जानिये, कैसे करें IBPS PO परीक्षा के लिए टाइम मैनेजमेंट

जानिये, कैसे करें IBPS PO परीक्षा के लिए टाइम मैनेजमेंट


IBPS PO प्रीलिम्स परीक्षा 2019 आपके दरवाजे पर दस्तक दे रही है। यदि आप भी इस परीक्षा में सफल होकर बैंकिंग क्षेत्र में कार्य करने का प्लान बना रहे हैं, तो उसके लिए सबसे अवश्यक है कि आप टाइम मैनेजमेंट करें।  हम सभी जानते हैं, IBPS PO परीक्षा (प्री + मेन्स) में अनुभागीय समयसीमा होती है, जिसकी वजह से इस परीक्षा में गति का महत्त्व बहुत अधिक बढ़ जाता है। अगर आपके पास कैलकुलेशन स्पीड और एक्यूरेसी दोनों है तो आसानी से आईबीपीएस पीओ परीक्षा पास कर सकते हैं। यह दोनों आप कैसे प्राप्त कर सकते हैं? इसके लिए टाइम मैनेजमेंट करना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है.

टाइम मैनेजमेंट टिप्स : IBPS PO प्रीलिम्स 2019

पहली बात यह है कि प्रिलिस्म परीक्षा और मेंस परीक्षा दोनों के लिए  IBPS PO परीक्षा पैटर्न  और IBPS PO सिलेबस  के बारे में जानकारी होना आवश्यक है। सभी के पास बैंक परीक्षाओं में सफल होने की क्षमता है, यदि वह कड़ी मेहनत और नियमित अभ्यास करता है। इसके साथ समय प्रबंधन(टाइम मैनेजमेंट) के महत्व को समझने की जरूरत है। IBPSकी प्रीलिम्स परीक्षा के लिए भी अनुभागीय समयसीमा सुनिश्चित की गई है, जिससे समय प्रबंधन के बिना अब इस परीक्षा को उत्तीर्ण करना  बहुत मुश्किल हो गया है, टाइम मैनेजमेंट के लिए हमारी विशेषज्ञों की टीम ने कुछ सुझाव दिए हैं, जिसका लाभ आप भी ले सकते हैं।

जैसा कि आप सभी जानते हैं, प्रिलिम्स परीक्षा अआपकी भर्ती के लिए प्रवेश द्वार है, इसमें सभी प्रश्न हल करने  की कोशिश न करें, बल्कि उन्ही प्रश्नों को हाथ लगायें जिनमें आपकी पकड़ अच्छी है, आपके पास समय की कमी होगी जिसका उपयोग अन्य स्कोरिंग भागों में किया जा सकता है। प्रीलिम्स परीक्षा सिर्फ योग्यता परीक्षा है, जिसके अंक फ़ाइनल मेरिट लिस्ट बनाने में नहीं देखें जायेंगे, इसलिए यदि कोई जटिल और लम्बा प्रश्न शुरू में आ जाता है तो उसे छोड़ कर आगे बढ़ जाएँ। IBPS PO परीक्षा को क्रैक करने के लिए सरल टाइम मैनेजमेंट टिप्स को फ़ॉलो करें।

टाइम मैनेजमेंट के साथ आप बेहतर स्कोर कर सकते हैं, इसका अभ्यास अंग्रेजी अनुभाग के साथ शुरू करें। IBPS PO प्रीलिम्स परीक्षा में सभी अनुभाग के लिए अलग-अलग 20 मिनट का समय होगा। यह देखें कि आप इसे कैसे सबसे अच्छा बना सकते हैं।

English section : 20 minutes (Due to sectional timing)

ज्यादा परेशान न हों, शुरू में आसान प्रश्नों का प्रयास करें। यदि आप रीडिंग में अच्छे हैं तो आप Reading comprehension के साथ पेपर की शुरूआत कर सकते हैं या फिर व्याकरण भाग के साथ शुरुआत करें हैं। प्रश्नपत्र को कैसे शुरू करना है, यह आपकी क्षमता पर निर्भर करता है। किसी टॉपिक को कितना समय देना है( यदि प्रश्नपत्र इस प्रकार आता है)
Error detection 3 minutes
Sentence Improvement 2 minutes
Cloze test 3 minutes
Fillers 2 minutes
Para jumbles 3 minutes
Reading comprehension As per your reading skill (Not more than 4-5 minutes)

इसके बाद आपके पास 2-3 मिनट बच गए हैं, जिसका उपयोग आप रीविजन  में कर सकते हैं।


संख्यात्मक अभियोग्यता अनुभाग: 20 मिनट 

उम्मीदवारों के बीच में यह खंड सबसे ज्यादा कठिन है। लेकिन अगर अच्छी तरह से इसका अभ्यास आप करते हैं तो आप आसानी से इसमें अच्छा स्कोर कर सकते हैं। प्रश्नों का प्रयास करते समय घबराएं नहीं। उन टिप्स का अभ्यास और प्रयोग करें जिससे कुछ सेकंड में प्रश्न को हल किया जा सकता है। लंबे समय तक एक ही सवाल में  टिकें न रहें।

Number series 3 minutes
Simplifications & Approximation 2 minutes
Quadratic equation 4 minutes
Data Interpretation 5 minutes
Miscellaneous In the left out time

सुनिश्चित करें कि आप जो भी उत्तर दे रहे हैं वह बिल्कुल सही हैं। टाइम मैनेजमेंट के साथ-साथ एक्यूरेसी महत्वपूर्ण है। अनुमान के आधार पर उत्तर न दें। ऐसे में आपके स्कोर में नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है, क्योंकि नेगेटिव मार्किंग है।

तार्किक क्षमता अनुभाग : 20 मिनट (कुल मिलाकर)

इस खंड के माध्यम से आपकी सोचने की क्षमता और तर्क क्षमता का परिक्षण किया जाता है। इस खंड में पज़ल्स सबसे अधिक अंकों का आता है लेकिन कभी-कभी जटिलता के कारण समय भी अधिक लगता है। एक विषय पर कितना समय लगाना चाहिए, यहाँ देखें -


Inequality 3 minutes
Coding- Decoding 2 minutes
Blood relation, Direction sense 4 minutes
Miscellaneous 4 minutes
Puzzles 6-7 minutes

अभ्यर्थियों, हम आशा करते हैं कि ये टिप्स आपकी IBPS PO परीक्षा के संघर्ष में मदद करेंगे। यदि आपके पास कोई समस्या है, और उसके बारे में हमसे पूछना चाहते हैं तो हमसे blogger@adda247.com पर संपर्क करें ।