IBPS PO Interview Experience 2017 -2 (Prasanna karthik)

प्रिय पाठकों,



आईबीपीएस पीओ इन दिनों की सबसे अधिक मांग वाली सरकारी क्षेत्र की नौकरी में से एक है. व्यक्तिगत साक्षात्कार आईबीपीएस पीओ 2017-18 की भर्ती का अंतिम दौर है. साक्षात्कार के अनुभव आईबीपीएस पीओ 2017-18 साक्षात्कार दौर में पूछे जाने वाले कठिनाई स्तर, माहौल और प्रश्नों के प्रकारों की जानकारी प्राप्त करने में आपकी सहायता कर सकते हैं. यहां पर प्रसन्न कार्तिक के साक्षात्कार का अनुभव दिया गया है.

दिनांक: 31-01-18
समय: 1 बजे अपराह्न 
स्थान: आईओबी प्रमुख कार्यालय, चेन्नई

स्थान पर अपराह्न 12.30 बजे पहुंचा. उन्होंने हमें दस्तावेज सत्यापन के बाद बायोमेट्रिक सत्यापन के लिए बुलाया. फिर साक्षात्कार हेतु अपनी बारी का इंतजार किया. अपराह्न 3.30 बजे मैं अंदर गया.


5 सदस्य; F1, M1, M2, M3, M4

प्रवेश किया .. उन्हें नमस्कार किया.. बैठ गया.

M1: प्रसन्न, मुझे अपने बारे में बताएं.
Me: बता दिया

M1: आपने अपनी नौकरी क्यों छोड़ दी? (मेरे पास काम का अनुभव है)
Me:  सिविल सेवाओं की तैयारी के लिए

M2: तो अब आईबीपीएस क्यों?
Me: पहले कई कुछ प्रयास कर चुका हूँ, कोई सफलता नहीं; वित्तीय बाधाएं (विवाहित), आयु (29) (समझाया)

M1: क्या यह आपका चौथा प्रयास है?
Me:जी श्रीमान.

M1: एक इंजीनियरिंग स्नातक बनने के लिए इतना लंबा समय क्यों (एनआईटी का पूर्व छात्र)
Me: मैंने पहले प्रयास में ही उसे पास कर दिया था, लेकिन सीएसई की तैयारी कर रहा था, इसलिए इसे ज्वाइन नहीं किया.

M1: तो, अब आप अवश्य ही अपने फैसले पर अफसोस कर रहे होंगे.
Me: नहीं श्रीमान. 1% भी नहीं

M1, M2, M3: पहले प्रयास में ज्वाइन न करने के बारे में कुछ अफसोस होना चाहिए.
Me: नहीं श्रीमान. जब मैं 50 या 55 का हो जाऊंगा और मुड़कर देखूंगा, तो मुझे लगेगा कि कम से कम मैंने कोशिश तो की है. यदि मैं बैंक में शामिल हुआ, तो मुझे केवल यही अफसोस होता कि मैंने कोशिश भी नहीं की.

M1: देखने का सकारात्मक तरीका...बढ़िया है

M1: कल एक बड़ा दिन क्यों है?
Me: बजट का दिन

M1: आर्थिक सर्वेक्षण में मुझे कुछ बिंदु  बताएं.
Me: जीएसटी स्थिरीकरण, एयर इंडिया निजीकरण, कृषि और रोजगार सृजन पर केन्द्रित ध्यान के सन्दर्भ में बताया.

M2: स्टार्ट अप इंडिया योजना क्या है?
Me: बता दिया

M2: यह योजना क्यों शुरू की गई?
Me:बता दिया

M2: स्टार्ट अप्स असफल क्यों हो रही है?
Me: जरूरत को विचार, वित्तीय बाधाओं, रणनीतियों आदि को ट्रिगर करना चाहिए, इसके बारे में समझाया.

M2 से M1: बैंकिंग के बारे में पूछें

M1: डीआरटी क्या है?
Me: नहीं जनता श्रीमान

M1: D का पूर्ण रूप है debt
Me: क्या यह debt recovery tribunal है?

M1: हाँ. इसके बारे में समझाओ?
Me: महोदय मैं नहीं जानता, लेकिन क्या मैं अनुमान लगा सकता हूं?

M1: हाँ. कीजिए
Me: tribunal का अर्थ न्यायिक प्राधिकरण होता है, अतः ऋण की वसूली हेतु एक कानूनी प्रणाली.

M1: बढ़िया .. आप जा सकते हैं .. सौभाग्य ..
Me: धन्यवाद महोदय. आपका दिन शुभ हो.


कुल मिलाकर यह एक अच्छा अनुभव था, 3 सदस्य पूरी तरह से चुप थे .. फिर भी मैंने हर किसी के साथ आँख से संपर्क बनाया. वे स्नेहशील और सहायक थे. सभी के लिए शुभकामनाएँ.

धन्यवाद,
प्रसन्न.