Saturday, 24 June 2017

Strategy for IBPS PO 2017: Study Plan to Crack IBPS PO in 3 Months



ibps-po-2017-strategy

आईबीपीएस के कैलेंडर के अनुसार आईबीपीएस पीओ के लिए केवल 3 महीने ही शेष हैं जिसका मतलब है कि आपको आधिकारिक अधिसूचना की प्रतीक्षा में अधिक समय बर्बाद नहीं करना चाहिए. यदि आप आईबीपीएस पीओ 2017 परीक्षा पास करना चाहते है तो आपको "जब जागो तब सवेरा" कहने की नहीं बल्कि अपनी तैयारी शुरू करने है जैसे युद्ध से पहले एक ग्लेडियेटर्स अपनी तैयारी शुरू करता है उसी तरह आपको भी तैयारी शुरू करनी चाहिए. इसलिए, बेहतर तरीके से अपना अपने आप को जगाये और जिस तरह से आपने पहले कभी नहीं किया था वैसे ही पढ़ना शुरू करें और फिर आपकी उड़ान को सही स्थान प्राप्त होगा. 

आइये ;परीक्षा की योजना के बारे में चर्चा करते है, सबसे पहले आईबीपीएस पीओ 2017 की मौलिक पेपर पैटर्न की चर्चा करते है.

ऑनलाइन परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती हैं - प्रारंभिक और मुख्य. उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा में उपस्थित होने के लिए प्रारंभिक परीक्षा पास करना जरुरी है, और  साक्षात्कार में पहुँचने के लिए मुख्य परीक्षा पास करना आवश्यक है.

इस परीक्षा में 5 भाग है जिसमे तार्किक क्षमता, संख्यात्मक अभियोगिता,अंग्रेजी, कंप्यूटर जागरूकता, सामान्य जागरूकता. प्रत्येक अलग भाग में उम्मीदवारों के प्रदर्शन के आधार पर, आधिकारिक वेबसाइट परिणाम घोषित करती है. और 2016 से आईबीपीएस प्रत्येक अनुभाग के लिए अनुभागीय समय प्रदान करता है, आइये इस पर एक नजर डालते है.

Section
Number Of Questions
Time Allotted
Reasoning Ability
50
40
Quantitative Aptitude
50
40
English Language
40
30
General Awareness
40
20
Computer  Knowledge
20
10

जैसा कि हमने देखा है कि आईबीपीएस, एसबीआई के पैटर्न का अनुसरण करता है और इस साल एसबीआई पीओ का पैटर्न सभी को पूरी तरह से चौंकाने वाला था, यदि आईबीपीएस इस वर्ष भी एसबीआई का पैटर्न का अनुसरण करता है तो इसमें कोई चौंकने वाली कोई बात नहीं है. इसके लिए, आपको वापस लड़ने के लिए तैयार रहना होगा और इसके लिए आपको उचित रणनीति और योजना की आवश्यकता है.

तीन महीने की योजना बनाने से बेहतर है, छोटी-छोटी योजनायें बनाये, जैसे सबसे पहले एक दिन की योजना बनाओ फिर तीन दिन की, और फिर एक सप्ताह की और फिर एक महीने की योजना बनाओ. अपने लिए रोज एक लक्ष्य निर्धारित कीजिये. हम कह सकते हैं कि आपके पास 3 बड़े विषयों, अर्थात् अंग्रेजी, रीज़निंग और क्वांट है और आपके पास केवल 3 माह का समय शेष है. तो आप समर्पित रूप से एक विषय को एक माह दें सकते है. कोई एक विषय के लिए आप एक दिन की योजना बना सकते है और फिर अगले दिन दूसरे विषय के लिए और इस प्रकार वैकल्पिक चक्र बना सकता है. दूसरे 3 प्रमुख वर्गों में से कर्रेंट अफेयर्स आपको अधिक स्कोर करने में सहायता कर सकते है और इस विषय को करने का एकमात्र तरीका है दैनिक आधार पर इसका अध्ययन करना, आप अंतिम समय इसे तैयार नहीं कर सकते.

तैयारी करते समय हमेशा एक बात ध्यान में रखे "हमेशा गुणवत्ता में अध्ययन करें, अधिक मात्रा में नहीं". अपनी योग्यता की क्षमता के अनुसार अध्ययन करें क्योंकि आप जानते है कि आपके मजबूत विषय कौन सा हैं. अपने 24 घंटो का कुशलतापूर्वक प्रयोग करो.

जब प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी की बात आती है तो सबसे महत्वपूर्ण चीज "रिवीजन " है. अपनी तैयारी में नियमित रूप से रिवीजन करना न भूले, जो कुछ भी आपने पढ़ा हो, उसे दिन में एक समय निर्धारित कर रिवीजन जरुर करें. आत्मविश्वास किसी भी परीक्षा में एक महत्वपूर्ण तत्व है, आत्मविश्वास आपकी परीक्षा की तैयारी में एक बड़ी भूमिका निभाता है. और जितना अधिक आपको अपने उपर विश्वास होगा उतना आपको आराम और शांति मिलेगी. और इस तरह आप धैर्य और आत्मविश्वास के साथ प्रश्नों को हल करने का प्रयास कर सकते हैं. लेकिन आत्मविश्वास और अति आत्मविश्वास के बीच का अंतर आपको हमेशा पता होना चाहिए क्योंकि कई लोग अपने अति आत्मविश्वास के कारण विफल हो जाते हैं.

