच मात्र यह अंतर है कि IBPS क्लर्क मेंस परीक्षा में सामान्य जागरूकता एक अन्य विषय भी जोड़ा गया है। इस लेख में, हम आपको IBPS क्लर्क परीक्षा 2019 पैटर्न की विस्तृत जानकारी देंगे।

पैटर्न को समझने के लिए उम्मीदवारों को पिछले वर्ष के प्रश्नपत्र भी देखने चाहिए, जिससे उम्मीदवार को परीक्षा का स्तर, प्रश्नों के प्रकार का पता चल सकेगा। अब परीक्षा के पैटर्न की विस्तृत चर्चा करते हैं-

IBPS क्लर्क 2019: चयन प्रक्रिया 


IBPS क्लर्क परीक्षा दो चरणों में की जाती है जैसा कि नीचे बताया गया है:

  • प्रीलिम्स परीक्षा 
  • मेंस परीक्षा 
इन दोनों चरणों को सफलतापूर्वक उत्तीर्ण करने के बाद, उम्मीदवारों को उस राज्य के लिए, जहाँ से उन्होंने आवेदन दिया है,  एक भाषा दक्षता परीक्षा(LPT) से गुजरना होगा। अंतिम चयन के लिए अभ्यर्थी को  LPT परीक्षा उत्तीर्ण करना बहुत आवश्यक है। जिस राज्य से आप आवेदन दे रहे हैं, वहां की स्थानीय भाषा से आपका परिचय अच्छे से होना चाहिए। स्थानीय भाषा को लिखने, बोलने और पढ़ने में आपकी दक्षता का परीक्षण  LPT  माध्यम से किया जाएगा।

IBPS Clerk Exam 2019: परीक्षा प्रक्रिया 


Exam Stages Exam Mode
IBPS Clerk Preliminary Exam Online Mode Only
IBPS Clerk Mains Exam Online Mode Only


IBPS Clerk परीक्षा पैटर्न  2019


IBPS Clerk Exam Pattern 2019: प्रीलिम्स परीक्षा 


IBPS क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा 2019 में प्रत्येक अनुभाग के लिए 20 मिनट का अनुभागीय समय है। अंग्रेजी भाषा में कुल 30 अंकों के 30 प्रश्न पूछे जाते हैं अन्य दो खंडों 35-35 अंकों के होते हैं। मेंस परीक्षा की तुलना में प्रीलिम्स  परीक्षा का स्तर आसान होता है। इस लिए इसका कट ऑफ काफी अधिक भी हो सकता है। प्रीलिम्स के लिए अधिकतम अंक 100 हैं और उसका कट ऑफ केवल भर्ती संगठन IBPS द्वारा तय किया जाएगा। नीचे IBPS क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा पैटर्न का विस्तृत स्वरूप दिया जा रहा है।

.No.
Name of Tests(Objective
No. of Questions
Maximum Marks
Duration
1
English Language
30
30
20 minutes
2
Quantitative Aptitude
35
35
20 minutes
3
Reasoning Ability
35
35
20 minutes
Total
100
100
60 minutes



B) IBPS क्लर्क परीक्षा पैटर्न 2019 : मेंस परीक्षा 

IBPS क्लर्क मेंस परीक्षा पैटर्न IBPS क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा से अलग है। मेंस परीक्षा में एक अन्य विषय  सामान्य जागरूकता का जोड़ा गया है, जिसमें कुल 50 प्रश्न हैं, जिनके लिए कुल 50 अंक हैं। मुख्य परीक्षा में चार अनुभाग है, जिसके लिए कुल समयसीमा 160 मिनट है, साथही प्रत्येक अनुभाग के लिए अनुभागीय समय भी निश्चित किया गया है। परीक्षा के स्तर को मध्यम से कठिन के बीच माना जा सकता है। उम्मीदवारों को दोनों चरणों में उत्तीर्ण होना आवश्यक है। भर्ती के चयनित होने के लिए आईबीपीएस द्वारा जारी की गई फ़ाइनल मेरिट लिस्ट से अधिक अंक प्राप्त करने अनिवार्य हैं।


Sr. No
Name of Tests
(NOT BY SEQUENCE)
No. of
Questions
Maximum
Marks
Medium of Exam
Time allotted for each
test (Separately timed)
1
General/ Financial Awareness 
50
50
English & Hindi
35 minutes
2
English Language
40
40
English
35 minutes
3
Reasoning Ability & Computer Aptitude
50
60
English & Hindi
45 minutes
4
Quantitative Aptitude

50
50
English & Hindi
45 minutes

Total
190 
200

160 minutes

  • फाइनल मेरिट लिस्ट के लिए उम्मीदवार के IBPS क्लर्क 2019 मेंस परीक्षा में प्राप्त अंकों को देखा जायेगा
  • दोनों लिखित परीक्षाओं में नेगटिव मार्किंग है, जिसमें प्रत्येक गलत उत्तर पर चौथाई अंक अर्थात .25 अंक आपके प्राप्त अंकों के घटा दिया जायेगा 

you may also like to read: