Hindi Language Quiz for IBPS RRB Mains: 1st September 2018

Hindi Language Quiz for IBPS RRB Mains: 1st September 2018



Directions (1-5): नीचे दिए गए गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए और उस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिए। गद्यांश के अनुसार, दिए गए विकल्पों में से सबसे उपयुक्त विकल्प का चयन कीजिए।

किसी आती हुई आपदा की भावना या दुख के कारण के साक्षात्‍कार से जो एक प्रकार का आवेगपूर्ण अथवा स्‍तंभ-कारक मनोविकार होता है उसी को भय कहते हैं। क्रोध दुख के कारण पर प्रभाव डालने के लिए आकुल करता है और भय उसकी पहुँच से बाहर होने के लिए। क्रोध दुख के कारण के स्‍वरूपबोध के बिना नहीं होता। यदि दुख का कारण चेतन होगा और यह समझा जायेगा कि उसने जान-बूझकर दु:ख पहुँचाया है, तभी क्रोध होगा। पर भय के लिए कारण का निर्दिष्‍ट होना जरूरी नहीं; इतना भर मालूम होना चाहिए कि दु:ख या हानि पहुँचेगी। यदि कोई ज्‍योतिषी किसी गँवार से कहे कि ''कल तुम्‍हारे हाथ-पाँव टूट जायँगे'' तो उसे क्रोध न आएगा; भय होगा। पर उसी से यदि कोई दूसरा आकर कहे कि ''कल अमुक-अमुक तुम्‍हारे हाथ-पैर तोड़ देंगे'' तो वह तुरंत त्‍योरी बदलकर कहेगा कि ''कौन हैं हाथ-पैर तोड़नेवाले? देख लूँगा।''


भय का विषय दो रूपों में सामने आता है - असाध्‍य रूप में और साध्‍य रूप में। असाध्‍य विषय वह है जिसका किसी प्रयत्‍न द्वारा निवारण असंभव हो या असंभव समझ पड़े। साध्‍य विषय वह है जो प्रयत्‍न द्वारा दूर किया जा सकता हो। दो मनुष्‍य एक पहाड़ी नदी के किनारे बैठे या आनंद से बातचीत करते चले जा रहे थे। इतने में सामने शेर की दहाड़ सुनाई पड़ी। यदि वे दोनों उठकर भागने, छिपने या पेड़ पर चढ़ने आदि का प्रयत्‍न करें तो बच सकते हैं। विषय के साध्‍य या असाध्‍य होने की धारणा परिस्थिति की विशेषता के अनुसार तो होती ही है पर बहुत कुछ मनुष्‍य की प्रकृति पर भी अवलंबित रहती है। क्‍लेश के कारण का ज्ञान होने पर उसकी अनिवार्यता का निश्‍चय अपनी विवशता या अक्षमता की अनुभूति के कारण होता है। यदि यह अनुभूति कठिनाइयों और आपत्तियों को दूर करने के अभ्यास या साहस के अभाव के कारण होती है, तो मनुष्‍य स्तंभित हो जाता है और उसके हाथ-पाँव नहीं हिल सकते। पर कड़े दिल का या साहसी आदमी पहले तो जल्‍दी डरता नहीं और डरता भी है तो सँभल कर अपने बचाव के उद्योग में लग जाता है।
भय जब स्‍वभावगत हो जाता है तब कायरता या भीरुता कहलाता है और भारी दोष माना जाता  है, विशेषतः पुरुषों में। स्त्रियों की भीरुता तो उनकी लज्‍जा के समान ही रसिकों के मनोरंजन की वस्‍तु रही है। पुरुषों की भीरुता की पूरी निंदा होती है। ऐसा जान पड़ता है कि बहुत पुराने जमाने से पुरुषों ने न डरने का ठेका ले रखा है। भीरुता के संयोजक अवयवों में क्‍लेश सहने की आवश्‍यकता और अपनी शक्ति का अविश्‍वास प्रधान है। शत्रु का सामना करने से भागने का अभिप्राय यही होता है कि भागनेवाला शारीरिक पीड़ा नहीं सह सकता तभी अपनी शक्ति के द्वारा उस पीड़ा से अपनी रक्षा का विश्‍वास नहीं रखता। यह तो बहुत पुरानी चाल की भीरुता हुई। जीवन के और अनेक व्‍यापारों में भी भीरुता दिखाई देती है। अर्थहानि के भय से बहुत से व्‍यापारी कभी-कभी किसी विशेष व्‍यवसाय में हाथ नहीं डालते, परास्‍त होने के भय से बहुत से पंडित कभी-कभी शास्‍त्रार्थ से मुँह चुराते हैं। इस प्रकार की भीरुता की तह में सहन करने की अक्षमता और अपनी शक्ति का अविश्‍वास छिपा रहता है। भीरु व्‍यापारी में अर्थहानि सहने की अक्षमता और अपने व्‍यवसाय कौशल पर अविश्‍वास तथा भीरु पंडित में मान-हानि सहने की अक्षमता और अपने विद्या-बुद्धि-बल पर अविश्‍वास निहित है।
एक ही प्रकार की भीरुता ऐसी दिखाई पड़ती है जिसकी प्रशंसा होती है। वह धर्म-भीरुता है। पर हम तो उसे भी कोई बड़ी प्रशंसा की बात नहीं समझते। धर्म से डरनेवालों की अपेक्षा धर्म की ओर आकर्षित होनेवाले हमें अधिक धन्‍य जान पड़ते हैं। जो किसी बुराई से यही समझकर पीछे हटते हैं कि उसके करने से अधर्म होगा, उसकी अपेक्षा वे कहीं श्रेष्‍ठ हैं जिन्‍हें बुराई अच्‍छी ही नहीं लगती।  

