PM MODI SPEECH : 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा, बनेगा आत्मनिर्भर भारत

PM MODI SPEECH : 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की घोषणा, बनेगा आत्मनिर्भर भारत


PM Announces 20 Lakh Crore Economic Package for Atmanirbhar Bharat Abhiyan

आज अर्थात 12 मई रात 8 बजे PM मोदी ने देश को संबोधित किया. देश में कोरोना संकट के दौरान यह पांचवी बार है, जब देश को प्रधान मंत्री मोदी ने संबोधित किया है. इसमें बड़ी बात यह है कि PM MODI ने आर्थिक पैकेज की घोषण की है, जिसमें lockdown 4.0 के समबन्ध में इतना ही कहा कि यह नए रूप-रंग का होगा, जिसकी सूचना 18 मई 2020 से पहले दे दी जाएगी. नए नियम 18 मई तक बता दिए जायेंगे. आइये जानते हैं क्या है मोदी स्पीच की मुख्य बातें..


20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज ( की घोषणा महत्वपूर्ण बातें-

  • 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज.
  • भारत की GDP का 10 % पैकेज.
  • कल वित्त मंत्री पैकेज की विस्तार से जानकारी देंगे.
  • मजदूर, कुटीर उद्योग, लघु उद्योग के लिए पैकेज.
  • आर्थिक पैकेज किसान और मजदूरों के लिए.
  • पैकेज से सभी सेक्टर का विकास.
  • ग्लोबल सप्लाई चेन में बढ़ी भूमिका निभाएगा पैकेज.
  • आर्थिक पैकेज में सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है.
  • आत्मनिर्भर, आत्मबल, आत्मविश्वास बढ़ेगा.
  • व्यापार और निवेश में होगा सुधार.

सबसे ज्यादा मोदी ने aatma nirbhar की बात पर जोर दिया, इसी आत्मनिर्भर भारत के निर्माण के लिए यह पैकिज जारी किया गया  है.  आत्मनिर्भर भारत बनाने में कौन से पांच भूमिका निभाते हैं, यह भी बताया.

पांच पिलर पर बनेगा भारत आत्मनिर्भर

  • पहल पिलर - इकोनॉमी
  • दूसरा  पिलर - इंफ्रास्ट्रक्चर
  • तीसरा पिलर - Technology driven System
  • चौथा पिलर - Vibrant demography
  • पांचवा पिलर - डिमांड व सप्लाई चेन का चक्र

PM MODI SPEECH अहम बातें - 

  • दुनिया भर में 42 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित.
  • दुनिया एक प्रकार से जंग में जुटी है.
  • भारत में भी अनेक परिवार ने स्वजन खोए.
  • थकाना, हारना, टूटना मानव को मंजूर नहीं है.
  • मानव जाती के लिए यह अकल्पनीय है.
  • हमें बचना भी है और आगे बढ़ना भी है.
  • एक वायसर ने दुनिया को तहस-नहस कर दिया है.
  • 21वीं सदी भारत की हो यह हमारी जिम्मेदारी है.
  • हमारा सपना आत्मनिर्भर भारत.
  • आत्मनिर्भर भारत बनने का सही समय है.
  • राष्ट्र के रूप में हम अहम् मोड़ पर खड़े हैं.
  • भारत ने आपदा को अवसर में बदल दिया है.
  • भारत की प्रगति में विश्व प्रगति समाहित.
  • भारत मानव जाती के कल्याण के लिए बहुत कुछ दे सकता है.
  • जिंदगी और मौत की लड़ाई में भारत की दवाएं अहम.
  • दुनिया का भरोसा कि भारत बेहतर कर सकता है.
  • दुनिया ने भारत के कामों की तारीफ की.
  • N-95 मास्क का भारत में नाममात्र उत्पादन होता था. आज स्थिति ये है कि भारत में ही हर रोज 2 लाख PPE और 2 लाख एन-95 मास्क बनाए जा रहे हैं.
  • इंटरनेशनल सोलर एलायंस और योग दिवस भारत का विश्व का उपहार है.
  • मानव जाति के कल्याण के लिए बहुत कुछ अच्छा दे सकता है.

PM MODI SPEECH TODAY : 20 Lakh Crore Economic Package for Atmanirbhar Bharat Abhiyan

PM announced a special Economic Package for “Aatma Nirbhar Bharat” Program. 


    Local to Global Produce

    कोरोनवायरस के संकट ने local supply change को  highlight किया है और  भारत इस  local supply chain की मदद से भारत अब आत्मनिर्भर बनेगा. देश की भलाई के लिए हमें इस  local supply chain को बढ़ावा देना चाहिए. प्रत्येक भारतीय को local produce के लिए मुखर होना चाहिए - न केवल स्थानीय उत्पादों का उपभोग करना चाहिए बल्कि उन्हें बढ़ावा देना चाहिए. हम भी global industry में अपनी स्थानीय उपज(local produce) ला सकते हैं. Scientists और Experts ने कहा है कि कोरोनोवायरस महामारी अभी कुछ समय तक रहने वाली है, ऐसे में हम अर्थव्यवस्था को और कमजोर नहीं होने दे सकते हैं. हमें कोरोना के साथ जीने की आदत डालनी होगी.

    Lockdown 4.0

    PM MODI ने कहा कि लॉकडाउन 4.0 बिल्कुल नया होगा, इसमें नए नियम होंगे, जिसकी सूचना 18 मई से पहले दे दी जाएगी.

    लॉकडाउन का चौथा चरण, लॉकडाउन 4,
    पूरी तरह नए रंग रूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा।

    राज्यों से हमें जो सुझाव मिल रहे हैं, उनके आधार पर लॉकडाउन 4
    से जुड़ी जानकारी भी आपको
    18 मई से पहले
    दी जाएगी: PM @narendramodi


    सोमवार शाम की थी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक 

    PM ने सोमवार को मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में सभी राज्यों से लॉकडाउन को लेकर सुझाव मांगए हैं. पीएम ने 15 मई तक सभी मुख्यमंत्रियों से अपने सुझाव देने को कहा है.  

    मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जीवन का नया मार्ग ‘व्यक्ति से पूर्ण मानवता की ओर’ के सिद्धांत पर होगा. प्रधानमंत्री मोदी मोदी ने कहा, “पहले चरण में लॉकडाउन के जिन कदमों की जरूरत थी, उनकी दूसरे चरण में नहीं थी, तीसरे चरण में जरूरी कदमों की चौथे में आवश्यकता नहीं.”

    कोरोना संकट शुरू से अब तक के 4 संबोधन -

    • पहला संबोधन 19 मार्च को किया  था, जिसमें जनता कर्फ्यू की अपील प्रधानमंत्री मोदी ने की थी.
    • दूसरा संबोधन 24 मार्च को किया था, जिसमें देश व्यापी lockdown की बात कही थी और देश को 25 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया था.
    • तीसरा संबोधन 3 अप्रैल को किया, जिसमें  देश वासियों से अपील की गई कि सभी लोग 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए घर की लाइट बंद कर दें और दिया, मोमबत्ती जलाएं.
    • चौथा संबोधन 14 अप्रैल को किया और कहा जान है तो जहान हैं, और किया lockdown 2.0 का ऐलान.