Hantavirus: हंटा वायरस क्या है और यह कैसे फैलता है?

Hantavirus: हंटा वायरस क्या है और यह कैसे फैलता है?


Hantavirus: What is Hantavirus and How does it spread?
एक तरफ कोरोना वायरस से पूरी दुनियां जूझ रही है और उसकी वजह से दहशत में हैं ऐसे में चीन में मिलने वाले एक और वायरस - हंटा वायरस ने पूरी दुनियां को परेशान कर दिया है. जब से यह न्यूज बहार आई है, सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो गई है. ऐसा बताया जा रहा है कि यह वायरस चूहे से फैला है और अब तक इस खतरनाक वायरस की वजय से एक व्यक्ति की मौत हो गई है.


आखिर क्या है हंटा वायरस और कैसे फैलता है?
चूहों की वजह से फैलने वाला  हंटा वायरस बहुत सी खतरनाक बीमारियों को जन्म दे सकता है, उचित मेडिकल हेल्प न लेने पर मौत तक हो सकती है. यह वायरस चूहे का मूत्र या मल या फिर लार के किसी व्यक्ति से संपर्क में आने से फैलता है. सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवशन(CDC) कहना है कि यह हवा से नहीं फैलता और इसकी वजह से हंटा वायरस पलमोनरी सिंड्रोम (HPS)और इमो हेमोरेजिक फीवर विद रीनल सिंड्रोम(HFRS) होता है. 


यह भी पढ़ें -



क्या है  हंटा वायरस के लक्षण 
सिर दर्द, पेट दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बलगम, मांसपेशियों में दर्द, थकान, बुखार, ठंड लगना, उल्टी आना, जी मिचलाना आदि लक्षण हैं. इलाज ना मिलने पर मृत्यु तक हो सकती है.


हंटा वायरस के संक्रमण से बचने के लिए उपाय
अपने आसपास से चूहों को ख़त्म करें. ताकि आप मल मूत्र या लार के संपर्क में ना सके. अगर चूहों की अनजाने की जगह है घर में तो उसे बंद कर दें. शोध के अनुसार वायरस भी प्लास्टिक के धातु पर काफी समय तक जीवित रहता है, इसलिए इन चीजों का ध्यान रखें और कचरा जमा करने या पानी इकट्ठा  करने से बचें. घरों में कबाड़ न इकट्टा करें, उससे चूहों के आने की संभावना बढ़ जाती हैं. अगर घर के आसपास या घर में कोई चूहा मर जाए तो दस्ताना पहनकर उसे हटायें और उस जगह हो साफ करें और उसके बाद हाथों को अच्छे से  गरम पानी से धुल लें.