11/11/2017

IBPS SO 2017 Preparation | Important Tips to Crack IBPS SO Exam


प्रिय छात्रों, आईबीपीएस स्पेशलिस्ट ऑफिसर के लिए अधिसूचना पहले से ही जारी हो चुकी है और आवेदन लिंक भी जारू हो चूका है. आईबीपीएस ने संबंधित विभागों में आवश्यक विभिन्न विशेषज्ञ अधिकारियों के लिए विभिन्न पदों को जारी किया है. यह उन सभी छात्रों के लिए सुनहेरा अवसर हैं, जो अधिकारी बनना चाहते है लेकिन पिछले अधिकारी स्तर की परीक्षाओं में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पायें है. तो छात्रों, अब आपको  वर्ष के अंत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक में एक अधिकारी बनने का एक और मौका मिला है, बस इसे बर्बाद न होने दें. यहां हम आपको आईबीपीएस एसओ परीक्षा के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स और महत्वपूर्ण विषय प्रदान कर रहे है जो आपकी इस परीक्षा में सफल होने में सहायता करेंगे.

IBPS SO 2017 प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न


राजभाषा अधिकारी और लॉ स्केल -1 अधिकारी के लिए



Serial No Section No. of Questions Total Marks Duration
1. Reasoning 50 50 120 minutes
2. English Language 50 25
3. General Awareness with Special Reference to Banking Industry 50 50
Total 150 125

अन्य विशेषज्ञ अधिकारी (कृषि क्षेत्र अधिकारी, विपणन अधिकारी (
स्केल I), मानव संसाधन / कार्मिक अधिकारी, आईटी अधिकारी स्केल I


Serial No Section No. of Questions Total Marks Duration
1. Reasoning 50 50 120 minutes
2. English Language 50 25
3. Quantitative Aptitude 50 50
Total 150 125

छात्रों, आईबीपीएस एसओं की प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी करते समय ध्यान रखने वाली सबसे महत्वपूर्ण बिंदु यह है कि इस परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा का पैटर्न किसी भी अन्य बैंकिंग भर्ती परीक्षा से अलग है. इस परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों की कुल संख्या 150 है, इस परीक्षा के प्रत्येक भाग में अर्थात रीजनिंग, अंग्रेजी भाषा और क्वांट या सामान्य जागरूकता में 50 प्रश्न पूछे जाते है. इस परीक्षा को हल करने के लिए 120 मिनट का समय दिया जाता है. दिलचस्प बात यह है कि अंग्रेजी अनुभाग में 50 प्रश्न केवल 25 अंक के हैं. कई छात्र जो अंग्रेजी में अच्छे हैं, वे इस विशेष खंड में अधिकतम अंक हासिल करने की मानसिकता रखते थे और वह छात्र जो इस विषय में अच्छे नहीं है वह इस विषय के कठिन प्रश्नों की अनदेखी करते थे. उनके लिए निराशा की बात है, क्योकि यह रणनीति अब और काम नहीं करेगी क्योंकि सभी 50 प्रश्नों के प्रयास के बाद अधिकतम 25 अंक ही अर्जित कर सकते हैं. तो यदि आप चाहते है कि आप इस परीक्षा में सफल हो तो आपको कड़ी मेहनत करनी होगी. 

क्वांटिटेटिव ऐप्टीट्यूड में कमजोर छात्रों को सामान्य जागरूकता अनुभाग की सहायता से एक विशेषज्ञ अधिकारी बनने का अवसर प्राप्त हुआ है. राजभाषा अधिकारी और लॉ ऑफिसर के पदों की प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न में क्वांटिटेटिव ऐप्टीट्यूड सेक्शन के बजाय सामान्य जागरूकता अनुभाग है. यह एक सुनेहरा अवसर है इसे बर्बाद न होने दें.

