05/12/2017

Global Entrepreneurship Summit (GES) India 2017 in Hindi

प्रिय उम्मीदवारों,

Global Entrepreneurship Summit (GES) India 2017


आशा है कि आप सभी अपनी परीक्षाओं के लिए अच्छी तैयारी कर रहे हैं.यह वर्ष IBPS SO/ClerkIBPS RRB Officer Interviews, IBPS PO Interviews, RBI Assistant Mains आदि जैसी परीक्षाओं के साथ आपके सामने है. हम उन सभी विद्यार्थीयों को बधाई देना चाहते हैं जिन्होंने पूर्व / मुख्य परीक्षाओं को पास कर लिया है. अब, यह आपकी तैयारियों को आखिरी रूप देने का सर्वोच्च समय है इसके जवाब में, हम आपके साक्षात्कार की तैयारी में आपकी सहायता करने आपके साथ आए हैं. विषय / क्षेत्र के अपने संबंधित ज्ञान के साथ, आपसभी को हाल के दिनों में हुए मौजूदा विषयों से बहुत अधिक जागरूक होना चाहिए. साक्षात्कारकर्ता उम्मीदवारों से उम्मीद करते कि उन्हें शहर / देश / दुनिया में होने वाले विषयों से अवगत होना चाहिए. इसलिए साक्षात्कारकर्ता कर्रेंट अफेयर्स से संबंधित विषयों को पूछने की काफी संभावना है. यहां एक मुख्य विषय के रूप में, हमने हैदराबाद में आयोजित की गई बहुत प्रतीक्षा वालाक उद्यमिता सम्मेलन 2017 के आंकड़ों को संकलित किया है.

संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत ने 28-30 नवंबर 2017 को भारत के हैदराबाद में 8 वें वार्षिक वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (GES) की मेजबानी की है. इस वर्ष के शिखर सम्मेलन का विषय 'Women First, Prosperity for All' है. यह महिलाओं के उद्यमियों के समर्थन और विश्व स्तर पर आर्थिक विकास को बढ़ावा देने पर केंद्रित है. राष्ट्रपति की सलाहकार  इ्वनाका ट्रम्प ने शिखर सम्मेलन में अमेरिका के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया.

शिखर सम्मेलन का आयोजन संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार के साथ साझेदारी में नीति आयोग द्वारा किया गया था.

शिखर सम्मेलन में उद्यमियों, निवेशकों, शिक्षकों, सरकारी अधिकारियों और उद्यमशीलता पर दुनिया की सबसे महत्वपूर्ण घटना के लिए स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के समर्थकों को एक साथ लाया गया. GES 2017 ने उद्यमियों, निवेशकों और पारिस्थितिक तंत्र के समर्थकों के बीच साझे साझेदारियों को जोड़ने और स्थापित करने के लिए एक अनूठा अवसर प्रस्तुत किया.

शिखर सम्मेलन को भारत के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रपति ट्रम्प के सलाहकार, श्रीमती इवेंका ट्रम्प ने संबोधित किया था.

इस वर्ष शिखर सम्मेलन में मुख्य रूप से चार अभिनव, उच्च-वृद्धि वाले उद्योगों पर ध्यान केंद्रित किया गया-
  1. हेल्थकेयर और लाइफ साइंसेज,
  2. डिजिटल अर्थव्यवस्था और वित्तीय प्रौद्योगिकी,
  3. ऊर्जा और बुनियादी सुविधा,
  4. मीडिया और मनोरंजन



No comments:

Post a Comment