IBPS SO प्रीलिम्स में नेगेटिव मार्किंग : अनुभागीय कटऑफ क्लियर करने की बेस्ट स्ट्रेटेजी

IBPS SO प्रीलिम्स में नेगेटिव मार्किंग : अनुभागीय कटऑफ क्लियर करने की बेस्ट स्ट्रेटेजी

IBPS SO नेगेटिव मार्किंग


IBPS SO प्रीलिम्स परीक्षा 28 और 29 दिसंबर 2019 को आयोजित की जाएगी, इस परीक्षा के लिए केवल कुछ दिन शेष बचे हैं और इसके लिए उपस्थित होने वाले सभी उम्मीदवारों को अपनी कमर कस लेनी चाहिए।  बैंक में विशेषज्ञ अधिकारी के रूप में कार्य करना बहुत से बैंकिंग उम्मीदवारों का लक्ष्य  है, लेकिन योग्यता मापदंड सभी उम्मीदवारों के लिए अलग-अलग होने की वजह से सभी आवेदन नहीं कर सकते है। अब बैंकिंग परीक्षा का स्तर तेजी से बढ़ रहा है, इसमें सफलता प्राप्त करना आसान नहीं है। प्रतियोगी परीक्षा मुश्किल और जटिल हो गई हैं।आईबीपीएस एसओ प्रीलिम्स का परीक्षा पैटर्न अलग-अलग पद के लिए अलग-अलग है, हालांकि आईबीपीएस एसओ मेन्स परीक्षा में, उम्मीदवारों के व्यवसायिक ज्ञान का परीक्षण किया जायेगा।

IBPS SO परीक्षा एक अखिल भारतीय स्तर की परीक्षा है इसलिए प्रतियोगिता अधिक होगी। सफल उम्मीदवारों को PAN इंडिया में पोस्टिंग दी जाएगी। जैसा कि IBPS SO परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है, इसलिए परीक्षा पैटर्न पिछले वर्षों के समान है। IBPS SO प्रारंभिक परीक्षा में नकारात्मक अंकन और अनुभागीय कट ऑफ है। उम्मीदवारों को अनुभागीय कट ऑफ और नकारात्मक अंकन की ओर ध्यान देने की आवश्यकता है। उम्मीदवार अनुमान पर उत्तरों को चिह्नित नहीं कर सकते हैं इसके अलावा उन्हें न्यूनतम कट ऑफ भी क्लियर करना होगा, जो संगठन द्वारा प्रत्येक अनुभाग के लिए तय किया जाएगा और साथ ही साथ आईबीपीएस एसओ मेन्स के लिए चयनित होने के लिए कुल कट ऑफ भी होगा। हम यह लेख IBPS SO परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग को ध्यान में रखते हुए लिख रहे हैं कि कैसे आप नकारात्मक अंकन से बच सकते हैं।

महत्वपूर्ण लिंक



    बैंक परीक्षाओं में कट ऑफ क्लियर करने के टिप्स

    1. महत्वपूर्ण विषयों की ओर अपना सारा ध्यान केंद्रित करें और फिर उन पर काम करें जो कमजोर हैं।
    2. हमेशा बेस में पकड़ मजबूत करें। जब बेस में पकड़ मजबूत हो जाए तभी शोर्ट ट्रिक्स सीखें।
    3. अपनी समस्या को समय पर हल कर लें। बहुत आसान या बुनियादी अवधारणा में कोई समस्या होने पर, पूछने में शर्म महसूस न करें।
    4. अभ्यास करें और कमियों का संशोधित करें। इसी से आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं।
    5. अपने आप को कभी कम मत समझो। हर कोई अलग है और अलग क्षमता है। याद रखें आप सब कुछ कर सकते हैं।
    6. खुद का विश्लेषण करने के लिए मॉक टेस्ट दें। वास्तविक परीक्षा का अनुभव प्राप्त करने के लिए मॉक टेस्ट आवश्यक है और खुद को शांत रखें।
    7. हमेशा खुद को चुनौतियाँ दें। यदि आपने इस बार 80 अंक हासिल किए हैं, तो अगली बार 90 प्राप्त करने का लक्ष्य रखें। स्वयं के प्रतियोगी बनें और हर बार बेहतर करने का प्रयास करें।
    8. नोट्स बनाएं और नियमित रूप से उनसे रिवाइज करें ताकि आपको महत्वपूर्ण विषय और बिंदुओं की तलाश में यहां वहां न जाना पड़े, जब आपको कभी भी उनकी आवश्यकता हो उन्हें देख सकें।
    9. सबसे कठिन और जटिल प्रश्न के प्रयास से भी न डरें। 
    10. आश्वस्त रहें कि आपकी तैयारी पूरी हो गई है और पर्याप्त आराम करें। अपना ध्यान अपने लक्ष्य पर रखें। 


