Friday, 16 June 2017

IBPS PO 2017 में अपेक्षित परिवर्तन- प्रश्नों का नया पैटर्न!

प्रिय पाठकों,



स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की भर्ती हमेशा से बैंकिंग भर्ती उद्योग में एक ट्रेंडसेटर रही है जिसका आधार आमतौर पर आईबीपीएस और अन्य भर्ती कंपनी द्वारा अपने संशोधित संस्करण में दिखाई देता है. खैर, इस वर्ष की SBI PO भर्ती की सामान्य लिखित परीक्षाएं समाप्त हो चुकी हैं, जहां Prelims परीक्षा अपेक्षा से अधिक आसान थी दूसरी ओर Mains परीक्षा उम्मीदवारों द्वारा दी गयी सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक थी. हां, इस वर्ष भी एसबीआई ने बैंकिंग उद्योग में प्रोबेशनरी ऑफिसर्स की भर्ती के लिए नए उद्योग मानकों की स्थापना की है.

अब एसबीआई परीक्षा के समाप्त हो जाने के बाद यह समय बैंकिंग में अपना कैरियर शुरू करने के इच्छुक प्रत्येक उम्मीदवार के आईबीपीएस पीओ 2017 के लिए एक प्रारंभिक शुरुआत लेने और समुचित योजना बनाने के लिए Mains परीक्षा में आने वाले बदलावों को समझने का है. PSBs और RRBs के Preliminary और Mains परीक्षा के लिए आईबीपीएस के अंतिम कैलेंडर के अनुसार IBPS PO अस्थायी रूप से क्रमश: अक्टूबर और नवंबर के महीने में होगी. इससे आपको एक बेहतर शुरुआत के लाभ के लिए बहुत समय मिलता है. इसलिए IBPS PO की तैयारी के लिए अब एक भी दिन का इंतजार भी ना करें.

बैंकिंग भर्ती CWE के लिए नए पैटर्न की सूची में SBI PO Mains परीक्षा को शामिल किया गया है. सभी विषयों में डेटा विश्लेषण और निर्वहन विशेष रूप से चुनौतीपूर्ण थे.
अंग्रेजी अनुभाग भी काफी कठिन स्तर का देखा गया था, जिसमें कई प्रश्न उच्च स्तर के थे. 2017 की बैंकिंग भर्ती परीक्षा के लिए अब तक की सबसे कठिन परीक्षाओं में शामिल कुछ महत्वपूर्ण तथ्य है जिन्हें आईबीपीएस परीक्षा की तैयारी करते समय आपको ध्यान रखना चाहिए..

अंग्रेजी अनुभाग

इस अनुभाग की कठिनाई का स्तर उम्मीदवारों की भर्ती परीक्षा में बढ़ोत्तरी के साथ बढ़ता जा रहा है, लेकिन चिंता न करें, सही अभ्यास के साथ आप इस अनुभाग में अच्छे अंक अर्जित कर सकते हैअब एक दिन-प्रतिदिन व्यावहारिक दृष्टिकोण का उपयोग अधिक आवश्यक है इसलिए हमेशा अप्रत्याशित के लिए तैयार रहें. आख़िरकार अंग्रेजी एक भाषा है और अनिवार्य रूप से एक भाषा के दो सबसे महत्वपूर्ण पहलु होते  है, रचना और वाक्यविन्यास. यदि आप अपनी शब्दावली, व्याकरण ज्ञान और समझ कौशल में सुधार और कार्य करते हैं तो आप आसानी से किसी भी नए पैटर्न प्रश्न से निपट सकते हैं.

SBI PO Mains 2017 में इस वर्ष के नए पैटर्न प्रश्न या परंपरागत प्रश्नों में निम्नलिखित बदलाव किए गए थे:

Reading Comprehension: RC के पैटर्न में अधिक परिवर्तित नहीं है. उन्होंने RC के प्रत्येक पैराग्राफ के बाद पैराग्राफ-1, पैराग्राफ-2 आदि लिखे है और प्रत्येक RC में 5 प्रश्नों का एक सेट था, जिसमें vocabulary पर आधारित कोई भी प्रश्न नहीं था. paragraph connector का एक नया प्रश्न दिया गया था, उदाहरणार्थ: Which of the following statements can follow paragraph 4 to form a connection with paragraph 5?

Sentence Formation:  इस प्रकार में, प्रश्न में चार कथन दिए गए थे और उम्मीदवार को यह चुनाव करना था कि दिए गये विकल्पों में से कौन सा सही उत्तर है जहां यह सभी भाग एक पूर्ण, अर्थपूर्ण और व्याकरणिक रूप से सही वाक्य से जुड़े हैं.