Q1. गद्यांश के अनुसार, दुख के कारण पर प्रभाव डालने के लिए कौन आकुल करता है? 
(a) ईर्ष्या 
(b) दया 
(c) घृणा 
(d) क्रोध
(e) इनमें से कोई नहीं

Q2. गद्यांश के अनुसार, कैसा व्यक्ति पहले तो जल्‍दी डरता नहीं और डरता भी है तो सँभल कर अपने बचाव के उद्योग में लग जाता है?
 (a) कर्मठ व्यक्ति 
(b) आलसी व्यक्ति 
(c) साहसी व्यक्ति 
(d) भीरु व्यक्ति 
(e) इनमें से कोई नहीं

Q3. स्त्रियों की भीरुता तो उनकी लज्‍जा के समान ही, किसके मनोरंजन की वस्‍तु रही है?
(a) साधुओं 
(b) राजभोगियों 
(c) रसिकों
(d) क्षत्रियों 
(e) इनमें से कोई नहीं

Q4. गद्यांश के अनुसार, शत्रु का सामना करने से भागनेवाला कौन सी पीड़ा नहीं सह सकता है?
(a) शारीरिक पीड़ा
(b) मानसिक पीड़ा 
(c) आर्थिक पीड़ा 
(d) ईर्ष्या पीड़ा 
(e) इनमें से कोई नहीं

Q5. गद्यांश के अनुसार, किस प्रकार की भीरुता ऐसी दिखाई पड़ती है, जिसकी प्रशंसा होती है?
(a) युद्ध-भीरुता 
(b) राजनीतिक-भीरुता  
(c) धर्म-भीरुता
(d) स्त्री-भीरुता 
(e) इनमें से कोई नहीं

Directions (6-10) नीचे दिए गए प्रत्येक प्रश्न में दो रिक्त स्थान छूटे हुए हैं और उसके पांच विकल्प सुझाए गए हैं। इनमें से कोई दो उन रिक्त स्थानों पर रख देने से वह वाक्य एक अर्थपूर्ण वाक्य बन जाता है। सही शब्द ज्ञात कर उसके विकल्प को उत्तर के रूप में अंकित कीजिए, दिए गए शब्दों में से सर्वाधिक उपयुक्त शब्दों का चयन कीजिए।

