करंट अफेयर्स सीरीज़: सरकार ने देश में 5G टेक्नोलॉजी के ट्रायल की अनुमति दी (The government has given permission for trials of 5G Technology)

करंट अफेयर्स सीरीज़: सरकार ने देश में 5G टेक्नोलॉजी के ट्रायल की अनुमति दी (The government has given permission for trials of 5G Technology)


A
dda247 अपने सभी उम्मीदवारों के एक नई करेंट अफेयर्स स्पेशल सीरीज़ की शुरुआत की है, इस सीरीज़ में, रोज़ाना (daily basis) पर Candidates को महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स के टॉपिक्स में किसी एक टॉपिक के बारे में Detailed information दी जाएगी, जिससे न केवल उनकी जनरल अवेयरनेस में सुधार होगा, बल्कि परीक्षा में उम्मीदवार कर्रेंट अफेयर्स विषय से पूछे जाने वाले सवाल का जवाब Confident के साथ दे सकेगे.

 इसी कड़ी में आज का हमारा करेंट अफेयर्स टॉपिक है- सरकार ने देश में 5G टेक्नोलॉजी के ट्रायल की अनुमति दी (The government has given permission for trials of 5G Technology) -  करेंट अफेयर्स स्पेशल सीरीज. यदि आप किसी Government Bank Job में जाना चाहते है तो ये बहुत ही जरुरी हो जाता है कि आपको करेंट अफेयर्स की अच्छी Knowledge हो.



The government has given permission for trials of 5G Technology :

भारत सरकार ने दूरसंचार कंपनियों को 5G प्रौद्योगिकी के उपयोग और प्रयोग की विधि पर परीक्षण करने के अनुमति दे दी है।

 

भारती एयरटेल लिमिटेड, रिलायंस JioInfocomm लिमिटेड, वोडाफोन आइडिया लिमिटेड तथा MTNL नामक कम्पनियों के द्वारा आवेदन दिये गए हैं। दूरसंचार प्रदान करने वाली इन कंपनियों ने मूल उपकरण निर्माताओं और प्रौद्योगिकी प्रदाताओं एरिक्सन, नोकिया, सैमसंग और सी-डॉट के साथ समझौता किया था। ये परीक्षण रिलायंस JioInfocomm लिमिटेड स्वदेशी रूप से विकसित की गई तकनीक का प्रयोग करके करने जा रहा है। संचार मंत्रालय की ओर से जानकारी दी गई कि परीक्षण के लिए सभी को 6 महीने का समय दिया गया है जिसमें उपकरणों की खरीद और स्थापना के लिए 2 महीने की अतिरिक्त अवधि भी शामिल है।

 

भारत सरकार के द्वारा जारी किये गए अनुमति पत्र में निर्देश दिया गया है कि प्रत्येक दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को ग्रामीण और अर्ध-शहरी सेटिंग्स में परीक्षण करना होगा जिससे पूरे देश को 5G तकनीक का लाभ मिल सके। 5G परीक्षण आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य 5G स्पेक्ट्रम प्रसार गुणवत्ता का परीक्षण विशेष रूप से देश के लिए स्वदेशी प्रौद्योगिकी का परीक्षण और 5G फोन और उपकरणों का परीक्षण है।

 

मंत्रालय ने कहा कि 5G तकनीकी का उद्देश्य डेटा डाउनलोड दरों के साथ ही उपयोग का बेहतर अनुभव प्रदान करना है जिससे कि 5G के 10 गुना तथा स्पेक्ट्रम के 3 गुना अधिक क्षमता तक बढ़ जाने की उम्मीद है। दूरसंचार विभाग ने बताया है कि परीक्षण को अलग-अलग किया जाएगा तथा दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों के मौजूदा नेटवर्क के साथ जोड़ा नहीं जाएगा।

 


Also Read,