06/04/2017

"Give your 100 percent, success will automatically knock your door": Sangeeta Das (BOI Clerk 2017)-21




हैलो मित्रों,
नाम-संगीता दास
बी.ई.-सिविल इंजीनियरिंग
मैं Ibps clerk 2016-17( Bank of India), असम सर्कल में चुनी गयी हूँ

मैं bankersadda में अपनी success story लिखने और इसके वेबसाइट पर प्रकाशित होने का लंबे समय से इंतजार कर रही हूं. मेरे यहां लिखने का मुख्य उद्देश्य bankersadda.com और Adda247 को धन्यवाद करना है.



मेरी यात्रा वर्ष 2015 में असम इंजीनियरिंग कॉलेज से मेरी ग्रेजुएशन लेवल की पढ़ाई पूरी होने के बाद  शुरू हुई.मेरा डिपार्टमेंट सिविल इंजीनियरिंग था और मैं भी एक महिला छात्र हूँ इसलिए मुझे कैंपस सिलेक्शन में नौकरी हासिल करने में बहुत मुश्किल हुई. मेरे कॉलेज में आई अधिकतर कंपनियाँ आईटी कंपनियां थीं और सिविल आधारित कंपनियों ने लड़कियों को सीट नहीं दी थी क्योंकि वे विनिर्माण आधारित थे और उन्हें एक साइट इंजिनीयर की आवश्यकता थी. इसलिए, आखिरकार मैंने बैंकिंग क्षेत्र को चुनने का फैसला किया. ग्रेजुएशन होने के बाद(अगस्त महीने में) मैंने गुवाहाटी में एक कोचिंग इंस्टीट्यूट में दाखिला लिया, लेकिन मुझे इसे ज्यादा मदद नहीं मिली. क्यूंकि मैं इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि से थी, इसलिए मेरी संख्यात्मक अभीयोग्यता का भाग थोड़ा मजबूत था. क्योंकि मैं स्थानीय माध्यम से थी, तो मेरा सबसे कमजोर भाग अंग्रेजी था. 


मेरी पहली परिक्षा ibps rrb po और clerk थी, जो बेहद भयानक थे. फिर अक्टूबर महीने में मैंने Ibps po prelims दिया और मुझे उम्मीद थी कि मैं इसे क्लियर कर लुंगी. मैंने prelims और mains दोनों क्लियर(जो कि मेरी उम्मीद से परे था). मैंने इंटरव्यू में भाग लिया लेकिन अंतिम सूची का हिस्सा नहीं बन सकी. mains  के लिए मेरे लिखित अंक 79.75 (कटऑफ 76 जनरल) थे और इंटरव्यू में मुझे 61 अंक मिले (जो भी कम थे). अंतिम कटऑफ 49.9 थी और मेरे अंक 44.1 थे. 1 अप्रैल 2016 वह दिन था जब मेरे सारे सपने बिखर गए थे, Ibps po, Ibps clerk(कुछ अंकों से क्लियर नहीं हो सका, सटीक अंक मैं भूल गयी),  LIC AAO -सभी असफलता. मैं बहुत रोई लेकिन पता नहीं कहाँ से मुझे प्रेरणा आयी और मैंने पूरे उत्साह से फिर से तैयारी करना शुरू कर दिया. मैं इसका श्रेय मेरे मंगेतर और मेरे परिवार को दूंगी. मेरे मंगेतर ने मुझे प्रेरित किया और मुझे यह महसूस कराया कि मैं यह कर सकती हूं. मैं उन लोगों को कुछ कहना चाहूंगी जो इस वर्ष अपना सपना पूरा नहीं कर सके,आप सभी अवांछित टिप्पणी देने वाले लोगों के विषय में परेशान नहीं होइये, आप केवल अपना काम करें. मैं भी इस शर्मिंदगी का सामना किया है जब लोगों ने मुझसे पूछा कि आप  किसी भी निजी क्षेत्र में शामिल क्यों नहीं हो जाते, आप घर पर हि क्यों बैठे हैं. ये प्रश्न सिर्फ हृदय भेदी हैं, लेकिन मैंने इन सभी को अनदेखा कर दिया. फिर मैंने bankersadda के बारे में सुना है, लेकिन मैंने इसे अधिक उपयोग नहीं किया,इतनी सारी असफलताओं के बाद वर्ष 2016 (अप्रैल माह)में, मैंने  bankersadda.com  और विशेष रूप से Adda247  का उपयोग करना शुरू किया . आज बिना किसी भी संदेह के बिना मैं कह सकती हूं कि आज मैएँ जो कुछ भी मैंने हासिल किया है वह केवल Adda247 के कारण है. आज की दुनिया में हर कोई मेहनती है, हर कोई अपना प्रयास देता है लेकिन bankersadda आपके प्रयासों को सही दिशा प्रदान करता है.


