SBI Clerk Prelims Cut Off Trend (2018-2021): SBI क्लर्क प्रीलिम्स कट-ऑफ का ट्रेंड, चेक करें पिछले 4 वर्षों का कट-ऑफ का ट्रेंड

SBI Clerk Prelims Cut Off Trend (2018-2021): SBI क्लर्क प्रीलिम्स कट-ऑफ का ट्रेंड, चेक करें पिछले 4 वर्षों का कट-ऑफ का ट्रेंड





SBI Clerk Prelims Cut Off Trend: Last 4 Years: एसबीआई क्लर्क प्रीलिम्स कट ऑफ ट्रेंड छात्रों को कट ऑफ मानदंड को समझने में मदद करेगा जो एसबीआई द्वारा पिछले 4 वर्षों- 2018, 2019, 2020 और 2021 के लिए निर्धारित किया गया है। कट ऑफ ट्रेंड आपको यह समझने में मदद करेगा कि एसबीआई क्लर्क ने परीक्षा के कठिनाई स्तर के अनुसार कट ऑफ कैसे जारी किया।







SBI Clerk Prelims Cut Off Trend: Last 4 Years (2018-2021)

इस आर्टिकल में, हम आपको पिछले वर्षों के कट ऑफ ट्रेंड प्रदान कर रहे हैं जो आपको परीक्षा के Difficulty Level को जानने में मदद करेगा। यह आपको अलग-अलग राज्यों के कट-ऑफ के बारे में क्लियर आईडिया देगा, जिससे आपको विभिन्न राज्यों के प्रतिस्पर्धा के स्तर के बारे में पता चलेगा. यदि स्टूडेंट्स को जॉब पोस्टिंग की समस्या नहीं है, तो वे जहाँ कम कट ऑफ कम हो और रिक्तियां ज्यादा हो उस राज्यों का चयन कर सकते हैं.




SBI Clerk Prelims Cut Off Trend: Last 4 Years (2018-2021)

पिछले 4 वर्षों के सभी राज्यों के कट-ऑफ का विश्लेषण करने के बाद, हम स्पष्ट रूप से देख सकते हैं कि साल 2020 की एसबीआई क्लर्क प्रीलिम्स कट ऑफ, एसबीआई क्लर्क प्रीलिम्स 2018, 2019 और 2021 की तुलना में कम थी। इसका एक बड़ा कारण SBI क्लर्क 2020 परीक्षा जो कि 2018, 2019 और 2021 की परीक्षाओं की तुलना में मॉडरेट थी जो आसान पक्ष में थे। कुछ राज्यों में, एसबीआई क्लर्क 2020 के लिए कट ऑफ एक उच्च तरफ था और कुछ राज्यों में रिक्त पदों की संख्या के कारण कट ऑफ मध्यम थी।



एसबीआई क्लर्क कट-ऑफ को प्रभावित करने वाले कारक क्या हैं? (What are the factors that can influence the SBI Clerk Cut-Off?)

निम्नलिखित कारक कट-ऑफ को प्रभावित करते हैं:

  • कट-ऑफ को प्रभावित करने वाला पहला कारक रिक्तियों की संख्या (Number of vacancies) है। रिक्तियों में वृद्धि या कमी प्रभावित कर सकती है.
  • दूसरा कठिनाई का स्तर ( Difficulty Level) है, यदि परीक्षा आसान है, तो कट ऑफ बढ़ जाती है जबकि कठिन परीक्षाओं के मामले में कट-ऑफ निश्चित रूप से कम हो जाएगी,
  • अंत में परीक्षा में उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों की संख्या (Candidates appearing in the Exam) है.



SBI Clerk Prelims Cut-Off Trend of 2021


State

SBI Clerk Prelims Cut-Off of 2021 (Gen)

Uttarakhand

81.75

Gujarat

64.5

Madhya Pradesh

81.25

Assam

68.5

Uttar Pradesh

81.25

Punjab

75.5

Tami Nadu

61.75

Rajasthan

77.75

Delhi

83

Chandigarh

76.5

Arunachal Pradesh

69.25

West Bengal

79.5

Andaman & Nicobar

66.25

Odisha

82

Karnataka

64.25

Himachal Pradesh

80

Kerala

80.25

Haryana

79.75

Telangana

73.75

Maharashtra

66.25





SBI Clerk Prelims State-Wise Cut-Off 2020

State

Cut Off (Gen)

Uttarakhand

69.75

Gujarat

56.75

Madhya Pradesh

68.75

Jharkhand

68.25

Uttar Pradesh

71.00

Punjab

77.50

Tami Nadu

62

Rajasthan

68.75

Delhi

76.25

Chandigarh

76

Andhra Pradesh

68

West Bengal

67.5

Odisha

68.25

Karnataka

58.75

Himachal Pradesh

66

Kerala

69.75

Haryana

72.75

Telangana

66

Maharashtra

59.75

Bihar

68.75

Chhattisgarh

68.75






SBI Clerk Prelims State-Wise Cut-Off 2019

State

SBI Clerk Prelims Cut-Off

Uttar Pradesh

72.25

Uttarakhand

75.25

Chhattisgarh

57.50

Bihar

76.25

Jharkhand

75

Assam

57

Maharashtra

62.50

Madhya Pradesh

73.50

J & K

81.75

Karnataka

48.50

Kerala

78

Odisha

73.5

Delhi

71.25

Chandigarh

77.25

West Bengal

73.25

Rajasthan

71

Telangana

68.50

Punjab

76.25

Haryana

75.25

Gujarat

 65.5

Andhra Pradesh

74.75

Tamil Nadu

61.25

Himachal Pradesh

71.75


SBI Clerk Prelims State-Wise Cut-Off 2018

State

Cut-off for General Category (Out of 100)

Andhra Pradesh

71

Arunachal Pradesh

59.75

Assam

51.25

Bihar

66.50

Chattisgarh

67.25

Delhi

71.75

Gujarat

57.50

Haryana

70.50

Himachal Pradesh

68

Jharkhand

69.25

Karnataka

63.75

Kerala

69.00

Madhya Pradesh

66.25

Maharashtra

57.00

Meghalaya

50.75

Nagaland

57

Odisha

62.75

Punjab

71.50

Rajasthan

69.00

Tamil Nadu

60.00

Telangana

68.00

Uttar Pradesh

69.25

Uttarakhand

71

West Bengal

66.50





Also Check: