RBI Assistant Mains 2020 : क्रैक करने के लिए बेस्ट स्ट्रेटेजी

RBI Assistant Mains 2020 : क्रैक करने के लिए बेस्ट स्ट्रेटेजी



RBI Assistant Mains Strategy 2020 - भारतीय रिजर्व बैंक ने RBI असिस्टेंट 2020 मेंस परीक्षा को कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए स्थगित कर दिया हैं, मेंस परीक्षा का आयोजन 29 मार्च को किया जाना था. आगे परीक्षा कब आयोजित होगी इसकी कोई भी सूचना अभी तक जारी नहीं की गई है. ऐसी उम्मीद की जा रही है कि COVID 19 के खतरे के खतरे के कम होते ही, नई तिथियाँ जारी कर दी जायेंगीं. इसलिए आपको अपनी प्रिपरेशन में किसी तरह की कमी नहीं करनी चाहिए.


आपको पूरा फोकस अपनी preparation पर करना चाहिए. RBI असिस्टेंट भर्ती में मेंस परीक्षा अंतिम चरण हैं. इसमें किसी तरह का इंटरव्यू राउंड नहीं है. मेंस परीक्षा के  आधार पर ही मेरिट लिस्ट बनाई जाएगी. ऐसे में आपको कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहिए. आप अपने लक्ष्य से बस एक कदम दूर हैं, ऐसे में आपको यह अवसर हाथ से  नहीं जाने देना चाहिए. . हम यहाँ RBI असिस्टेंट मेंस को क्रैक करने के लिए पूरी स्ट्रेटेजी बताएँगे. अगर आप भी इस  परीक्षा में सफल होना चाहते हैं तो इस लेख को ध्यान से पढ़ें.


यह पढ़ें :

RBI ने RBI असिस्टेंट के लिए 926 वैकेंसी जारी की थी और ऑफिसियल नोटिफिकेशन के अनुसार लगभग 12000 स्टूडेंट्स प्रीलिम्स परीक्षा में सक्सेस हुए हैं जिन्हें मेंस परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाना है. इसलिए कड़ा competition देखने को मिलेगा. इस लिए आप अगर सफल होना  चाहते हैं तो आपको अपना बेस्ट देना होगा.


परीक्षा की स्ट्रेटेजी से पहले परीक्षा पैटर्न को समझना बहुत जरुरी है. इसलिए हम यहाँ मेंस का परीक्षा पैटर्न दे रहे हैं. जो इस प्रकार है.

RBI असिस्टेंट 2019 मेंस परीक्षा पैटर्न 
  • कुल आवंटित समय : 135 मिनट  
  • कुल प्रश्न : 200 प्रश्न 
  • अनुभागीय समय - हाँ 
  • अनुभागीय कट ऑफ- हाँ  

क्र. संख्या विषय प्रश्नों की संख्या  अधिकतम अंकसमय-सीमा 
1.English Language404030 मिनट 
2.संख्यात्मक अभियोग्यता404030 मिनट 
3.तार्किक क्षमता 404030 मिनट 
4.सामान्य जागरूकता 404025 मिनट 
5.कंप्यूटर ज्ञान 404020 मिनट 
कुल 200200135 मिनट 
नोट: RBI असिस्टेंट भर्ती प्रक्रिया में अनुभागीय कट-ऑफ और अनुभागीय समय है। इसलिए उम्मीदवार को सभी वर्गों को समान महत्व देना चाहिए।


RBI असिस्टेंट मेंस 2020 स्ट्रेटेजी 

स्टडी प्लान :

जब आप बैंकिंग परीक्षा की तैयारी करते हैं तो आपको एक प्लान के साथ आगे बढ़ना चाहिए, तभी आपको इस बढ़ते competition में सक्सेस मिल सकती है. एक अच्छी तरह से बनाया गया प्लान, बैंकिंग परीक्षा में आसानी से सफलता दिलाने में मदद कर सकता है. आप विषय के अनुसार टाइम टेबल बनाने के लिए पाठ्यक्रम और Last Year के पेपर जरुर देखें. आप परीक्षा की तैयारी में किसी भी तरह की कमी नहीं छोड़ सकते हैं. प्रत्येक विषय के लिए कम से कम 1-2 घंटे तय करें, जो आपकी परीक्षा में सफलता दिलाने के लिए बहुत जरुरी है. आप अपने अनुसार टाइम टेबल बनाना न भूलें और उसका दृढ़ता से पालन करें. Bankersadda में प्रत्येक बैंक परीक्षा के लिए मेमोरी बेस्ड प्रश्न और मॉक टेस्ट उपलब्ध करता है, इसलिए आप बैंकर्सअड्डा के साथ बने रहें.

टाइम मैनेजमेंट : 

बैंकिंग क्षेत्र में जॉब की इच्छा रखने वाले स्टूडेंट्स को समय का मैनेजमेंट अवश्य करना चाहिए, इसके बिन सक्सेस नहीं मिल सकती है. ऊपर उल्लेखित पैटर्न को समझने के बाद, आप जान पाएंगे कि इस परीक्षा में एक निश्चित समय सीमा है, प्रत्येक सेक्शन के लिए अलग समय सीमा  है और परीक्षा ऑनलाइन मोड में है. इसलिए, जैसे ही समय सीमा समाप्त होती है, परीक्षण स्वतः बंद हो जाता है. इसके अलावा टाइम मैनेजमेंट के बिना क्वांट और रीजनिंग के प्रश्नों को समय पर हल कर पाना बहुत मुश्किल है. इसलिए टाइम मैनेज करें और अधिक से अधिक मॉक और टेस्ट सीरीज से प्रैक्टिस करने का प्रयास करें. अपनी मिस्टेक्स को सुधारें. अभ्यास से आपकी स्पीड, चयन करने की क्षमता और एक्यूरेसी सुधरने में मदद मिलेगी.


Continuation study- 

अगर आप नियमित रूप से एक टाइम टेबल के साथ अध्ययन नहीं करते हैं, तो ऐसे में आपको परीक्षा को क्रैक करने में मुश्किल हो सकती है. जब आप बैंक परीक्षा क्रैक करने की योजना बनाते हैं, तो अपने प्रयासों में निरंतरता लाने का प्रयास करें. डेली प्रैक्टिस के बिना बैंकिंग परीक्षा क्रैक करना पॉसिबल नहीं हैं. एक भी दिन बिना अभ्यास का मतलब है एक मौका  आपने छोड़ दिया.इसलिए, अपने दैनिक टाइम टेबल  को दृढ़ता के साथ फॉलो करें.


खुद को प्रेरित करें  :

प्रेरणा एक ऐसी चीज है जो बैंकिंग परीक्षा की तैयारी करते समय आपके अन्दर होनी चाहिए, जिससे आप विचलित न हों. कुछ महीनों के लिए, अपने कैरियर को उज्ज्वल बनाने के लिए अपनी पूरी लगन के साथ संघर्ष करें और आप सकारात्मक परिणाम देखेंगे। हमेशा याद रखें "आप इसे कर सकते हैं" ऐसी सोंच के साथ अगर आप आगे बढ़ते है तो सफल अवश्य होंगे.

कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों!



प्रैक्टिस करें,