12/08/2015

RRB के लिए हिंदी क्विज (गद्यांश/रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन)

निर्देश(1-10): नीचे दिए गए गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए और उस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिए। कुछ शब्दों को मोटे अक्षरों में मुद्रित किया गया है, जिससे आपको कुछ प्रश्नों के उत्तर देने में सहायता मिलेगी। दिए गए विकल्पों में से सबसे उपयुक्त का चयन कीजिए।

इस संसार की यही रीति है। सत्यवादी मारा जाता हैँ। आज से सहस्त्रों वर्ष पूर्व ग्रीस देश में एक दार्शनिक रहा करता था। उसका नाम सुकरात था। उसकी बातें सीधी-सच्ची पर तीखी होती थी। समाज उन्हें सह नहीं सका और उसे कानूनी आज्ञा का पालन करते हुए विष का प्याला पीना पड़ा। इसी प्रकार तत्कालीन शासन-सत्ता तथा सामाजिक और धार्मिक दुराचारों के विरुद्ध आवाज उठाने पर ईसा की सूली पर चढ़ना पड़ा। सलीब पर से ईसा का यह आर्तनाद आज भी गूँज रहा है -हे प्रभु, है पिता, तुम हमेँ क्यों भूल गए हो? साम्प्रदायिक विष को शांत करने और लोगों में साम्प्रदायिक सद्भावना फैलाने के लिए गाँधीजी अपने जीवन की बाजी लगाकर एक स्थान से दूसरे स्थान घूमते फिरे, अन्त में उन्हें गोली का शिकार होना पड़ा|

इन दृष्टान्तों को पुनरावृत्ति अभी हाल ही में अमरीका में हुई है। वहाँ के काले लोगों को अनेक रंग और जाति के दुर्व्यवहारों से मुक्ति दिलाकर समाज में समुचित स्थान दिलाने को  डॉ. किंग ने अहिंसक आन्दोलन खड़ा किया था। उन्होंने चाहा कि अमरीका के गोरे लोगों में हृदय परिवर्तन हो और वे नीग्रो अमेरिकनों को  नौकरी में और सामाजिक प्रतिष्ठा में वही स्थान पाने दें जो श्वेत अमेरिकनों को मिलता है, लेकिन उसकी भी निर्भीक  सच्चाई बरतने का मूल्य अपने प्राण देकर चुकाना पड़ा। आज संसार के सामने वही पुराना प्रश्न फिर खड़ा हो गया है। क्या दुनिया में  सच कहने वालों का और इन्साफ माँगने वालो का इसी प्रकार अन्त होता रहेगा?  क्या आपसी विद्वेष को समाप्त करने की सम्भावना, इस दुनिया में सबको पसन्द नहीं हो सकेगी, जरा सोचिए, यदि इन प्रश्नों का उत्तर नकारात्मक हुआ तो मनुष्य जति का भविष्य कितना निराशाजनक होगा?

1.ग्रीस देश के एक दार्शनिक का नाम था-
(1) अरस्तु
(2) सुकान्त
(3) प्लेटो
(4) वाल्टेयर
(5) इनमें से कोई नहीं

2.गाँधीजी को गोली का शिकार होना पड़ा, क्योंकि-
(1)धार्मिक दुराचारों के विरुद्ध आवाज उठाने के लिए
(2)स्राम्प्रदायिक विष शांत करने एंव साम्प्रदायिक सद्भावना फैलने के कारण
(3)अहिंसक आन्दोलन चलाने के कारण
(4)काले लोगों की सामाजिक प्रतिष्ठा दिलाने के कारण
(5)इनमें से कोई नहीं

3.डॉ. किंग की प्राणों का मूल्य किसलिए चुकाना पड़ा?
(1) निर्भीक सच्चाई बरतने का मूल्य
(2) साम्प्रदायिक विष फैलाने के लिए
(3) रंगभेद का वातावरण तैयार करने के लिए
(4) सामाजिक न्याय दिलाने के प्रयासों के लिए
(5) इनमें से कोई नहीं

4.सुकरात को विष का प्याला क्यों पीना पड़ा?
(1) वे खरी-खोटी कहते थे
(2) वे जाति-पांति का भेदभाव करते थे
(3) उनकी सीधी सच्ची  एवं तीखी बातें समाज सह नही सका
(4) वे लड़ाकू प्रकर्ति के थे
(5) इनमें से कोई नहीं

5.ईसा का आर्तनाद कहाँ से गूँज रहा है?
(1) किलों पर से
(2) सूली पऱ से
(3) सलीब पर से
(4) चोटी पर से 
(5) इनमें से कोई नहीं

निर्देश: निम्नलिखित में से कौन-सा शब्द/वाक्यांश गाधांश में मोटे अक्षरों में लिखे गए शब्द/वाक्यांश का समानार्थी है?

6.रीति
(1) रिक्ति
(2) परंपरा
(3) रत्न
(4) रसाल
(5) इनमें से कोई नहीं

7.दुराचार
(1) कठिन रहन सहन
(2) सद्विचार 
(3) व्यर्थ विचार
(4) गलत आचार-विचार
(5) इनमें से कोई नहीं

8.सुकरात को विष का प्याला पीना पड़ा।
(1)सीधी-सच्ची पर तीखी बातों के कारण
(2)चीरी के आरोप में
(3)हत्या के आरोप ये
(4)लोगों को बहकाने के आरोप में
(5)इनमें से कोई नहीं

9.डॉ. किंग ने अहिंसक आन्दोलन चलाया
(1)गोरे लोगों के हदय परिवर्तन के लिए
(2)अश्वेत लोगों की स्वतन्त्रता के लिए
(3)आर्थिक सहभागिता के लिए
(4)सत्ता परिवर्तन के लिए
(5)इनमें से कोई नहीं

10.मुक्ति
(1) मणि
(2) मुक्ता
(3) स्वतन्त्रता
(4) मेल मिलाप
(5) इनमें से कोई नहीं

उत्तर
1.2
2.2
3.3
4.4
5.3
6.2
7.4
8.1
9.1
10.3

No comments:

Post a Comment