निम्नलिखित महत्वपूर्ण विषय हैं जो आईबीपीएस एसओ की प्रारंभिक परीक्षा 2017 में तीन वर्गों में पूछे जाने की संभावना है:


अंग्रेजी

  • Reading Comprehension: यह विषय RC संभावित रूप से बैंकिंग, वित्त, और आर्थिक पर आधारित हो सकता है. अधिकारी स्तर की परीक्षा होने के कारण यह विषय नए पैटर्न पर अर्थात पैराग्राफ 1, 2, 3 ... आधारित हो सकता है.
  • Spotting Errors/Sentence Errors/Improvements: आपको errors से सम्बंधित प्रश्नों को करते हुए अधिक सावधानी रखनी चाहिए, यह विषय बहुत सटीक ध्यान रखना होगा और एक चुक से ही छात्र अपना उत्तर 'No error' या  'No correction required कर सकता है.
  • Para Jumbles: para jumbles के बारे में अच्छी बात यह है कि आप इसे करने के लिए प्रबंधित हो सकते हैं भले ही आप अंग्रेजी में कमजोर हो क्योंकि यह आपके व्याकरण या शब्दावली का परीक्षण नहीं करता है, आपको सिर्फ दो भागो के बीच संबंध को ज्ञात करना होगा और आप इस विषय में अच्छा स्कोर कर सकते हैं.
  • Fillers:  fillers शब्द और फ्रेस आधारित हो सकते है. यह समय आपका अधिक समय नष्ट नहीं करते. यह उन विषयों में से एक है, जिनके साथ आप अंग्रेज़ी अनुभाग करना शुरू कर सकते हैं.
  • Cloze test: यह अंग्रेजी अनुभाग का बहुत महत्वपूर्ण विषय है. नए पैटर्न पर आधारित fillers भी इस विषय के अंतर्गत पूछे जा सकते है. यह भी स्कोरिंग विषय है यदि आप इसे अच्छी तरह तैयार करते हैं.
  • Miscellaneous: Connectors, Starters, phrase replacement, Paragraph related questions that include paragraph completion, paragraph improvement, restatement, आदि विषय इसमें पूछे जाते है.

रीजनिंग

  • Syllogism: इस विषय में प्रश्न पुराने पैटर्न के आधार पर और साथ ही रिवर्स साइोलोगिज्म के नए पैटर्न पर आधारित हो सकते हैं जिसमें प्रश्न में निष्कर्ष दिया होता है और आपको उस विशेष निष्कर्ष के लिए सही कथन का चयन करना होता है. यह सबसे आसान और स्कोरिंग विषयों में से एक है इसलिए इसे अच्छी तरह से तैयार करें.
  • Data Sufficiency: प्रश्नों की कठिनाई के स्तर पर आधारित डेटा पर्याप्तता के आधार पर 2 या 3 कथन हो सकते हैं. यदि देखा जाए तो तो इस विषय पर कुल 3-5 प्रश्न होंगे. 
  • Coding-decoding: यह विषय भी आसान स्तर के प्रश्नों की श्रेणी के अंतर्गत आता है. प्रश्न पुराने और साथ ही नए पैटर्न कोडिंग-डीकोडिंग पर आधारित हो सकते हैं. आप Adda247 app पर दिए गए क्विज़ में नए पैटर्न के कोडिंग-डीकोडिंग प्राप्त कर सकते हैं.
  • Blood Relation: इस खंड में प्रश्न उम्मीदवार की संज्ञानात्मक क्षमता का परीक्षण करते हैं. इस विषय के प्रश्न बेहद कठिन होते है. यह विभिन्न प्रकार से पूछे जा सकते है, अर्थात  puzzles, mixed blood relation, coded blood relations, आदि. 
  • Order and Ranking: इस विषय से पूछे गए प्रश्न अपेक्षाकृत आसान और कम जटिल होते है. एक बार आप इस विषय का अभ्यास करना शुरू करेंगे तो आप इस विषय को हल करने में कम समय लगायेंगे.
  • Alpha Numeric Symbol Series: आपको कई प्रकार की संख्या दी जाएगी, एक पैटर्न के आधार पर वर्णों के मिश्रण के साथ. श्रृंखला केवल संख्याओं पर या केवल वर्णों पर ही आधारित हो सकती है. 
  • Logical Reasoning: इस विषय के प्रश्न कारण और प्रभाव, कार्यवाही, मान्यता, और निष्कर्ष और कथन के मजबूत होने पर आधारित हो सकते है. इन प्रश्नों का स्तर हमेशा मध्यम रहा है ताकि आप उन पर बहुत समय बर्बाद किए बिना आसानी से प्रश्न हल कर सकें.
  • Inequalities: अन्य सबसे महत्वपूर्ण विषय असमानता है. यह रीज़निंग में सबसे आसान विषयों में से एक है. आपको निर्धारित करना है कि कौन सा कथन सही है.

