How You Can Improve Your Score? | In Hindi


प्रिय उम्मीदवार, कई छात्र इस स्थिति को बहुत अच्छी तरह से समझ सकते हैं जब वे अंत में टेस्ट का अभ्यास करते हैं और खुद को एक ही औसत प्रदर्शन पर या एक ही स्कोर पर अटका हुआ देखते हैं. अपने सर्वोत्तम प्रयासों को डालने के बावजूद आप महसूस कर सकते हैं कि आप सुधार नहीं कर रहे हैं बल्कि आपको लगता है कि आपकी तैयारी स्थिर है! इसके पीछे का कारण क्या है? आप खुद को एक ही स्थान पर अटका हुआ क्यों पाते हैं? आपका अभ्यास के बावजूद भी आप बेहतर क्यों नहीं कर पा रहे हैं?

इसे पढ़ते रहिये आज हम आपको बतायेंगे की आप किस प्रकार अपनी तैयारी के साथ साथ अपने स्कोर को बेहतर बना सकते हैं.

प्रैक्टिस वह चीज नहीं है जो आप अच्छे होने के बाद करते हैं. यह वह चीज है जो आपको बेहतर बनाता है. ज्ञान का तब तक कोई मूल्य नहीं है जब तक आप अच्छी तरह से अभ्यास नहीं करते. टेस्ट दीजिये,गलतियां कीजिये और उन गलतियों से सीखिए. इस तरह आप बढ़ते हैं. ऑनलाइन टेस्ट आपके ज्ञान या आपकी स्मृति को जज नहीं करते, वे इस बात में रूचि नहीं रखते कि आप सबसे कठिन पजल को हल कर सकते हैं या नहीं, वह इस बात में रूचि रखते हैं कि आप सीमित समय में किस प्रकार अधिक सटीकता के साथ अधिक से अधिक प्रश्नों को हल कर सकते हैं. यह सच है, यदि आप समय और विषय प्रबंधन में सक्षम नहीं हैं, तो बस एक पुस्तक का ज्ञान आपके लिए काफी नहीं होगा.

और आप अपना समय और विषय प्रबंधन कैसे सीख सकते हैं या सुधार सकते हैं? परीक्षा से पूर्व खुद को बेहतर करने का यही एक सबसे बेहतर तरीका है. हां, यह संभव है, आप टेस्ट सीरीज़ का लाभ उठाने का चयन कर सकते हैं, और समान स्तर के प्रश्नों और पैटर्न के साथ परीक्षा दे सकते हैं. यदि आप किसी जगह अटकते हैं तो आप विडियो सलूशन/विस्तृत सलूशन देख सकते हैं. अपने दृष्टिकोण को समझें और परिष्कृत करें.

तो विद्यार्थियों, पता लगाएं कि आप कहां खड़े हैं और आपको कितना सुधार करने की आवश्यकता है, क्योंकि, सरकारी नौकरियों के लिए इस लड़ाई में, आपको अत्यधिक मेहनत करने की आवश्यकता है और आप को ही इसका चयन करना है कि आप इसमें बने रहना चाहते हैं या इस से बाहर निकलना चाहते हैं. TAI साइकिल Adda247 द्वारा प्रदान की जाती है जो तीन मुख्य रणनीति को प्रदर्शित करती है, जो आपको सफलता दिला सकता है.

1. खुद का परीक्षण

2. यह विश्लेषण करना कि आप क्या अच्छे हैं और कहाँ आपमें कमी है, और

3. अपनी कमजोरियों और दोषों में सुधार करना.

परिक्षण (TEST)


