SBI PO 2019 Mains Exam: तार्किक क्षमता महत्वपूर्ण टॉपिक

SBI PO 2019 Mains Exam: तार्किक क्षमता महत्वपूर्ण टॉपिक

Must Do Topics Of Reasoning Ability For SBI PO Main 2019

SBI PO Main 2019 अब निकट है. और आप सभी अपनी तैयारी को अंतिम स्पर्श दे रहे होंगे और यह चरण आपको SBI PO के रूप में अंतिम चयन प्राप्त करने में आपको एक कदम निकट लेकर जाएगा. रीज़निंग क्षमता अनुभाग हर परीक्षा का हिस्सा और पार्सल है. यदि आप इसमें बेहतर हैं तो यह आपको बेहतर अंक प्राप्त करा सकता है. परीक्षा या विषय में से किसी में भी अभ्यास करना आवश्यक है. अभ्यास ही सफलता की एकमात्र कुंजी है. SBI PO मुख्य परीक्षा 2019 में रीजनिंग और कंप्यूटर की क्षमता में 45 प्रश्नों के लिए 60 अंक हैं. इससे पहले कि आप इस सेक्शन की तैयारी करें, आपको नीट-ग्रिट्टी में उतरना होगा और उन महत्वपूर्ण विषयों को जानना होगा जो आपको अच्छे अंक दिला सकते हैं. यह जानना कि क्या अध्ययन करना है और किसमें अधिक अभ्यास की आवश्यकता है वास्तव में परीक्षा में अच्छा कर सकते हैं. तो यहां हम आपको SBI PO मुख्य परीक्षा 2019 के लिए शामिल होने वाले महत्वपूर्ण विषय प्रदान कर रहे हैं.

पजल और बैठक व्यवस्था: 
पजल और बैठक व्यवस्था पर आधारित प्रश्न रीजनिंग अनुभाग में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. वे मुख्य तौर पर बैठक व्यवस्था (linear, circular, triangular, rectangular and sometimes hexagonal even) Floors, Tabular form, Blood Relations, आदि पर आधारित होते हैं और इसमें 2-4  वेरिएबल से भी प्रश्न पूछे जाते हैं यह प्रश्न के कठिनाई स्तर पर निर्भर करता है. इसमें बैठक व्यवस्था और रक्त संबंध को मिलकर भी प्रश्न पूछे जाते हैं. पजल में बेहतर अंक प्राप्त करने का एकमात्र तरीका है अभ्यास केवल अभ्यास करके ही आप इस खंड में बेहतर अंक प्राप्त कर सकते हैं.

सिलोग: 
यदि आप इस विषय से अच्छी तरह वाकिफ हैं तो आप इसमें आसानी से अंक ला सकते हैं.आप कलम और कागज की आवश्यकता के बिना सेकंड के भीतर विषय को हल कर सकते हैं. यह सबसे आसान और स्कोरिंग विषयों में से एक है, इसलिए इसे अच्छी तरह से तैयार करें और आप रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन में 5 अंक आसानी से प्राप्त कर सकेंगे.

डेटा पर्याप्तता 
आंकड़ा निर्वाचन पर आधारित प्रश्न में 2 या 3 कथन हो सकते हैं यह प्रश्न के कठिनाई स्तर पर आधारित है. यदि यह पूछे जाते हैं तो इस टॉपिक से 3-5 प्रश्न पूछे जा सकते हैं. यह भी एक महत्वपूर्ण विषय है इसमें आप 3 से 5 अंक प्राप्त कर सकते हैं. .

कोडिंग-डिकोडिंग: 

कोडिंग और डिकोडिंग में पुराने और साथ ही नए पैटर्न से प्रश्न हो सकते हैं. विषय आसान की श्रेणी में आता है. आप bankersadda या adda247 ऐप पर सभी प्रकार के प्रश्नों का अभ्यास कर सकते हैं.

रक्त संबंध: 
इस खंड में प्रश्न उम्मीदवार की संज्ञानात्मक क्षमता का परीक्षण करते हैं. इसमें पूछे जाने वाले प्रश्न बेहद जटिल होते हैं लेकिन यदि किसी उम्मीदवार को इसके आधार के बारे में ज्ञान है तो वह इन प्रश्नों को आसानी से हल कर सकता है. यह विभिन्न प्रकारों से पूछे जा सकते हैं अर्थात पजल, मिश्रित रक्त संबंध, कोडेड रक्त संबंध आदि.

दिशा निर्देश:
इस विषय से 4-5 प्रश्न पूछे जा सकते हैं. यदि आपको दिशाओं के बारे में अच्छी जानकारी है तो यह आपके लिए बेहतर होगा. यदि आपके पास विभिन्न प्रकार के प्रश्नों का अभ्यास है, तो दिशा से प्रश्न आसानी से हल किए जा सकते हैं.

मशीन इनपुट-आउटपुट:
हाल ही में बैंकिंग परीक्षा में, यह देखा गया है कि प्राथमिक परीक्षा में भी इनपुट आउटपुट के प्रश्नों को पुछा जा रहा है.

लॉजिकल रीजनिंग: 
इस टॉपिक से अपेक्षित प्रश्नों की संख्या 5-6 है. इस वर्ग में पूछे गए प्रश्न कारण और प्रभाव, पूर्वधारणा और निष्कर्ष, तर्क की सबलता, अनुमान आदि पर आधारित होते हैं. इन प्रश्नों का कठिनाई स्तर हमेशा मध्यम होता है तो आप बिना अधिक समय नष्ट करते हुए इन प्रश्नों को हल सकते हैं.