Error Detection:  SBI PO Mains में पारंपरिक error detection के 4 प्रश्न और नए पैटर्न के error detection के 4 प्रश्न थे. नये प्रारूप के प्रश्न अनिवार्य रूप से पारंपरिक प्रश्नों जैसा ही थे. जहां आपको वाक्य के एक हिस्से में त्रुटि की पहचान करनी थी लेकिन यहाँ यह एक बहुत अलग तरीके में प्रस्तुत किया गया था, जिससे उम्मीदवारों को बहुत कठिनाई का सामना करना पड़ा
एक वाक्य को तीन भागों में विभाजित किया गया था और प्रश्न में ही, उन्होंने अलग-अलग तीनों हिस्सों (I), (II) और (III) के लिए अलग-अलग वाक्यांशों दिए थे. अब उम्मीदवारों को यह ज्ञात करना था कि त्रुटि एक भाग में थी या दो भागों में या सभी भागों में और पहले, द्वितीय या तीसरे भाग के लिए किसी भी हिस्से में और दिए गए वाक्य यदि व्याकरणिक रूप से सही है, तो प्रदान किये गये improvement सही है या किसी correction की आवश्यक नहीं है

Phrase Interpretation: इस प्रकार के प्रश्न में एक phrase में एक वाक्य बोल्ड के रूप में चिह्नित किया गया था और उस phrase की तीन परिभाषाओं को अलग से प्रदान किया गया था. उम्मीदवारों को उस विकल्प के बीच उस वाक्यांश की सही व्याख्या की पहचान करना होगा.

Double Fillers: प्रश्न में दिए गए दो वाक्यों में से प्रत्येक में दो खाली स्थान थे और उम्मीदवार को उस विकल्प का चयन करना होगा जो सही शब्दों के समुचित सेट प्रदान करता है जो दोनों कथनों में रिक्त स्थान को उचित रूप से फिट करता है और उसी क्रम में उन्हें सार्थक और व्याकरणिक रूप से सही बना देता है.  

Passage Inference: passage inference के यह प्रश्न विपरीत क्रम में थे, जहां वे पहले ही प्रश्न में निष्कर्ष (phrase) के साथ प्रदान किया गया है और उम्मीदवारों को उन विकल्पों के बीच सही विकल्प की पहचान करनी है जिससे अनुमान लगाया गया था.


Sentence Rearrangement:  Jumbled sentences के इन प्रश्नों में भी उम्मीदवारों को कुछ तार्किक कौशल लागू करने की आवश्यकता है, जिसमें यह पूछा गया था कि यदि दिया गया वाक्य या अंतिम वाक्य में से कौन सा ऐसा वाक्य होगा जो गद्यांश के संदर्भ से संबंधित नहीं है; या या फिर पुनर्व्यवस्था का क्रम क्या होगा.

Must Do for IBPS PO 2017: English Language

  • पढ़ने की आदतें विकसित करना और आकलन कौशल को बेहतर बनाने के लिए दैनिक समाचार पत्र पढ़ना
  • फ़िलर और क्लोज टेस्ट प्रश्नों के लिए शब्दावली को सुधार
  • speech के सभी भागों से संबंधित अंग्रेजी व्याकरण नियमों को जानें 
  • सभी महत्वपूर्ण phrasal verbs याद रखें 
  • सभी विभिन्न प्रकार के sentence structures को जानें, उदा. Conditionals आदि.  
  • Sentence Rearrangement के लिए, connecting words, conjunctions, और prepositional phrases को जानें.  
  • नए पैटर्न के प्रश्नों के लिए, हमेशा निर्देशों को दो बार पढ़ें, यदि निर्देश स्पष्ट है तो आप आसानी से प्रश्नों का उत्तर दें सकते हैं


डेटा विश्लेषण और निर्वहन

क्वांट अनुभाग बहुत उम्मीदवारों के लिए बहुत लंबा और गणनात्मक था क्योंकि डाटा इंटरप्रिटेशन के प्रश्न भी निम्न विषयों पर आधारित थे - समय और कार्य, लाभ और हानि. कई उम्मीदवारों का मानना था कि यह SBI PO Mains 2017 परीक्षा का सबसे कठिन अनुभाग था. अब यह स्पष्ट है कि उम्मीदवार अवधारणाओं और विविध अंकगणित भाग के अभ्यास से बचने के बारे में नहीं सोच सकते अंकगणित प्रश्नों के अलावा आप विषय आधारित डेटा व्याख्या भी प्राप्त कर सकते हैं.

