08/03/2017

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस : एक महिला को शिक्षित करें और राष्ट्र को सशक्त बनायें

महिलाओं के सशक्तिकरण से तात्पर्य महिलाओ के सही या अच्छे कार्य करने से नहीं बल्कि स्मार्ट कार्य करने से है, उनके भीतर जन्म देने, पोषण और परिणत करने की शक्ति है.


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च) एक वैश्विक दिन है जो महिलाओं के सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक उपलब्धियों के जश्न का दिन हैयह महिलाओं द्वारा सामना किये जाने वाली बहुत सी बाधाओं और समस्याओं का भी स्मरण कराता है और साथ ही उन बाधाओं के बावजूद भी उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन का भी साक्षात्कार कराता है.

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पहली बार उत्तरी अमेरिका और पूरे यूरोप में बीसवीं शताब्दी में श्रम आंदोलनों की गतिविधियों से प्रभाव से आरम्भ हुआआज महिलाएं जीवन के सभी क्षेत्रों में महत्वपूर्ण स्थान पर विराजमान हैंउन्होंने अपना योगदान सभी क्षेत्रो में दिया है; वह बंधनकारी और विकास में बाधक सामाजिक नियमों को चुनौती दे रही हैं और समाज द्वारा बनाये गए बंधनों को तोड़कर आगे बढ़ रही हैं.


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2017 का विषय है 'Be Bold for Change'. यह अभियान एक बेहतर व्यवाहरिक दुनिया की ओर काम करने और एक अधिक लिंग (जेंडर) समावेशी दुनिया के लिए लोगों के सहयोग की अपेक्षा करता है. इस थीम का विचार नए सतत विकास लक्ष्यों के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए गति का निर्माण करना, लैंगिक समानता हासिल करना और सभी महिलाओं एवं बालिकाओं को सशक्त बनाने के साथ सभी के लिए समावेशी और गुणवत्ता शिक्षा सुनिश्चित करना तथा आजीवन शिक्षा को बढ़ावा देना है

भारतीय बैंकिंग जगत में, अरुंधति भट्टाचार्य और चंदा कोचर सरकारी एवं निजी क्षेत्र के दो सबसे बड़े बैंकों की अगुवाई कर रही हैं. अरुंधति भट्टाचार्य, भारतीय स्टेट बैंक की पहली महिला अध्यक्ष हैं और 2016 में फोर्ब्स द्वारा विश्व की 25वीं सबसे शक्तिशाली महिला के रूप में सूचीबद्ध हैं. चंदा कोचर आईसीआईसीआई बैंक की एमडी और सीईओ हैं और भारत में खुदरा बैंकिंग को आकार देने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है. 2016 में, वह इंडिया टुडे के 'हाई और माइटी पॉवर लिस्ट 2016' में 40वें स्थान पर थीं और फोर्ब्स एशिया की '50 पावर बिजनेस वीमेन लिस्ट 2016 में 22 वें स्थान पर है’.

महिलाएं समाज की वास्तुकार हैं और आज महिलाएं हर जगह नेतृत्व की भूमिका में हैं, वे एक कंपनी की सीईओ भी हैं और एक गृहिणी भी जो अपने बच्चों को एक विद्यार्थी बनाकर उनका भविष्य संवार रही है. इतिहास साक्षी है और वर्तमान भी हमें सिखाता है कि समाज एवं संस्कृति के निर्माण में महिलाओं का प्रमुख योगदान है ............. हम उन्हें सलाम करते हैं !

महिला उम्मीदवारों को प्रोत्साहन के एक छोटे प्रतीक के रूप में, Adda247 की एक इकाई - करियर पॉवर ने अपनी सभी कक्षा कार्यक्रमों में 50% discount को 08 मार्च तक बढ़ा दिया है. यह ऑफर पूरे भारत में करियर पॉवर की सभी शाखाओं पर उपलब्ध है और इस नकद भुगतान, कार्ड से या चेक द्वारा इस छूट का लाभ लिया जा सकता है.


CRACK SBI PO 2017



More than 250 Candidates were selected in SBI PO 2016 from Career Power Classroom Programs.


9 out of every 10 candidates selected in SBI PO last year opted for Adda247 Online Test Series.

No comments:

Post a Comment