भारतीय नौसेना दिवस 2019



भारत में नौसेना दिवस 1971 से प्रतिवर्ष 4 दिसम्बर को,  हमारे राष्ट्र की नौसेना बल की उपलब्धियों और उसकी भूमिका को ध्यान में रखते हुए 4 दिसंबर को नौसेना दिवस मनाया जाता है। भारतीय नौसेना भारतीय सशस्त्र बलों की समुद्री शाखा है और भारत के राष्ट्रपति इसके कमांडर-इन-चीफ हैं। मराठा सम्राट, छत्रपति शिवाजी भोंसले को 'भारतीय नौसेना का जनक' माना जाता है।

पृष्ठभूमि

4 दिसंबर को भारत के नौसेना दिवस के रूप में क्यों चुना गया है, इसका विशेष कारण है। 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान कराची बंदरगाह पर भारतीय नौसेना द्वारा शुरू किया गया ऑपरेशन त्रिशूल के स्मरण में भारत ने 4 दिसम्बर को नौसेना दिवस मनाना शुरू किया। इस युद्ध में एंटी-शिप मिसाइल को पहली बार ऑपरेशन में इस्तेमाल किया गया था।

ऑपरेशन 4-5 दिसंबर की रात को आयोजित किया गया था और इसने पाकिस्तानी जहाजों को भारी नुकसान पहुंचाया था। भारतीय नौसेना ने चार पाकिस्तानी जहाजों को नष्ट कर  दिया और पाकिस्तान में कराची के ईंधन भंडारों को तबाह कर दिया। ऑपरेशन के दौरान भारत को कोई नुकसान नहीं हुआ। आईएनएस निपात, आईएनएस निर्घाट ओर आईएनएस वीर, भारतीय नौसेना के तीन युद्धपोतों ने हमले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

कराची बंदरगाह पर हमला करने के लिए भारतीय नौसेना का बेड़ा गुजरात के ओखा पोर्ट से पाकिस्तानी पानी की ओर रवाना हुआ। वह रात में कराची से 70 मील दक्षिण की ओर रवाना हुए और पाकिस्तानी पोत पीएनएस खैबर को नष्ट कर दिया।

कई भारतीय नौसेना कर्मी जो सफल ऑपरेशन का हिस्सा थे, उन्हें वीरता पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।


लक्ष्य

नौसेना दिवस के माध्यम से ऑपरेशन ट्राइडेंट में हमारी नौसेना की ताकत और देश के प्रति उनके समर्पण का सम्मान किया जाता है। नौसेना दिवस संयुक्त अभ्यास, मानवीय मिशन और राहत कार्यों के माध्यम से अन्य देशों के साथ समुद्री सीमाओं को सुरक्षित करने और रिश्तों को मजबूत करने की दिशा में काम करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में मारे गए लोगों को भी याद किया जाता है।


नौसेना दिवस 2019 का विषय 

भारतीय नौसेना दिवस 2019 का थीम "Silent, Strong and Swift" है। जो हमसे देश के योद्धाओं की शक्ति को दर्शाता है। भारतीय नौसेना दिवस 2018 का थीम "Indian Navy, Mission-deployed and Combat-ready" था।


नौसेना दिवस का उत्सव

4 दिसंबर नौसेना दिवस, संयुक्त अभ्यास, मानवीय मिशन और राहत कार्यों के माध्यम से मनाया जाता है। भारतीय नौसेना, नौसेना दिवस की पूर्व संध्या पर मुंबई में गेटवे ऑफ इंडिया पर बीटिंग रिट्रीट समारोह का आयोजन करती है। भारतीय नौसेना बैंड गेटवे ऑफ इंडिया से लेकर मुंबई के रेडियो क्लब के बीच प्रदर्शन करता है। भारतीय नौसेना के युद्धपोत और विमान आगंतुकों, विशेष रूप से स्कूली बच्चों के देखने के लिए खोले जाते हैं।


यह भी पढ़ें :

Click Here for AFCAT-1 2O20 Study Material