जब आप अपनी तैयारी शुरू करते हैं तो सबसे पहले देखें कि आपका स्तर क्या हैं और फिर अपनी कमजोर विषयों और मजबूत विषयों का विश्लेषण करने के बाद आगे बढ़ें. इस बारे में जानने के लिए आपको एक वास्तविक परीक्षा की तरह एक मोक टेस्ट गंभीरता से देना चाहिए और पूरा होने के बाद अपने अंक का विश्लेषण करना चाहिए, इसके बाद अपने कमजोर विषयों और वर्गों विश्लेषण कीजिये, उसके बाद अपने मजबूत विषयों को ज्ञात कीजिये कि किस अनुभाग और विषय में आप अच्छे हैं और फिर योजना और रणनीति बनाएं और अपनी तैयारी शुरू करने दें.

यदि हम अनुभाग के अनुसार चर्चा करें जैसे रीजनिंग, हमने एसबीआई पीओ मैन्स 2017 में देखे तो यह खंड एक पजल खंड में बदल गया. यहां तक कि कई दिशा-निर्देशों में पूछे जाने वाले प्रश्न भी पजल के रूप में पूछे गए. पजल गणनात्मक थी जो अधिक से अधिक समय ले रही थी, आरेख के इनपुट आउटपुट प्रश्न के साथ मशीन इनपुट-आउटपुट भी थे, जहां उम्मीदवारों को आरेख में आंकड़े/ संख्याओं से तर्क और संबंध निकालना पड़ा. जो बहुत मुश्किल और समय लेने वाली थी, इन सभी प्रकार के पजल के कारण अभ्यास करना बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है. अंग्रेजी अनुभाग के बारे में बात करें तो इस खंड में बहुत सारे ट्विस्ट आते हैं, लेकिन इस खंड के लिए बुनियादी सामग्री अर्थात शब्दावली, व्याकरण ज्ञान, और समझ कौशल है, यदि आपके पास यह है, तो आप किसी भी प्रकार के प्रश्नों से निपट सकते हैं. 

संख्यात्मक योग्यता में हमने सबसे बड़ा परिवर्तन देखा है, यह केवल डाटा इंटरप्रिटेशन, सरलीकरण, संख्या श्रृंखला का एकमात्र गेम नहीं है. यदि आपको इस अनुभाग में अच्छा स्कोर करना चाहते है, तो आपको CI, SI, Profit Loss, Time and Work, Time Speed Distance, Probability आदि जैसे विविध विषयों का अभ्यास करना चाहिए. एसबीआई पीओ में डेटा इंटरप्रिटेशन से प्रश्न थे और विविध विषय पर थे और सरलीकरण से कोई भी प्रश्न नहीं पूछा गया था इसलिए सभी विषयों को अभ्यास करना आवश्यक हो जाता है क्योंकि आपके पास कोई भी विषय छोड़ने का विकल्प नहीं है. इस अनुभाग में अच्छा स्कोर करने के लिए आपके पास पहले से कैलकुलेशन स्किल होना चाहिए.

बैंकिंग परीक्षा में तेजी और सटीकता से प्रश्न को हल करना सबसे महत्वपूर्ण है और यह केवल अभ्यास से ही प्राप्त किया जा सकता है. जितना अधिक गति और सटीकता से आप अभ्यास करेंगे और उतना तेजी से आप अपने ज्ञान को परिष्कृत करने में सक्षम होंगे.

जैसा कि आपके पास आईबीपीएस पीओ 2017 के लिए समय है, इसलिए अभी शुरूआत करें और यदि आपका बेसिक कमजोर है तो पहले उसे सुधारने का प्रयास करें और फिर आगे उच्च स्तर के प्रश्नों को हल करने का प्रयास करें परन्तु किसी भी परिस्थिति में अभ्यास करना न छोड़े. अधिक से अधिक अभ्यास सेट करें, ऑनलाइन और ऑनस्क्रीन अभ्यास करने का प्रयास करें क्योंकि यह आपको वास्तविक परीक्षा में मदद करेगा और आपको स्क्रीन पर पढ़ने की भी आदत होगी. अंग्रेजी के लिए अधिक से अधिक पढ़ना शुरू करें जो आपको अच्छी समझ कौशल विकसित करने में मदद करेंगे, व्याकरण की अवधारणा को समझें और अपने शब्दकोष को सुधारने का प्रयास करें.

You may also like to read:




CRACK IBPS PO 2017



11000+ (RRB, Clerk, PO) Candidates were selected in IBPS PO 2016 from Career Power Classroom Programs.


9 out of every 10 candidates selected in IBPS PO last year opted for Adda247 Online Test Series.

No comments:

Post a Comment