NABARD Full Form: जानिए, क्या है नाबार्ड और इसके कार्य? NABARD Established Date

NABARD Full Form: जानिए, क्या है नाबार्ड और इसके कार्य? NABARD Established Date

NABARD is which type of bank?  What kind of bank is NABARD? NABARD Full Form: NABARD Established Date

NABARD Full Form 2021:- NABARD का फुल फॉर्म National Bank For Agriculture and Rural Development या राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक है. इसका मुख्यालय (headquarter) मुंबई, महाराष्ट्र में है. नाबार्ड की स्थापना (NABARD Established Date) वर्ष 12 जुलाई 1982 में विकास सहायता' और 'गरीबी में कमी' लाने के लिए की गई थी. इस लेख के माध्यम से हम NABARD Function और उससे जुडी अन्य जानकारियाँ देंगे. अगर आप बैंकिंग सेक्टर में जॉब करने की इच्छा रखते हैं तो आपके लिए यहाँ जानकारी महत्वपूर्ण हैं. 


क्या है नाबार्ड - What is NABARD

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि और अन्य गतिविधियों के लिए ऋण से सम्बंधित क्षेत्र में काम करता है. देश में NABARD के कई कार्यालय हैं जिनमें से प्रत्येक के पास कई विभाग हैं जो विशिष्ट उद्देश्यों और जिम्मेदारियों को को पूरा करते हैं. डॉ. जी. आर. चिंतला (Dr. G.R. Chintala) 27 मई 2020 से राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के अध्यक्ष हैं


History of NABARD

पहले RBI सक्रिय रूप से कृषि वित्त से जुड़ा हुआ था जो धीरे-धीरे कठिन होने लगा और Agricultural Refinance and Development Corporation (ARDC) पुनर्वित्त की आवश्यकताओं को पूरा करने में असमर्थ था. इसलिए RBI ने कृषि वित्त से खुद को दूर करने का निर्णय लिया और जब श्री सिरमारन के अधीन एक समिति गठित की गई, जो इसके पहले अध्यक्ष थे. शिवरामन समिति द्वारा दी गई सिफारिशों को स्वीकार कर लिया गया और उसके बाद 12 जुलाई 1982 को नाबार्ड का गठन किया गया. नाबार्ड के वर्तमान अध्यक्ष - डॉ. जी. आर. चिंतला (Dr. G.R. Chintala) 27 मई 2020 से राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के अध्यक्ष हैं.


Role & Functions of NABARD

नाबार्ड एक वित्तीय संस्थान है जो भारत के ग्रामीण क्षेत्रों के विकास से संबंधित है. यह ग्रामीण भारत, विशेषकर किसानों की वित्तीय आवश्यकताओं को सुलझाने के लिए प्रमुख रूप से जिम्मेदार है.


नाबार्ड की कुछ मुख्य जिम्मेदारियां निम्नलिखित हैं (Responsibilities of NABARD is following ):

  • नाबार्ड कृषि क्षेत्र को पुनर्वित्त सुविधा प्रदान करता है.
  • यह कृषि क्षेत्र में, नीति, योजना और संचालन ’से संबंधित मामलों और ग्रामीण भारत में अन्य विकासात्मक गतिविधियों से संबंधित है.
  • यह उन संस्थानों को भी पुनर्वित्त(refinance) करता है जो ग्रामीण क्षेत्रों को वित्तीय सहायता प्रदान करते हैं.
    यह उन संस्थानों को प्रशिक्षित करने में भी शामिल है जो ग्रामीण क्षेत्रों के उत्थान की दिशा में काम कर रहे हैं.
  • यह ग्रामीण विकास के उद्देश्य से कार्यक्रमों के कार्यान्वयन के लिए भी जिम्मेदार है.
    आरआरबी का विनियमन और पर्यवेक्षण ( Regulation and supervision ) नाबार्ड की एक अन्य महत्वपूर्ण भूमिका है. यह राज्य सहकारी बैंकों (SCBs), जिला सहकारी केंद्रीय बैंकों (DCCB) और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (RRBs) की देखरेख करता है.


NABARD Recruitment 2021: Important Link


NABARD Recruitment 2021: नोटिफिकेशन, रिक्तियों, पात्रता, परीक्षा पैटर्न, पाठ्यक्रम और आगामी बैंक और बीमा परीक्षाओं से संबंधित सभी अपडेट देखें:

NABARD Recruitment 2021: Important Link

Article

Link

NABARD 2021 Notification PDF

Click Here

NABARD Grade A & B Post-Wise & Category-Wise Vacancy Detailed

Click Here

NABARD Apply Online 2021

Click Here

जानें कैसे करें नाबार्ड ग्रेड A 2021 परीक्षा के लिए तैयारी

Click Here

NABARD Grade A Subject-Wise Syllabus & Exam Pattern

Click Here

NABARD Grade A Previous Year Cut off Category-Wise

Click Here

NABARD GRADE A Salary, Pay Scale, Job Profile 2021

Click Here






NABARD Full Form 2021: FAQ's

Q. नाबार्ड (NABARD) की फुल फॉर्म क्या है?

Ans:- नाबार्ड की फुल फॉर्म NABARD - NABARD is National Bank For Agriculture and Rural Development हैं.


Q. नाबार्ड के वर्तमान अध्यक्ष कौन थे?

Ans:- डॉ. जी. आर. चिंतला (Dr. G.R. Chintala) 27 मई 2020 से राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के अध्यक्ष हैं.


Q. नाबार्ड की वेबसाइट क्या है?

Ans:- https://www.nabard.org


Q. नाबार्ड के कार्य क्या है?

Ans:- नाबार्ड के प्रमुख कार्यों में ग्रामीण भारत, विशेषकर किसानों की वित्तीय आवश्यकताओं को संबोधित करना है. नाबार्ड के कार्यो को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है: वित्तीय, विकासात्मक तथा पर्यवेक्षण; के माध्यम से एक सशक्त और आर्थिक रूप से समावेशी ग्रामीण भारत का निर्माण करना है, जो ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लगभग हर पहलू को स्पर्श करता है.


Q. नाबार्ड की स्थापना कब हुई थी?

Ans:- नाबार्ड की स्थापना 12 जुलाई 1982 को हुई थी.