SBI PO 2018 New Exam Pattern: Changes in Exam Pattern (in Hindi)

SBI PO 2018 New Exam Pattern: Changes in Exam Pattern (in Hindi)


SBI PO New Exam Pattern 2018: 

SBI ने प्रविक्षाधीन अधिकारी की भर्ती प्रक्रिया की अधिसूचना जारी कर दी है और प्रीलिमनरी परीक्षा को जुलाई के पहले सप्ताह में आयोजित किया जायेगा. जैसा कि आई अधिसूचना कुछ के लिए आशीर्वाद और कुछ के लिए परिवर्तित स्वभाव लेकर आई है, जैसा कि SBI PO Prelims परीक्षा के इस वर्ष के पैटर्न में कुछ बदलाव आयोजित किया गया है.
जैसा कि आप एसबीआई द्वारा परीक्षा के पैटर्न में बदलाव के बारे में जानते हैं जो अभी से लागू होगा. एसबीआई क्लर्क परीक्षा के पैटर्न में आयोजित किये गए बदलावों को पहले ही आयोजित कर दिया गया था, वैसी ही संभावना एसबीआई पीओ और अन्य परीक्षाओं के लिए थोड़ी या कम रूप में की गयी थी. पेश किए गए परिवर्तन प्रीलीम्स परीक्षा पैटर्न के लिए हैं जबकि आपकी सहायता के लिए मुख्य परीक्षा का पैटर्न, अभी भी वही बना हुआ है. इस वर्ष के SBI PO पूर्व परीक्षा में दो बड़े पैटर्न  परिवर्तन हुए हैं जैसे: खंड-वार समय (प्रत्येक सेक्शन के लिए 20 मिनट) तीन भिन्न सेक्शन के लिए (अंग्रेजी, रीजनिंग और क्वांट) और आपके आराम के लिए,सेक्शनल कट ऑफ का हटा दी गयी है जैसा कि एसबीआई अधिसूचना स्पष्ट रूप से कहती है कि  "श्रेणीवार योग्यता सूची प्रारंभिक परीक्षा में प्राप्त किये गए कुल अंक के आधार पर तैयार की जाएगी. योग्यता सूची के शीर्ष से मुख्य परीक्षा के लिए प्रत्येक श्रेणी में रिक्तियों की संख्या, उम्मीदवारों का लगभग 10 गुना होगी" इसलिए, यह सिर्फ एक सिंहावलोकन है कि एसबीआई ने पीओ मेन परीक्षा के पैटर्न के साथ क्या पेश किया है आगे लेख में हम इसके बारे में विस्तृत चर्चा करेंगे.

एसबीआई पीओ 2018 परीक्षा का नया पैटर्न इस प्रकार है:

SBI PO Preliminary Examination Pattern 2018:


Sr.No. Name of Tests No. of Qs Maximum Marks Duration
1 English Language 30 30 20 minutes
2 Quantitative Aptitude 35 35 20 minutes
3 Reasoning Ability 35 35 20 minutes
Total 100 100 1 hour (60 minutes)

SBI PO Main Examination Pattern 2018: 


Serial Number Section No. of Question Max. Marks Duration
1. English Language 35 Total
Max.
Marks
200
40 minutes
2. Data Analysis and Interpretation 35 45 minutes
3. Reasoning Ability and Computer Aptitude 45 60 minutes
4. General/Financial Awareness 40 35 minutes
Total 155 3 hours

अब, प्रीमिम्स परीक्षा में, छात्रों को केवल बीस मिनटों की अवधि सीमा के भीतर तीनों खंडों में से प्रत्येक को समाप्त करना होगा. पहले विद्यार्थी इन सेक्शन पर 25-27 मिनट व्यय करते थे (औसतन) लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. क्योंकि अब SBI ने समय सीमा को 20 मिनट के लिए श्रेणीबद्ध कर दिया है.अब सभी को Quantitative Aptitude में अच्छे और संतुष्ट अंक प्राप्त करने के लिए कड़ी करनी होगी. आपको 30 प्रश्नों को हल करने के लिए 20 मिनट का पर्याप्त समय मिलता है. पहले विद्यार्थियों ने एक मानसिकता बनायी  हुई थी कि वे अंग्रेजी को पहले 10-15 मिनट देते थे और उसके बाद रीजनिंग और गणित जैसे जटिल विषयों को हल करते थे क्योंकि ये समय लेने वाले विषय हैं. लेकिन आपकी ये रणनीति अब काम नहीं करेगी.

इसलिए, आपको जो कुछ करना है वह बेहतर पूर्व योजनाबद्ध रणनीति है ताकि आप एसबीआई पीओ प्रीलीम्स परीक्षा से निपटने के दौरान खुद को परेशानी में न पाएं. आपको वास्तव में तैयारी की योजना बनाने की ज़रूरत होती है जिससे आप परीक्षा का दबाव झेलने में में सक्षम हों. बल्कि अब आपको खुशी होनी चाहिए कि इस वर्ष एसबीआई पीओ परीक्षा के लिए कोई विभागीय कट ऑफ नहीं है, इसलिए, आपको विभागीय कट ऑफ को अर्हता प्राप्त करने के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है. यहां तक कि यदि आप किसी विशेष विषय में कमजोर हैं, तो भी आप उस अनुभाग में काफी अच्छी तरह स्कोर कर सकते हैं, जिसमें आप अच्छे हैं, उस अनुभाग के विभागीय कट ऑफ के बारे में चिंता किए बिना, जिसमे आप उतने अच्छे नहीं हैं. 

सभी को हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए कि आईबीपीएस परीक्षाओं का पैटर्न हमेशा एसबीआई परीक्षाओं का एक अनुकरण होता है. आईबीपीएस 2016 के साथ-साथ 2017 परीक्षाओं के पैटर्न को देखते हुए, हम अनुमान लगा सकते हैं कि आईबीपीएस केवल एसबीआई में पूछे गए प्रश्नों के पैटर्न का पालन करता है. इसलिए, छात्रों, इस साल भी बहुत संभावना है कि प्रश्नों का पैटर्न भी एसबीआई में पूछे गए प्रश्नों के समान होगा. और छात्रों, अब आपको केवल एसबीआई पीओ परीक्षा के नए पैटर्न के लिए भी काम करना शुरू करना है, न केवल एसबीआई के लिए, बल्कि आईबीपीएस परीक्षाओं के लिए भी अभी से तैयारी करनी है. 

तो छात्रों, जितना आप कर सकते हैं उतना अभ्यास करें और सफलता आपके पीछे-पीछे होगी. दिन के अंत में, आप अपनी सफलता और विफलता के लिए पूरी तरह जिम्मेदार हैं. और जितनी जल्दी आप महसूस करेंगे, स्वीकार करेंगे, और इसे अपने कार्य नैतिकता में एकीकृत करें, उतनी जल्द सफल होने लगेंगे. 

Best of luck!!