World Environment Day: 5th June

World Environment Day: 5th June

World-Environment-Day-:-5th-June


महात्मा गांधी ने कहा था कि "पृथ्‍वी के पास सभी लोगों की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्‍त संसाधन हैं लेकिन एक भी व्‍यक्ति का लालच पूरा करने के लिए पर्याप्‍त संसाधन नहीं हैं”। हम पृथ्वी के लोगों ने इस सोच की सराहना कीलेकिन समझ नहीं सके कि इस तथ्य पर विचार करने की आवश्यकता क्यों है। हमारा पर्यावरण अपनी जरूरतों को पूरा करने और थकावट के स्तर तक संतुष्ट करने के लिए अपनी शक्ति में सब कुछ साझा करता है। पेड़ जो हमारे जीवन का सहारा हैंखुद आखिरी चरण पर खड़े हैं। हमने इस कृतज्ञता के बदले इतना कम किया है कि इसके प्रति कोई न्याय नहीं किया गया है।

इस वर्ष नया क्या है?

1.  इस वर्ष चीन इस कार्य को संभाल रहा हैऔर थीम 'Beat Air Pollution' यानी ‘वायु प्रदूषण को हराना’ रखी गई है।
वर्ष 2018 के विश्व पर्यावरण दिवस को भारत द्वारा आयोजित किया गया था और इसकी थीम  प्लास्टिक के व्यापक उपयोग के विषय में थी और इसे 'बीट प्लास्टिक पॉल्यूशननाम दिया गया था। 

2. वायु प्रदूषण तथ्य 2019:
दुनिया भर में 92 फीसदी लोग स्वच्छ हवा में सांस नहीं लेते हैं।
वायु प्रदूषण की लागत प्रत्येक वर्ष वैश्विक अर्थव्यवस्था में $ 5 ट्रिलियन की कल्याणकारी लागत में होती है।
जमीनी स्तर ओजोन प्रदूषण से मुख्य फसल पैदावार में 2030 तक 26 फीसदी की कमी आने की उम्मीद है।

3. वायु प्रदूषण पर कार्रवाई के लिए विश्व पर्यावरण दिवस पर “ब्रीथेलिफ़” में नौ सरकारें शामिल हुईं।
बोगोटा (कोलंबिया)
ललितपुर और काठमांडू (नेपाल),
होंडुरासबोगोर सिटी (इंडोनेशिया),
मोल्दोवा गणराज्यमोनाको,
मोंटेवीडियो (उरुग्वे) और मैक्सिको
दुनिया में 271.4 मिलियन नागरिकों का प्रतिनिधित्व करने के लिएब्रीथेलिफ़ नेटवर्क में शहरोंक्षेत्रों और देशों की संख्या 63 हो गई है।               

4. ग्लेशियर के पिघलने के लिए वायु प्रदूषण भयावह है

पेरू में एंडीज पर्वत के ऊपर स्थित बर्फ की परतों के बहुत भीतर तक मानव के शीघ्र होने वाले वायु प्रदूषण का प्रमाण है। 1,200 साल पुरानी क्वेल्काया आइस कैप के मूल में वैज्ञानिकों को लेड और मरकरी के निशान मिले हैंजो कि स्पेन के कब्जे के बाद इस्तेमाल किए जाने वाले रसायनपोटोसीबोलीविया की चांदी की खदानों में हैं।

ये आंकड़े बढ़ते रहेंगे और यदि हम अपने विचारों को हरे आवरण: हमारे पर्यावरण की ओर नहीं मोड़ते हैंतो हो सकता है कि यह हमें ढाल न सके। सभी को थोड़े समय के बाद मरम्मत की जरूरत होती है। एक दिन का जश्न मनाना और खुद को खतरे के बारे में याद दिलाना एक बात हैऔर कारण के लिए कार्रवाई करना एक अलग पक्ष है। हमें समाधान की आवश्यकता है लेकिन हम सभी प्रदूषण में वृद्धि कर रहे हैं और प्रत्येक दिन इससे गुजर रहे हैं। हमें रोकना होगा और सोचना होगा कि ये प्रतिबद्धताएँ केवल शब्दों और विचारों के रूप में घोषित नहीं की गई हैं। इसप्रकार के प्रयासों से एक दिन हम गर्व से ख़ुशहाल विश्व पर्यावरण दिवस कह सकते हैं। हम पहले से ही सभी बात करने में दशकों से देर कर रहे हैं और एजेंडा बना रहे हैंकिसी कार्य में उत्कृष्टता कार्रवाई के साथ आती है। आज बचाओकल जियो।



                 LIC AAO मेंस के लिए महत्वपूर्ण तथ्य 


1.      डॉ. हर्षवर्धन पृथ्वी विज्ञान के वर्तमान मंत्री हैं।
2.      इस बार पर्यावरण दिवस के आयोजन की मेजबानी चीन कर रहा है। विश्व पर्यावरण दिवस 2019 की थीम 'Beat Air Pollution' यानी वायु प्रदूषण को हराना रखी गई है।