NABARD Grade A Exam 2020 : ये Tips आपको दिलाएंगी सफलता

NABARD Grade A Exam 2020 : ये Tips आपको दिलाएंगी सफलता



NABARD ग्रेड A प्रीलिम्स परीक्षा 25 फरवरी 2020 को आयोजित होने वाली है. जिसके लिए, उम्मीद है कि Preparation उम्मीदवारों ने शुरू कर दी होगी. अगर नहीं की है तो परेशान होने की आवश्यकता नहीं है, हम यहाँ बताएँगे कि आप कैसे तैयारी कर सकते हैं. NABARD ने ग्रेड A (RDBS, राजभाषा और कानूनी सेवा) के लिए 154 उम्मीदवारों की भर्ती करने के लिए नोटीफिकेशन जारी किया था. कृषि और ग्रामीण विकास के लिए बैंकिंग क्षेत्र में भर्ती होने की इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों को कड़ी मेहनत करने की जरुरत है.हम यहाँ आपको बताएँगे कि कैसे आप प्लान बना कर सक्सेस हो सकते हैं.

NABARD Grade A भर्ती 3 चरणों में आयोजित होने वाली है - प्रीलिम्स, मेंस और साक्षात्कार. सबसे पहले प्रीलिम्स परीक्षा है जिसके लिए आपको एक स्ट्रेटेजी के साथ आपको अपनी तैयारी आगे बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए. NABARD ग्रेड A के विभिन्न पदों के लिए प्रीलिम्स परीक्षा का पैटर्न एक समान है. जबकि मेंस परीक्षा के लिए पैटर्न कुछ अलग है. NABARD Grade A प्रीलिम्स परीक्षा पैटर्न इस  प्रकार है -   


प्रीलिम्स परीक्षा पैटर्न
प्रीलिम्स परीक्षा का पैटर्न तीनों पदों (RDBS, राजभाषा और कानूनी सेवा) के लिए समान है. हर गलत प्रयास के लिए 1 / 4th का नकारात्मक अंक है.
क्रम. संख्याविषयअधिकतम अंक
1.रीजनिंग 20 अंक
2.अंग्रेजी भाषा40 अंक
3.कंप्यूटर अभिक्षमता20 अंक
4.सामन्य जागरूकता20 अंक
5.संख्यात्मक अभियोग्यता20 अंक
6.आर्थिक और सामाजिक मुद्दे (ग्रामीण भारत पर ध्यान देने के साथ)40 अंक
7.कृषि और ग्रामीण विकास (ग्रामीण भारत पर ध्यान देने के साथ)40 अंक
कुल अंक200 अंक


NABARD Grade A स्ट्रेटेजी 
प्रीलिम्स परीक्षा में कुल 7 सेक्शन हैं, इसलिए इसे क्रैक करना आसान नहीं है. ऐसे में आपको अधिक से अधिक मेहनत करने की आवश्यकता है, तभी सफलता संभव है. परीक्षा में सफलता के लिए अभ्यास बहुत आवश्यक है साथ ही तैयारी करते समय धैर्य रखना साथ ही विश्वास रखना कि आप सफलता प्राप्त कर सकते हैं.

यहां तैयारी के कुछ टिप्स दिए गए हैं:
परीक्षा की प्रकृति को समझें: 
परीक्षा की प्रकृति को समझना बहुत आवश्यक है, उससे यह समझने में मदद मिलती है कि आपको तैयारी कैसे करनी है और उसके अनुसार आपको स्ट्रेटेजी बनानी चाहिए. 

विषयों को समझें : 
एक बार जब आप परीक्षा पैटर्न को समझ लेते है तो उसके बाद आपको परीक्षा में आने वाले विषयों की विस्तृत जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करना चाहिए. इसके लिए आप सिलेबस और पिछले वर्षों के पेपर की मदद ले सकते हैं:

  • सिलेबस : जब आप किसी भी परीक्षा की तैयारी करते हैं तो उसके पाठ्यक्रम को अच्छे से समझ लेना चाहिए. जिससे आपको तैयारी करते यह पता हो कि आपको किस क्षेत्र की तैयारी करनी है. पाठ्यक्रम को समझने के बाद आप उसके अनुसार आपनी स्ट्रेटेजी बना सकते हैं. 
  • गत वर्षों के पेपर : गत वर्षों के पेपर की सहायता से प्रश्नों का पैटर्न और प्रश्नों के स्तर को समझने में मदद मिलती है. पिछले कुछ वर्षों के पेपर से अभ्यास करना आपके लिए बहुत लाभदायक हो सकता है.  
स्ट्रेटेजी : जब आपक किसी भी परीक्षा के लिए  तैयारी करते हैं तो एक स्ट्रेटेजी बना कर उसके अनुसार अपनी तैयारी को आगे बढ़ाना चाहिए. उम्मीदवारों को ध्यान में रखना चाहिए कि इस परीक्षा में 7 सेक्शन हैं ऐसे में आपको अपनी क्षमता के स्ट्रेटेजी बनानी चाहिए और सभी विषयों को कवर करने का प्रयास करना चाहिए. 7 सेक्शन में से 3 सेक्शन(अंग्रेजी, आर्थिक और सामाजिक मुद्दे व कृषि और ग्रामीण विकास) 40 अंकों के हैं, स्ट्रेटेजी बनाने में आपको इन विषयों पर अधिक ध्यान देना चाहिए. 

सभी सेक्शन को महत्त्व दें : हो सकता है कि कुछ विषयों में आपकी अच्छी पकड़ हो पर बढ़ती प्रतिस्पर्धा के इस दौर में सफलता प्राप्त कर पाना इतना आसान नहीं है. अगर आप इस परीक्षा को क्रैक करना चाहते हैं तो सभी विषयों में अच्छा प्रदर्शन करना होगा.

मॉक टेस्ट : प्रतियोगिता के इस दौर में अगर आप सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको अधिक से अधिक अभ्यास करना चाहिए. अभ्यास के लिए मॉक टेस्ट से अच्छा और क्या हो सकता है.  मॉक टेस्ट की मदद से वास्तविक परीक्षा का अनुभव प्राप्त होता हैं, साथ ही आप अपनी तैयारी का विश्लेषण कर सकते हैं कि कौन से क्षेत्र आपके कमजोर हैं और कौन से मजबूत है और कितनी मेहनत करने की और आवश्यकता हैं. 

सामान्य  टिप्स 

# किसी भी विषय को लेकर अति आत्मविश्वास में न रहें. आपको प्रीलिम्स परीक्षा को क्लियर करने के लिए प्रत्येक विषय को तैयार करना होगा. आप किसी भी विषय को छोड़ नहीं सकते हैं.
# अपने अभ्यास का समय प्रत्येक सेक्शन के लिए समान रूप से निर्धारित करें, भले ही आप किसी भी विषय में अच्छे हों, फिर भी उसका अभ्यास करें. अभ्यास करने से आपको अपनी गलतियों को सुधारने में मदद मिलेगी.
# अपने उन विषयों और विटॉपिक्स को प्राथमिकता दें, जिन पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है और उनके अनुसार तैयारी करें.
# टाइम टेबल बनाकर, उसे दृढ़ता  उस पर टिक जाएं। अपनी यात्रा के लिए उसी वक्ष का अनुसरण करने का प्रयास करें.
# शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म दोनों तरह के लक्ष्य हासिल करें। जब आप बड़े लक्ष्य का पीछा करते हैं तो उसे प्राप्त करने के लिए छोटे-छोटे लक्ष्य बनाने चाहिए, इससे लक्ष्य तक पहुँचाना आसान हो जाता है.
# अपनी तैयारी के लिए टाइम टेबल बनायें और अध्ययन के लिए वो घंटे चुने सबसे अधिक सकारात्मक हों, दिनचर्या बना कर, उसका दृढ़ता से पालन करें.
# ट्रिक्स की बजाये बेस क्लियर करें. क्योंकि उससे आप अधिक समय तक याद रख सकते हैं.
# बार-बार अभ्यास करें और अपना मूल्यांकन करें कि आपकी तैयारी सही चल रही हैं या नहीं और कहाँ सुधार करने की आवश्यकता है.
# पिछले वर्षों के पेपर से अभ्यास करें. यह आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करेगा और आपको वास्तविक  परीक्षा के रुझान से परिचित कराएगा.
# अनुमान के आधार पर उत्तर न दें, क्योंकि प्रीलिम्स और मेंस दोनों में भी निगेटिव मार्किंग है. अपनी सटीकता पर जाँच रखें.
# खुद पर भरोसा रखें कि आप कर सस्कते हैं, उसके साथ अपनी तैयारी में आगे बढ़ें.

NABARD ग्रेड A परीक्षा के लिए आप सभी को शुभकामनायें !


यह भी देखें :

Register here to get study materials and regular updates!!