Quantitative Aptitude

  • Data Interpretation: Data Interpretation किसी भी बैंकिंग परीक्षा का एक अनिवार्य भाग हिस्सा है. कुल प्रश्नों में से एक चौथाई से अधिक DI पर आधारित हैं. DI के प्रश्न मूल रूप से अनुपात और समानुपात, प्रतिशत, औसत, और लाभ और हानि पर आधारित होते है, परन्तु इस वर्ष हमने पैटर्न में बदलाव देखा है क्योकि DI के प्रश्न इस बार कार्य और समय और अंकगणित से तथा कुछ अन्य विषय पर आधारित थे. इसलिए इस विषयों को सावधानी से तैयार करें.
  • Inequality: दूसरा सबसे महत्वपूर्ण विषय असमानता है. इस विषय में दो प्रकार के प्रश्नों की संभावना है. सबसे पहले क्वाडैटिक समीकरणों की सामान्य अवधारणा है और दूसरा Quantity 1 और Quantity 2 का नया पैटर्न है जिसमे लाभ और हानि, औसत, क्षेत्रवृति, आदि पर आधारित प्रश्न थे  और आपको  समाधानों के आधार पर दो Quantity की तुलना करनी है. 
  • Number Series: संख्या श्रृंखला भी समान ही महत्वपूर्ण विषय है. संख्या श्रृंखला ज्यादातर दो पैटर्नों पर आधारित होती है, Uniform, और Non-Uniform पैटर्न: uniform pattern में Addition, Subtraction, Prime Numbers, Squares, Cubes, Decimals, आदि पर आधारित होते है.  non-uniform pattern में मिश्रित श्रृंखला पर आधारित प्रश्न होते है. जितना आप इस विषय का अभ्यास करेंगे उतना ही आप इस विषय में अच्छा स्कोर करेंगे.
  • Simplification and Approximation: यदि आप गणना करने में अच्छे है तो इस विषय को हल करें में आपको आसानी होगी. इसलिए कैलकुलेशन करने में तेज होने का अभ्यास करें, और आप अच्छे अंक प्राप्त कर पायेंगे. हमेशा BODMAS का नियम याद रखें.
  • Miscellaneous topics: इस विषय के अंतर्गत मूल रूप से CI & SI, Time and Work, Pipes and Cisterns, Partnership, Profit and Loss, Ratio and Proportion, Percentage, आदि आते है. इस विषय के प्रश्न ट्विस्टेड रूप में व्यवस्थित होते है और यह विषय अधिक समय नष्ट करता है. यही कारण है इन विषयों के प्रश्नों को हल करने का अंत में प्रयास करना चाहिए.






CRACK IBPS PO 2017



11000+ (RRB, Clerk, PO) Candidates were selected in IBPS PO 2016 from Career Power Classroom Programs.


9 out of every 10 candidates selected in IBPS PO last year opted for Adda247 Online Test Series.





Print Friendly and PDF

No comments:

Post a Comment