Topic Based Data Interpretation: आमतौर पर DI प्रतिशत, औसत, अनुपात की अवधारणाओं पर आधारित होती है लेकिन इस बार SBI PO Mains 2017 DI समय और कार्य और लाभ और हानि पर आधारित थी.


Advanced level of Probability:   बैंक की भर्ती परीक्षा में पूछे जाने वाले पारंपरिक प्रायिकता के प्रश्नों के मुकाबले यह प्रश्न उन्नत थे.



Must Do for IBPS PO 2017: Quantitative Aptitude

  • पहाड़े, वर्ग, घन, वर्गमूल और घनमूल
  • समय बचाने के लिए त्वरित गणना की क्षमता को विकासित करें.
  • अंकगणित भाग के लिए फ़ार्मुलों और तकनीकों को जानें - समय और कार्य, गति, दूरी और समय, अनुकूल-प्रतिकूल, प्रतिशत, अनुपात, औसत, लाभ और हानि, साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज, ट्रेनों पर प्रश्न, आयु पर प्रश्न.
  • प्रायिकता, क्रमांतरण और संयोजन के कठिन स्तर के प्रश्नों का अभ्यास करें  



Reasoning and Computer Aptitude

सबसे पहले, SBI PO Mains 2017 में कंप्यूटर योग्यता का कोई प्रश्न और तार्किक क्षमता का कोई भी नये पैटर्न का प्रश्न पेश नहीं किया गया था. IBPS परीक्षा के लिए अभ्यास करने के लिए यह आपका सूत्र हो सकता है.

Diagram based Input Output questions: पारंपरिक मशीन इनपुट आउटपुट प्रश्नों के बजाय इस वर्ष SBI ने एक आरेखित इनपुट आउटपुट प्रश्नों के साथ छात्रों को आश्चर्यचकित किया जहां उम्मीदवारों को आरेख में आंकड़े/संख्याओं से तर्क और संबंध ज्ञान करना था और अगले चरण के लिए प्रक्रिया का अनुमान लगाना था.

Puzzles:  पजल और बैठने की व्यवस्था के प्रश्नों की संख्या में वृद्धि हुई है, यहां तक कि दिशा आधारित प्रश्न भी पजल के रूप में थे. इस वर्ष SBI ने एक गणना आधारित पजल पेश की जिसमें छात्रों को तेजी से गणना करने की आवश्यकता थी क्योंकि यह बहुत लंबी पजल थी. परीक्षा के समय पर किसका प्रयास करना है और किसे छोड़ना है, यह चुनना बेहद मुश्किल था. यदि इस प्रकार के प्रश्न हल करने में बहुत अधिक समय लग रहा है तो उन्हें छोड़ना ही एक बुद्धिमानी का निर्णय है. लेकिन आगामी परीक्षाओं के लिए इनका अच्छी तरह से अभ्यास करें क्योंकि आपको सबसे मुश्किल चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार होना चाहिए.

Coding-Decoding: इस बार कोडिंग डिकोडिंग समय आधारित थी, जिसमें प्रश्नों को हल करने के लिए कुछ बुनियादी गणना की भी आवश्यकता थी.



Must Do for IBPS PO 2017: Reasoning Ability

  • अपनी गणना की गति और सटीकता में सुधार करें.
  • उच्च स्तरीय पजल और बैठने की व्यवस्था के प्रश्नों के साथ अभ्यास करें.
  • उच्च क्रम सोच कौशल विकसित कीजिये.
  • लॉजिकल रीजनिंग, दिशा संवेदना प्रश्न, रक्त संबंध, कोडिंग-डिकोडिंग, मशीन इनपुट-आउटपुट के प्रनों का अभ्यास करें.


अपनी IBPS PO 2017 की तैयारी अभी शुरू करें, आपके पास अपनी तैयारी पूरी करने के लिए अब करीब 3 महीने का समय है और IBPS भर्ती में 1 सीट प्राप्त कर बैंकिंग सेक्टर में प्रोबेशरीरी ऑफिसर के रूप में अपना कैरियर शुरू करने का सुनहरा अवसर है.

You may also like to read:





CRACK IBPS PO 2017




11000+ (RRB, Clerk, PO) Candidates were selected in IBPS PO 2016 from Career Power Classroom Programs.


9 out of every 10 candidates selected in IBPS PO last year opted for Adda247 Online Test Series.

No comments:

Post a Comment