Percentage, Profit and Loss Tricks & Study Notes: 11th March 2019

प्रिय छात्रों,


Percentage, Profit and Loss Tricks & Study Notes: 11th March 2019

प्रतिशत, लाभ और हानि मात्रात्मक योग्यता का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और आमतौर पर सभी बैंकिंग परीक्षाओं में पूछा जाता है. बैंकिंग परीक्षा में, इसमें 2 से 3 प्रश्न शामिल होते हैं जो चयन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं.
इसलिए, छात्रों को परीक्षा में पूछे गए सभी प्रकार के प्रतिशत, लाभ और हानि से अवगत होना चाहिए और प्रतिशत, लाभ और हानि पर अधिक से अधिक अभ्यास करना चाहिए. यहां, हम प्रतिशत, लाभ और हानि के लिए कुछ महत्वपूर्ण नोट्स और ट्रिक्स प्रदान कर रहे हैं जो आपकी तैयारी में सहायक होंगे.

                                           PERCENTAGE, PROFIT AND LOSS


एक प्रतिशत, एक संख्या या अनुपात है जो 100 के एक भाग अर्थात 1/100 को प्रदर्शित करता है। व्यक्ति को तीव्र और आसान गणना के लिए प्रतिशत के भिन्नात्मक समतुल्य का उपयोग करना चाहिए। उदाहरण के लिए, 66(2/3)% के स्थान पर, 2/3   का उपयोग करना हमेशा सरल होता है।
Iप्रतिशत के संदर्भ में चर्चा करते हुए, एक प्रश्न को समझना सरल हो जाता है, लेकिन गणना करते समय, हमेशा भिन्नात्मक समतुल्य का उपयोग ही सरल होता है।
प्रश्न हल करते समय अनावश्यक गणना से दूर रहने का प्रयास करना चाहिए। लाभ और हानि से संबंधित कई प्रश्नों में ऐसा होता है। कई बार आवश्यकता न होने पर भी व्यक्ति क्रय मूल्य, विक्रय मूल्य आदि के निरपेक्ष मानों की गणना करने लगता है।

उदाहरण के रूप में एक-दो प्रश्न देखें

'एक वस्तु का क्रय मूल्य 270 रुपये है। एक दुकानदार, 27 रुपये की छूट देने के बाद, 20% लाभ अर्जित करता है। यदि वह छूट नहीं देता है तो लाभ प्रतिशत कितना होगा?
यहां, विक्रय मूल्य या अंकित मूल्य ज्ञात करने की बजाय, इसे दूसरे तरीके से देखना चाहिए। यदि 27 रुपये की छूट नहीं दी जाती है, तो दुकानदार को आगे 27 रुपये का लाभ होगा।
27, 270 का 10% है। उसे पहले ही 20% का लाभ प्राप्त होता है, तो नया लाभ %, 20% + 10% = 30% होगा।


‘एक थोक व्यापारी से कपड़ा खरीदते समय एक व्यक्ति एक पैमाने का उपयोग करता है जो वास्तविक लंबाई की तुलना में 10% अधिक मापता है और समान कपड़े को बेचते समय वह उस पैमाने का उपयोग करता है, जो वास्तविक लंबाई की तुलना में 10% कम मापता है। इस लेनदेन में उसका समग्र लाभ या हानि ज्ञात कीजिये। 

यहाँ, दुकानदार को प्राप्त होने वाला लाभ प्रतिशत जानने की आवश्यकता है। खरीदते समय उसे 100 मीटर कपड़े की लागत पर 110 मीटर कपड़ा मिलता है और बेचने के दौरान वह केवल 90 मीटर कपड़ा बेचकर 100 मीटर की लागत प्राप्त करता है।