 परीक्षाएं जो मैंने सत्र 2016-17 में दीं .
UIIC AO(फ़ैल)
SBI PO-( prelims क्लियर नहीं कर पायी)
IBPS PO-(prelims क्लियर, mains-58.75(कट-ऑफ 52.5 जनरल) सिर्फ 1 अंक से अंग्रेजी की अनुभागीय कटऑफ क्लियर नहीं कर सकी)
IBPS RRB PO-( prelims-क्लियर, mains-105(क्लियर), अंतिम कट-ऑफ में 2 अंकों से चूक गयी) 
IBPS RRB ASSISTANT-Prelims क्लियर, mains नहीं दिया
IBPS CLERK-चयनित
RBI ASSISTANT-Prelims क्लियर, mains-100 (कट-ऑफ 107.25)
IPPB-Prelims क्लियर, mains (परिणाम की प्रतीक्षा है)
   कार्यनीति के विषय में मैं केवल यह कह सकती हूं कि दूसरों की कार्यनीति  का पालन न करें, बस अपनी बनाये और स्व-आकलन ही सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है.

मेरी कार्यनीति -

Quant-इस भाग के लिए मैंने दो पुस्तकों को हल किया- आर.एस. अग्रवाल / फास्टट्रैक अरिथ्मटिक और दूसरी सर्वेश कुमार (चयनित विषयों के लिए). इसके बाद मैंने दैनिक आधार पर रोज़ाना adda247 की दैनिक क्विज़ का अभ्यास किया और दोहराव से भी किया.

English-यह मेरा सबसे कमजोर भाग था इसलिए मैं आपको और अधिक विवरण नहीं दे सकती. मेरा उद्देश्य सिर्फ कटऑफ क्लियर करना था. मैंने हमेशा grammar का प्रयास करने की कोशिश की क्योंकि इसमें कम समय लगता था और सटीकता भी अधिक होती है. लेकिन नया पैटर्न थोड़ा मुश्किल है.

Logical-आप कह सकते है कि यह भाग मेरा मजबूत भाग है, लेकिन Ibps द्वारा अपनाए गये नए पैटर्न ने मुझे गलत साबित कर दिया. मैं बस यह कह सकती हूं कि इसके अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है .... आप जितना अभ्यास कर सकते हैं, कीजिये. दैनिक आधार पर पजल सुलझाने का प्रयास करें. मैंने परीक्षा से पहले adda 247 की क्विज हल करी थी, मैंने परीक्षा से एक महीने पहले मेने मोक टेस्ट दिए. मोक टेस्ट  में आपको पजल और अन्य प्रश्नों के विभिन्न प्रकार प्राप्त होते हैं. केवल मोचक टेस्ट ही न दें, केवल हल करने की तुलना में विश्लेषण करना अधिक महत्वपूर्ण है. मेरी यात्रा यहाँ समाप्त नहीं होती ... PO बनना मेरा लक्ष्य है और यदि भगवान की कृपा मेरे साथ रही तो मैं इसे प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करूँगी.


मेरी राय यह है कि अध्ययन के घंटे अधिक मायने नहीं रखते .... उत्पादक अध्ययन करें और अपने कमजोर बिन्दुओं  पर अधिक ध्यान दें जैसा कि आप देख सकते है कि केवल एक विषय के कारण मैं इस वर्ष Ibps po को पास नहीं कर पाया इसलिए ऐसी गलतियाँ मत कीजिये और बाकी आपकी किस्मत है और आपको इस पर विश्वास रखना होगा.


Share your IBPS, NIACL AO and RBI Assistant Success story at contact@bankersadda.com





CRACK SBI PO 2017



More than 250 Candidates were selected in SBI PO 2016 from Career Power Classroom Programs.


9 out of every 10 candidates selected in SBI PO last year opted for Adda247 Online Test Series.

No comments:

Post a Comment