Q6. हाल ही में विशेषज्ञों द्वारा यह ........... दिया गया है कि रंग की गहराई और चमकीलापन कार के डिजाइन को .......... बन सकता है। 
(a) कथन, उत्तेजक 
(b) सुझाव, सुंदर 
(c)वक्तव्य, बेहतर 
(d) आदेश,आकर्षक 
(e) इनमें से कोई नहीं 

Q7. जीवन ............ से भरा है। यत्र-तत्र -सर्वत्र प्रतिस्पर्धा है। ............. की तादात बढती जा रही है, रिक्तियां घटती जा रही है।
(a) समस्याओं, संघर्षो 
(b) विसंगतियों, विद्यार्थियों 
(c) चुनौतियों, अभ्यर्थियों 
(d) संघर्षों, बेरोजगारों 
(e) इनमें से कोई नहीं 

Q8. भाषा सागर की तरह सदा ............. रहती है। भाषा के अपने गुण और स्वभाव को भाषा की ........... कहते हैं।
(a) चलायमान, विशेषता 
(b) प्रवाहित, प्रकृति  
(c) गतिमान, संरचना 
(d) बहती, सहजता 
(e) इनमें से कोई नहीं 

Q9. भ्रष्टाचार पर .............आम हैं। दुनिया के भ्रष्टों की सूची में हम भारतीयों का ............ दिन-ब-दिन ऊंचाई की ओर बढ़ रहा है।
(a) अटकलें, नाम 
(b) बैठक, गौरव 
(c) चर्चाएँ, स्थान  
(d) सम्मेलन, रुख 
(e) इनमें से कोई नहीं 

Q10. बीज की प्रवृत्ति .......... का भविष्य है। विचार भी बीज की तरह है। हर विचार में एक वृक्ष बनने की ........... छिपी हुई है। 
(a) पुष्प, कामना 
(b) वृक्ष, संभावना  
(c) पादप, आशंका 
(d) जड़ों, क्षमता  
(e) इनमें से कोई नहीं

Directions (11-15): नीचे दिए गए प्रत्येक परिच्छेद में कुछ रिक्त स्थान छोड़ दिए गए हैं तथा उन्हें प्रश्न संख्या से दर्शाया गया है। ये संख्याएँ परिच्छेद के नीचे मुद्रित हैं, और प्रत्येक के सामने (a), (b), (c), (d) और (e) विकल्प दिए गए हैं। इन पाँचों में से कोई एक इस रिक्त स्थान को पूरे परिच्छेद के संदर्भ में उपयुक्त ढंग से पूरा कर देता है। आपको उस विकल्प का चयन करना है और उसका क्रमांक ही उत्तर के रूप में दर्शाना है। आपको दिए गए विकल्पों में से सबसे उपयुक्त का चयन करना है। 
गंगा भारत की नदी है। यह हिमालय से निकलती है और बंगाल की घाटी में ..(11).. होती है। यह निरंतर प्रवाहमयी नदी है। यह पापियों का उद्‌धार करने वाली नदी है। भारतीय धर्मग्रंथों में इसे पवित्र नदी माना गया है और इसे माता का दर्जा दिया गया है। गंगा केवल नदी ही नहीं, एक ..(12)... है। गंगा नदी के तट पर अनेक पवित्र तीर्थों का निवास है। गंगा को भागीरथी भी कहा जाता है। गंगा का यह नाम राजा भगीरथ के नाम पर पड़ा। कहा जाता है कि राजा भगीरथ के साठ हजार पुत्र थे। शापवश उनके सभी पुत्र भस्म हो गए थे। तब राजा ने कठोर तपस्या की। इसके फलस्वरूप गंगा शिवजी की जटा से निकलकर देवभूमि भारत पर अवतरित हुई। इससे भगीरथ के साठ हजार पुत्रों का उद्धार हुआ। तब से लेकर गंगा अब तक न जाने कितने पापियों का उद्धार कर चुकी है। लोग यहाँ स्नान करने आते हैं। इसमें मृतकों के शव बहाए जाते हैं। इसके तट पर शवदाह के कार्यक्रम होते हैं। गंगा तट पर पूजा-पाठ, भजन-कीर्तन आदि के कार्यक्रम चलते ही रहते हैं। गंगा हिमालय में स्थित गंगोत्री नामक स्थान से निकलती है। हिमालय की बर्फ पिघलकर इसमें आती रहती है। अत: इस नदी में पूरे वर्ष जल रहता है। इस ..(13).. नदी का जल करोड़ों लोगों की प्यास बुझाता है। करोड़ों पशु-पक्षी इसके जल पर निर्भर हैं। लाखों एकड़ जमीन इस जल से सिंचित होती है। गंगा नदी पर फरक्का आदि कई बाँध बनाकर बहुउद्‌देशीय परियोजना लागू की गई है। अपने उद्‌गम स्थान से चलते हुए गंगा का जल बहुत पवित्र एवं स्वच्छ होता है। हरिद्वार तक इसका जल ..(14).. बना रहता है। फिर धीरे- धीरे इसमें शहरों के गंदे नाले का जल और कूड़ा-करकट मिलता जाता है। इसका पवित्र जल मलिन हो जाता है। इसकी मलिनता मानवीय गतिविधियों की ..(15).. है। लोग इसमें गंदा पानी छोड़ते हैं। इसमें सड़ी-गली पूजन सामग्रियाँ डाली जाती हैं। इसमें पशुओं को नहलाया जाता है और मल-मूत्र छोड़ा जाता है। इस तरह गंगा प्रदूषित होती जाती है। वह नदी जो हमारी पहचान है, हमारी प्राचीन सभ्यता की प्रतीक है, वह अपनी अस्मिता खो रही है।