स्व-मूल्यांकन वह प्रक्रिया है जिसमें प्रत्येक उम्मीदवार अपनी प्रगति या प्रदर्शन का मूल्यांकन करता है. मोक टेस्ट द्वारा परीक्षण या आकलन करना प्रतियोगी परीक्षाओ में स्वयं के स्तर का आभास कराता है. यह आपके कमजोर विषय और मजबूत विषय से अवगत कराता है. इसलिए आप परीक्षा में आप उस भाग को प्रथमिकता देते है जिसमे आप अच्छे है और उसे सबसे अंत में हल करते है जिसमे आप कमजोर है, Adda247 टेस्ट सीरीज आपको परीक्षा के समान स्तर के प्रश्नों, पिछले वर्ष के प्रश्नों और नए पैटर्न पर आधारित प्रश्नों को उपलब्ध कराती है. यह वास्तविक परीक्षाओं को अनुकरण करते हैं और आपको यह बताते हैं कि प्रश्नों को किस तरह से करने का प्रयास करें ताकि आप निर्धारित समय के भीतर अधिकतम संख्या में सवालों को हल करने का प्रयास कर सकें. यह आपको एक अखिल भारतीय रैंक भी प्रदान करता है ताकि आप यह आकलन कर सकें कि आप कहां खड़े हैं. इस वर्ष परीक्षा के पैटर्न में परिवर्तन सभी के लिए चिंता का विषय है. इसलिए, यदि आप नए पैटर्न पर आधारित मोक टेस्ट से अभ्यास करते हैं, तो नए पैटर्न परीक्षा पर आधारित वास्तविक परीक्षा के दौरान आप नर्वस नहीं होंगे.


विश्लेष्ण (ANALYSE)


टेस्ट सीरीज का अभ्यास करने के बाद, आप अपनी प्रगति का विश्लेषण कर सकते है और साथ ही आप यह भी जान सकते है कि आप ने परीक्षा के किस भाग में कितना समय लिया और कहा आपको सुधार करने की आवश्यकता है. मोक टेस्ट के साथ अभ्यास करना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उम्मीदवारों को परीक्षा के पैटर्न के साथ परिचित होने में सहायता करते है. यह आपकी ताकत और कमजोरियों को भी पहचानने में आपकी सहायता करते हैं. इससे एक विशेष प्रश्न को हल करने में औसतन कितना समय व्यतीत होता है, का भी ज्ञान होता है और आपको किस प्रश्न को हल करना है और किसे छोड़ना है का भी ज्ञान होता है. जैसा कि ऑनलाइन मूल्यांकन आपको एक आल इंडिया रैंक प्रदान करता है, इससे आप आकलन कर सकते है कि  आप वास्तव में हजारों छात्रों के बीच कहाँ खड़े हैं जो समान परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. यदि आप अपनी ऑनलाइन रैंक देखेंगे तो आपको यह पता चल जाएगा कि आपको इसके लिए कितना काम करना चाहिए.


 सुधार करना (IMPROVE)


अपनी ताकत और कमजोरियों का विश्लेषण करने के बाद, अपनी ताकत का अच्छा उपयोग करने की कोशिश करें और उन विषयों पर काम करना शुरू करें जिन में आप कमजोर हैं. यदि आप में परीक्षा को पास करने के आवश्यक कौशल नहीं हैं, तो आप उन ग्रेड को नहीं प्राप्त कर पायेंगे जिनकी आप उम्मीद कर रहे हैं. खुद का परीक्षण करना आपको एक आभास प्रदान करता है कि परीक्षा कितनी चुनौतीपूर्ण हो सकती है. अब आप जानते हैं कि कौन सा विशेष अनुभाग सबसे अधिक समय लेगा और आपको प्रश्नों को हल करने की गति पर काम करने का प्रयास करना होगा. यहां ध्यान देने योग्य महत्वपूर्ण बिंदु यह है कि जब तक आप परीक्षा से निपटने के लिए अपने कौशल में सुधार नहीं करते तब तक आपकी ताकत और कमजोरियों के बारे में जागरूक होने का कोई लाभ नहीं मिलेगा. परीक्षा का पैटर्न बदल रहा है और हर नई परीक्षा के साथ, हमे परीक्षा का एक अलग पैटर्न देखने को मिलता है. तो प्रश्न उठता है कि आपको क्या करने की ज़रूरत है? आपको अपने स्तर में सुधार करने और तैयारी के स्तर को पिछले वर्ष के परीक्षा के स्तर से एक कदम आगे बढ़कर तैयारी करने की आवश्यकता है. और यह टेस्ट सीरीज आपको ऐसा करने में सहायता करेगी. 


इसलिए, अपने आप को परीक्षण करना, अपनी प्रगति का आकलन करना और अपनी गलतियों में सुधार करना आवश्यक है. TAI वास्तव में आपकी तैयारी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह एक ऐसी रणनीति हो सकती है जो आपको सफलता प्रदान कर सके.