    IBPS SO  में नेगेटिव मार्किंग से बचने के टिप्स: आप सभी को जानना चाहिए 

    अपनी एक्यूरेसी के बारे में निश्चित रहें: जिन प्रश्नों के बारे में आपको भरोसा है कि गलत नहीं है उन्हीं का प्रयास करें। बैंकिंग परीक्षा में सटीकता सबसे ज्यादा मायने रखती है। इसलिए अपनी सटीकता का समय-समय पर  विश्लेषण करते रहें।

    अनुमान के आधार पर उत्तर न दें : ध्यान रखें कि आप सभी प्रश्नों को चिह्नित करके अंक अर्जित नहीं करेंगे आपके अंक कम भी हो सकते हैं। तो कभी भी केवल अनुमान के आधार पर उत्तर को चिह्नित न करें, इससे आपको 1/4 का नुकसान भी हो सकता है।

    निर्देशों को ध्यान से पढ़ें: किसी भी प्रश्न को हल करने से पहले हमेशा निर्देशों को पढ़ें। कभी-कभी हम विशेष पैटर्न के बारे में अपना मन बनाते हैं और उसी की तैयारी करते हैं पर परीक्षक इसमें कभी भी बदलाव कर सकता है। उदाहरण के लिए, हम वाक्य में गलत शब्द का पता लगाने के लिए सोच सकते हैं, लेकिन संभावनाएं हैं कि परीक्षक ने सही वर्तनी वाले शब्द से सम्बंधित प्रश्न पूछे हों। इसलिए नेगेटिव मार्किंग से बचने के लिए निर्देश पढ़ें

    क्लोज ऑप्शन की सही से जाँच करें: क्वांटिटी या इंग्लिश सेक्शन में प्रश्न हो सकते हैं जिसमें बहुत नज़दीकी विकल्प दिए गए हैं। अति आत्मविश्वास में न रहें ऐसे में कई बार आते हुए प्रश्न का उत्तर भी गलत हो जाता है। सभी आप्शन को ध्यान से पढ़ें तभी जवाब दें।

    भाषा अनुभाग: आप अंग्रेजी भाषा या हिंदी भाषा का चयन कर रहे हैं या नहीं, शब्दावली से प्रश्न हो सकते हैं और यह देखा गया है कि उम्मीदवार जो महसूस करते हैं उसके आधार पर उत्तर को चिह्नित करते हैं जो सही नहीं है।

    चिह्नित उत्तर की जाँच करें: प्रश्न को हल करने के बाद, उसी के उत्तर को चिह्नित करने पर सावधानी बरतें। कभी-कभी ओड दशमलव या इसी तरह के अन्य विकल्पों के कारण छात्र गलती से गलत उत्तर को चिह्नित करते हैं, भले ही उन्होंने इसे सही तरीके से हल किया हो। सुनिश्चित करें कि आपने जो कुछ भी हल किया है उसे सही चिह्नित किया है।

    हम आशा करते हैं कि निगेटिव मार्किंग से बचने के लिए, ये आसान टिप्स आपकी IBPS SO प्रीलिम्स परीक्षा 2019 में बेहतर तरीके से मदद करेंगे। सुनिश्चित करें कि आप उस प्रश्न को चुनें, जिसे कम से कम समय में हल किया जा सकता है, ताकि आप शेष प्रश्न का प्रयास कर सकें। यदि आपके पास कोई अन्य समस्या है, तो हमसे बेझिझक blogger@adda247.com पर संपर्क करें या कमेन्ट बॉक्स में अपनी समस्या हमें बतायें।

    adda247  की तरफ से आप सभी को हार्दिक शुभकामनायें!