Q11. (a) विस्तृत         (b) विसर्जित                     (c) प्रकट 
      (d) परिपूर्ण        (e) इनमें से कोई नहीं 

Q12. (a) संस्कृति             (b) परिकल्पना             (c) व्यवस्था 
      (d) संघर्ष              (e) इनमें से कोई नहीं 

Q13. (a) प्रसिद्ध               (b) व्यापक                 (c) प्राकृतिक 
      (d) सदानीरा            (e) इनमें से कोई नहीं 

Q14. (a) शीतल               (b) मटमैला               (c) निर्मल 
      (d) पवित्र              (e) इनमें से कोई नहीं 

Q15. (a) सहायक             (b) उपज                    (c) लापरवाही 
      (d) उद्घोषणा           (e) इनमें से कोई नहीं

S1. Ans. (d) 

S2. Ans. (c)

S3. Ans. (c)

S4. Ans. (a)

S5. Ans. (c)

S6. Ans (b) 
Sol. वाक्य के आलोक में सुझाव और सुंदर विकल्प उचित है क्योंकि विशेषज्ञों द्वारा सुझाव दिया जाता है और सुझाव सकात्मक दिशा में दिया जाता है इसलिए दूसरे स्थान पर सुंदर शब्द प्रयुक्त होगा। 

S7. Ans (c) 
Sol. जैसा कि वाक्य में प्रतिस्पर्धा मुख्य विषय है इसलिए इसके संदर्भ में चुनौतियाँ और अभ्यर्थी शब्द ही उचित है। 

S8. Ans (b) 
Sol. सागर प्रवाहित होता है एवं गुण और स्वभाव द्वारा प्रकृति का निर्धारण होता है। इसलिए विकल्प b सही उत्तर है। 

S9. Ans  c. वाक्य के आधार पर विकल्प c वाक्य के विषय से संगत है।  

S10. Ans (b) 
Sol. जैसा कि विचार की तुलना वृक्ष से की गई है तो पहले वाक्य में वृक्ष आएगा एवं दूसरे वाक्य में अपेक्षा जताई जा रही है इसलिए संभावना शब्द उपयुक्त है।

S11. Ans. (b): 

S12. Ans. (a):

S13. Ans. (d):

S14. Ans. (c):

S15. Ans. (b):


Print Friendly and PDF