09/09/2015

RRB के लिए विशेष: हिंदी क्विज (त्रुटिचयन+शब्द चयन)

निर्देश (1-5): नीचे दिया गया हरेक वाक्य चार भागों में बांटा गया है जिन्हें (1), (2), (3) और (4) क्रमांक दिए गए हैं। आपको यह देखना है कि वाक्य के किसी भाग में व्याकरण, भाषा, वर्तनी, शब्दों के गलत प्रयोग या इसी तरह की कोई त्रुटि तो नहीं है। त्रुटि अगर होगी तो वाक्य के किसी एक भाग में ही होगी। उस भाग का क्रमांक ही उत्तर है। अगर वाक्य त्रुटिरहित है तो उत्तर (5) अर्थात् ‘त्रुटिरहित’ दीजिए।

1.भाषा वाक्यों से (1)/बनती है, वाक्य शब्दों से (2)/बनते हैं और शब्द मूल (3)/धूनियों से बनते हैं। (4)/त्रुटिरहित (5) 

2.मुझे विश्वास है कि पाठक प्रस्तुत (1)/व्याकरण से लाभान्वित होंगे और उन्हें (2)/हिन्दी भाषा की शुद्ध रसना करने (3)/में सहायता प्राप्त होगी। (4)/त्रुटिरहित (5)
3.राजेन्द्र बाबू सरल जीवन और (1)/ऊंचे विचार के जागते-जीते (2)/उदाहरण थे और आज भी (3)/देश को उन पर गर्व है। (4)/त्रुटिरहित (5)

4.सर्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में (1)/बढ़ती हुई अनर्जक (2)/आस्तियों की मात्रा (3)/चिंता का विषय है। (4)/त्रुटिरहित (5) 

5.स्वाध्याय मानव जीवन (1)/का वह मूल मंत्र है जिससे (2)/व्यक्ति का बहुमुखी (3)/विकास होता है (4)/त्रुटिरहित (5)

निर्देश (6-10):निम्नलिखित पांच में से चार समानार्थी शब्द हैं। जिस क्रमांक में इनसे भिन्न शब्द दिया गया है, वही आपका उत्तर है।
6.(1)स्तेन
(2)खनक
(3)धूसर
(4)साहसिक
(5)तस्कर

7.(1)छद्म
(2)तट
(3)तीर
(4)कूल
(5)रोध

8.(1)गेह
(2)निकेतन
(3)निलय
(4)आलय
(5)नचक

9.(1)मसृण
(2)अरूक्ष
(3)नरम
(4)परूष
(5)मृदु

10.(1)किस्सा
(2)शोणित
(3)गाथा
(4)कथा
(5)वार्ता

1.4
2.5
3.2
4.1
5.5
6.3
7.1
8.5
9.4
10.2

No comments:

Post a Comment