Sunday, 29 January 2017

IBPS SO Rajbhasha Adhikari (स्केल I) 2016-17 Exam Analysis




प्रिय उम्मीदवारों,IBPS SO Rajbhasha Adhikari (स्केल-I) की परीक्षा समाप्त हो चुकी है और अब IBPS SO Rajbhasha Adhikari (स्केल-I) की परीक्षा विश्लेषण का समय है. कल की आईटी अधिकारी परीक्षा के पैटर्न और तार्किक शक्ति और अंग्रेजी के प्रश्नों के स्तर में कुछ बदलाव नजर आये  और कुछ ऐसा ही पैटर्न आज भी देखा गया.आईबीपीएस एसओ राजभाषा अधिकारी परीक्षा में चार वर्ग थे- अंग्रेजी, तार्किक शक्ति, सामान्य जागरूकता और व्यावसायिक ज्ञान थे.आइस अर्ष ईबीपीएस एसओ राजभाषा अधिकारी (स्केल I) में केवल व्यावसायिक ज्ञान को छोड़कर सभी वर्ग आसन थे और केवल व्यावसायिक ज्ञान ही मेरिट सूचि को निर्धारित करेगा. शिफ्ट का स्तर माध्यम से कठिन था.



पूर्ण विश्लेषण:

SECTIONS
GOOD ATTEMPTS
ENGLISH LANGUAGE
17-22
REASONING ABILITY
18-26
GENERAL AWARENESS  
25-30
PROFESSIONAL KNOWLEDGE
38-43












अंगेजी भाषा (कठिन):
कल की SO IT अधिकारी परीक्षा में देखे गये परिवर्तन आज की परीक्षा में भी प्रबल रूप से नजर आये.  इस वर्ग का स्तर कठिन स्तर था. सवालों नए पैटर्न के थे, एरर और रिक्त स्थान , जहां उन्होंने दो वाक्यों में दो रिक्त स्थान दिए थे जहाँ एक शब्द आना था. इन विषयों के अलावा, वहाँ रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन, एरर और जम्ब्ल्ड  पैराग्राफ से प्रश्न थे

सामान्य जागरूकता (आसन से माध्यम):
G.A का वर्ग अन्य वर्गों की तुलना में अपेक्षाकृत आसान था. अधिक्तर प्रश्न बैंकिंग जागरूकता के सैद्धांतिक भाग से थे. वहाँ करंट अफेयर्स और स्टेटिक जागरूकता से भी  प्रश्न थे.

तर्क शक्ति (मध्यम-कठिन):
इस खंड में 50 प्रश्न और 30 मिनट का निर्धारित समय था. इसका पैटर्न आईबीपीएस अधिकारी परीक्षा के तर्क अनुभाग के समान था. कुल मिलाकर यह वर्ग माध्यम से कठिन था. पूछे गए प्रश्नों के विषय, इनइक्वलिटी (आसान) स्य्ल्लोगिस्म (आसान-मध्यम), पजल और बैठने की व्यवस्था (मुश्किल, 2 चर पजल), पैसेज इन्तेर्फेरांस (मुश्किल), डेटा पर्याप्तता (मध्यम-मुश्किल) थे. 

व्यावसायिक ज्ञान (मध्यम-कठिन):
यह खंड थोड़ा लंबा था, हालांकि कठिनाई स्तर मध्यम था. यह निर्णायक अनुभाग था, व्यवसायिक ज्ञान में अधिकतम 80 अंकों में से प्राप्त अंक निर्णायक कारक के रुप में होगा,अगर एक उम्मीदवार का नाम मेरिट लिस्ट में होगा. इसमें रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन(महिला सशक्तिकरण से संबंधित)  व्याकरण, पर्याय (पर्यायवाची), अनुवाद और शब्दार्थ के प्रश्न थे.


अगली शिफ्ट के लिए शुभकामनाएं!!!!!



No comments:

Post a Comment